अधर्म के प्रतीक रावण का अंत

Kannauj Updated Thu, 25 Oct 2012 12:00 PM IST
छिबरामऊ (कन्नौज)। नगर में विजयदशमी का पर्व धूमधाम के साथ मनाया गया। श्रीरामलीला कमेटी के तत्वावधान में आयोजित रामलीला में राम रावण की सेना में सड़कों पर घमासान युद्ध हुआ। श्रीराम के हाथों रावण का अंत होते ही पूरा रामलीला मैदान श्रीराम के जयकारों तथा गोलों की बुलंद आवाज से गूंज उठा।
श्रीराम लीला कमेटी के संयोजन में गत 15 दिनों से चल रही रामलीला के अंतिम दिन बुधवार की दोपहर बाद तालग्राम तिराहे से रामलीला मैदान तक राम और रावण की सेना के बीच सड़कों पर घमासान युद्ध हुआ। नगर के मुख्य मार्ग पर चल रहे युद्ध को देखने भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान सबसे आगे व्यास पं.सुभाषचंद्र अग्निहोत्री रामचरित मानस का पाठ करते हुए चल रहे थे। उनके पीछे बैंडबाजों के साथ राम रावण सेना में युद्ध हो रहा था। साथ में चल रहे रथ पर भगवान शंकर के रूप में पंकज दुबे अपने पुत्र भगवान गणेश के रूप में ईशू त्रिपाठी के साथ विराजमान थे। सबसे पीछे चल रहे रथ पर रावण की भूमिका में रामसच्चे दीक्षित, माता सीता के स्वरूप में सजे शिवम मिश्रा के साथ विराजमान थे। सड़क पर हनुमान के रूप में राजीव मिश्रा अपनी वानर सेना के साथ रावण की सेना से युद्ध करते हुए चल रहे थे। इसमें राम स्वरूप में अन्नू पांडेय, लक्ष्मण रूप में शिवम दीक्षित, अहिरावण रूप में अजय दीक्षित, अंगद के रूप में नीरज पांडेय व सौरभ दीक्षित युद्ध करते हुए चल रहे थे।
देर शाम यह सभी विशुनगढ़ रोड स्थित रामलीला मैदान पहुंचे। वहां हजारों की संख्या में भीड़ राम रावण का युद्ध देखने आई थी। रामलीला मैदान में काफी देर तक चले घमासान युद्ध में आखिरकार बुराई पर अच्छाई की जीत हुई और फिर राम के वाण से अधर्म के प्रतीक रावण का अंत हो गया। रावण के धराशायी होते ही श्रीराम के जयकारों तथा रावण के पुतले में रखे गोलों की गूंज से पूरा मैदान गुंजायमान हो उठा।
इस मौके पर अध्यक्ष सत्येंद्र यादव जबरू, चंद्रहास कुशवाह, महावीरप्रसाद वैश्य, विनोद पांडेय, गंगेश्वरदयाल दीक्षित, गुलफाम सिंह राठौर, मनोज दुबे, अंकुर दीक्षित, डा.प्रदीप सिंह, वीरेंद्र गुप्ता ललू, श्यामू चौहान, अभिषेक शुक्ला, अश्वनी दीक्षित गोलू आदि ने मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम की आरती उतारी।
उधर रामलीला मैदान में सुरक्षा व्यवस्था की कमान सीओ रमेशकुमार भारतीय के नेतृत्व में प्रभारी कोतवाल मो.अहमद संभाले थे। स्टेटिक मजिस्ट्रेट के रूप में खंड शिक्षा अधिकारी सुनीलकुमार दुबे पूरे समय रामलीला मैदान में डटे रहे। नगरपालिका ने सफाई व्यवस्था के साथ पानी की बेहतर व्यवस्था की।
उधर मोहल्ला बजरिया में नन्हे मुन्ने बच्चों ने बुराई के प्रतीक रावण का पुतला बनाकर उसे फूंक कर जमकर जश्न मनाया।
विजय दशमी के पर्व पर मोहल्ला बजरिया में बुधवार की शाम सुमित वर्मा के नेतृत्व में जुटे बच्चों अंकित, शिवम, अभिषेक, चेतन, विकास, निखिल, गोलू, शिखर, चमन, राज व लल्ला आदि ने बुराई के प्रतीक रावण का रंग बिरंगा पुतला बनाया उसमें पटाखे लगाए और फिर जय श्रीराम के उद्घोष के साथ उसे आग के हवाले कर दिया। आग लगते ही पुुतले से तेज धमाके गूंजने लगे।
चपुन्ना प्रतिनिधि के अनुसार गांव में प्राचीन शिव मंदिर के पास मैदान में राम रावण का युद्ध हुआ। उसके बाद देर शाम अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में रावण का वध किया गया। रामलीला देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। इस दौरान गौरव, रवी, शिवकांत, आशू, रानू, रमाकांत व राजू शर्मा ने विभिन्न देव स्वरूपों की झांकियां सजाईं थी। इस दौरान मिंटू द्विवेदी, कमलेश शर्मा, सुनील तिवारी, संतोष तिवारी, आमोद, दिलीप, दीपू, बांकेलाल पाल, इसेंद्र, डा.राकेश, आशीष, पिंटू, राजवीर, बबलू, राहुल व विनोद कुमार आदि काफी लोग मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Rohtak

सीएम को भेजा पत्र

सीएम को भेजा पत्र

23 जनवरी 2018

Rohtak

एमटीएफसी

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper