चौहरा हत्याकांड: दो और अभियुक्त गिरफ्तार

Jhansi Updated Tue, 28 Jan 2014 05:50 AM IST
झांसी। नवाबाद थाना पुलिस ने चौहरा हत्याकांड के मुख्य आरोपी सत्यव्रत अड़जरिया समेत दो को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों से हत्या में प्रयुक्त रायफल भी बरामद कर ली है। इस मामले में अब तक चार अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो चुकी है।
नवाबाद क्षेत्रांतर्गत कानपुर हाईवे के पिछोर लिंक रोड पर बीते 19 जनवरी को कार से जा रहे गढ़कुंडार निवासी बृजेश तिवारी, उनकी पत्नी, पुत्र व भतीजे की हत्या के मामले में पुलिस ने 26 जनवरी को मुख्य आरोपी सत्यव्रत अड़जरिया व शानू उर्फ मयंक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने सत्यव्रत से हत्या में प्रयुक्त रायफल व पांच जिंदा कारतूस तथा शानू से 12 बोर के चार कारतूस तथा 315 बोर के पांच कारतूस बरामद किए।
पुलिस लाइन सभागार में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीपर्णा गांगुली ने मीडिया को बताया कि घटना के बाद उक्त दोनों आरोपी अहमदाबाद भाग गए थे। 26 जनवरी को दोनों ट्रेन से झांसी आए और ग्वालियर जाने वाले थे, तभी मुखबिर की सूचना पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। सत्यव्रत जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर में एलएलबी द्वितीय वर्ष व शानू इंजीनियरिंग का छात्र है। शेष बचे आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं। इस कांड के आरोपी हरीओम अड़जरिया व तेज सिंह को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है। हरीओम की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कार और 315 बोर की बंदूक बरुआसागर के जंगल से पुलिस बरामद कर चुकी है।
गौरतलब है कि हरीओम ने गिरफ्तारी के बाद पुलिस को दिए बयान में बताया था कि इस हत्याकांड को सत्यव्रत और शानू के साथ मिल कर उसने अंजाम दिया था। पुलिस इसके बाद इन दोनों की गिरफ्तारी के लिए जगह- जगह छापे मारने में जुटी थी।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018