सत्र शुरू पर राजकीय महाविद्यालय में ताला

Kannauj Updated Thu, 12 Jul 2012 12:00 PM IST
जलालाबाद (कन्नौज)। सपा के सदर विधायक के पैतृक गांव के निकट अनौगी में बना डा. भीमराव अंबेडकर राजकीय महाविद्यालय अव्यवस्थाओं का शिकार है। शैक्षिक सत्र शुरू हो चुका है, लेकिन इस विद्यालय में अभी भी ताला लटक रहा है। रोजाना सैकड़ों छात्र-छात्राएं दाखिले की जानकारी के लिए पहुंचते हैं, लेकिन यहां ताला बंद मिलता है।
बुधवार को भी डा.भीमराव अंबेडकर राजकीय महाविद्यालय में तालाबंदी रही। दोपहर करीब ग्यारह बजे बीए द्वितीय वर्ष के छात्र अनुज कुमार गौतम, भीम सिंह , बीए द्वितीय वर्ष के छात्र गोविंद कुमार समेत तमाम छात्र चक्कर लगाते मिले। इन छात्रों का कहना है कि कई दिनों से लगातार यहां आते हैं, लेकिन विद्यालय में कोई मिल ही नहीं रहा है। कुछ छात्रों को मार्कशीट लेनी है तो कुछ को दाखिले की प्रक्रिया पूरी करनी है। कालेज की व्यवस्था का हाल खराब होने से वे परेशान हैं।
छात्र गोविंद, बबलू और पवन ने बताया कि इंटर पास करने के बाद इस विद्यालय में दाखिला लेना चाहते हैं। एडमीशन संबंधी जानकारी करने के लिए आए तो कालेज गेट पर ताला बंद मिला। नोटिस बोर्ड पर भी किसी तरह की कोई सूचना दर्ज नहीं है। कालेज गेट पर कोई यह भी बताने वाला नहीं है कि यह कब खुलेगा और कब से एडमीशन चालू होंगे। छात्रों का कहना है कि पूरे जिले में दाखिले की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, लेकिन अनौगी के इस कालेज में पता नहीं क्या हो रहा है। छात्रों का कहना है कि मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की जाएगी। मौके पर अधिकारियों को भेजकर जांच कराने व कालेज खुलवाने की मांग की जाएगी। ताकि छात्रों का भविष्य चौपट न हो सके।
जलालाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख रजनीकांत यादव का कहना है कि विद्यालय में बगैर किसी सूचना के ताला बंद रहना शर्मनाक है। शिक्षक तत्काल सुधर जाएं। छात्र-छत्राओं के हित का ख्याल रखें। महविद्यालय खोलें और शिक्षा व्यवस्था सुचारू कराएं। चेतावनी देने के बावजूद शिक्षा और छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाले शिक्षक न माने तो इस मामले की शिकायत सीधे मुख्यमंत्री से करेंगे। दोषियों के खिलाफ विभागीय और कानूनी कार्रवाई तक कराएंगे।
पांडेयपुरवा निवासी अभिभावक श्याम बिहारी पांडेय, जलालाबाद निवासी अशोक तिवारी, प्रमोद शुक्ला, अरुण तिवारी, उमेश शर्मा, राजीव सक्सेना आदि का कहना है कि राजकीय महाविद्यालय राम भरोसे चल रहा है। जो जिला मुख्यमंत्री का निर्वाचन क्षेत्र रहा हो और जहां से मौजूदा समय में उनकी पत्नी सांसद हैं, वहां का राजकीय विद्यालय में ताला बंद रहना दुखद है। जिला प्रशासन को मामले में दखल देखकर तत्काल जांच करानी चाहिए कि आखिर कालेज बंद क्यों है। ताला बंद रहने की वजह की जानकारी भी जनता को दी जाए। यदि बगैर किसी कारण के कालेज बंद है तो दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। अभिभावकों का कहना है कि वे अपने बच्चों का क्षेत्र में खुले कालेज में दाखिला कराना चाहते हैं, लेकिन कई दिन से चक्कर लगाने के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला। अब मजबूरी में दूर के कालेजों में जाना पड़ेगा। वहीं कई स्कूलों में फार्म जमा होने की तिथि निकल जाने के कारण उनके बच्चों के सामने दूसरा कोई विकल्प ही नहीं बचा है।
जलालाबाद व आसपास क्षेत्र में यह एकलौता महाविद्यालय है। यहां बीए, बीएससी, बीकाम, एमए, एमएससी व एमकाम की कक्षाएं लगती हैं। करोड़ों रुपये की लागत खर्च करके आलीशान भवन बनवाया गया, लेकिन लापरवाही के कारण इसका लाभ छात्रों को नहीं मिल पा रहा है। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि भी इस ओर उदासीन रवैया अपनाए हैं, जिस कारण मनमानी करने वाले बेलगाम हैं।
अपर जिलाधिकारी रमेश चंद्र यादव का कहना है कि मामला गंभीर है। जांच कराई जाएगी कि आखिर ऐसा क्यों है। छात्रों का अहित नहीं होने दिया जाएगा। शिक्षा व्यवस्था सुधरवाई जाएगी। जितना स्टाफ तैनात है, उसकी नियमित उपस्थिति सुनिश्चित की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper