निलंबित मेडिकल छात्रों की बहाली का रास्ता साफ

kannauj Updated Tue, 07 Nov 2017 12:24 AM IST
Clear the path of restoration of suspended medical students
प्राचार्य कक्ष में अमर उजाला से वार्ता करते प्राचार्य डा. डीएस मारतोलिया। - फोटो : अमर उजाला
तिर्वा। राजकीय मेडिकल कालेज में रैगिंग के आरोपों में निलंबित किए गए सीनियर 12 छात्रों की जल्द बहाली का रास्ता दिख रहा है। विभागीय जांच समिति ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट प्राचार्य डा. डीएस मारतोलिया को सौंप दी है। मंगलवार को एंटी रैगिंग कमेटी अपनी रिपोर्ट प्राचार्य को सौपेंगी। इसके बाद निलंबित छात्रों की बहाली पर मेडिकल कालेज प्रशासन निर्णय लेगा। उधर, कोतवाली में दर्ज तोेड़फोड़ व मारपीट के मुकदमे में प्राचार्य ने आरोपी छात्रों के अभिभावकाें को पत्र भेजा है। इसमें मामले में घायल हुए चार सुरक्षा गार्डों से समझौते की पेशकश की गई है।
 पिछले सप्ताह के सोमवार की रात को मेडिकल कालेज कैंपस में हुई रैगिंग मारपीट, पथराव के मामले में प्राचार्य ने पैरा-2016 के 12 छात्रों को मेडिकल कालेज से निलंबित कर दिया था। अग्रिम आदेशों तक उनका छात्रावास से निष्कासन कर दिया गया था। इसके अलावा उनके मेडिकल कालेज कैंपस में आने व क्लास अटेेंड करने पर भी रोक लगा दी गई थी। निलंबित किए गए छात्र हरदीप सिंह, संतोष कुमार, मोहम्मद सलमान, मोहम्मद अमान सिद्दीकी, नितिन कुमार सिंह, देव्यांश कुमार सिंह, हर्षित, दिलशाद हुसैन, विवेक प्रताप सिंह, सिद्वांत सेठी, देवाशीष सिंह, प्रवीण कुमार वर्मा पर लगे आरोपों के खिलाफ विभागीय जांच के लिए ईएनटी के विभागध्यक्ष डा. संदीप कौशिक के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम गठित की गई है।

इस टीम को तीन दिनो में अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया था। इसके अलावा 11 सदस्यीय एंटी रैगिंग कमेटी को भी जांच के लिए नियुक्त किया गया था। विभागीय जांच समिति के अध्यक्ष डा. कौशिक ने सोमवार की दोपहर अपनी रिपोर्ट प्राचार्य को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में पीड़ित पैरा-2017 के छात्रों द्वारा किसी तरह की कानूनी कार्रवाई आरोपी सीनियर छात्रों के खिलाफ न किए जाने का भी उल्लेख है। रिपोर्ट मिलने के बाद प्राचार्य डा. मारतोलिया ने अमर उजाला को बताया कि जांच समिति की रिपोर्ट उन्हें मिल गई है। एंटी रैगिंग कमेटी की रिपोर्ट मंगलवार को मिलेगी।

दोनो रिपोर्ट मिलने के बाद छात्रों के हित को देखते हुए कार्रवाई होगी। बताया कि मेडिकल कालेज प्रशासन किसी छात्र का भविष्य बर्बाद नहीं करना चाहता है। इसी वजह से आरोपी छात्रों के अभिभावकाें को पुन: पत्र भेजा गया है। अनुरोध किया गया है कि कोतवाली में दर्ज एफआईआर के मामले में घायल सुरक्षा गार्डों से मिलकर सुलह का प्रयास करें। इससे दर्ज मुकदमें को समाप्त कराया जा सके। बताया कि सभी प्रकरणाें के मामले में बुधवार को फैसला कर दिया जाएगा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bihar

बिहार: स्कूल बिल्डिंग में घुसी गाड़ी, 9 छात्रों की मौत, 24 घायल

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से एक बड़ी दुर्घटना सामने आई है।

24 फरवरी 2018

Related Videos

VIDEO: गाड़ी चलाना सीखने वाले मानव बम से कम नहीं!

भीड़-भाड़ वाले इलाके और सड़क पर कार या मोटरसाइकल चलाना सीखने वाले लोग कितने खतरनाक हो सकते हैं उसका सबसे बड़ा उदाहरण हम आपको दिखाने वाले हैं। कन्नौज में एक शख्स ने कार सीखते सीखते पेट्रोल पंप में ही कार घुसा दी और उसके बाद क्या हुआ आप खुद देखिए।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen