चौहरा हत्याकांड का एक और अभियुक्त गिरफ्तार

Jhansi Updated Fri, 24 Jan 2014 05:51 AM IST
झांसी। कानपुर हाईवे के पिछोर लिंक रोड पर एक ही परिवार के चार सदस्यों की गोलियों से भूनकर की गई हत्या के मामले में नामजद अभियुक्तों में से एक और को पुलिस ने बृहस्पतिवार को उसके निवाड़ी स्थित घर से दबोच लिया। इस चौहरे हत्याकांड में अब तक दो अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो चुकी है। उधर, एसटीएफ ने भी घटना के वक्त उस क्षेत्र में सक्रिय मोबाइल के काल रिकार्ड खंगालने शुरू कर दिए हैं।
गौरतलब है कि 19 जनवरी की शाम लाल रंग की कार में सवार हमलावरों ने पिछोर लिंक रोड पर कार संख्या एमपी 36 सी- 1177 में सवार टीकमगढ़ के सेंधरी थानांतर्गत गांव गढ़ कुंडार निवासी बृजेश कुमार तिवारी, उनकी सरपंच पत्नी बबली, पुत्र सुनीत व भतीजे मयंक को गोलियों से भून कर मौत के घाट उतार दिया था। इस हत्याकांड में मृतक बृजेश के भतीजे नीरज तिवारी ने ओमप्रकाश अड़जरिया, हरीओम अड़जरिया, ओमकार अड़जरिया पुत्रगण रामस्वरूप अड़जरिया, सत्यव्रत अड़जरिया पुत्र ओमप्रकाश अड़जरिया, नाजिर खां पुत्र रसूल खां, तौफीक खां पुत्र रुस्तम खां, तेज सिंह पुत्र श्रीपत पाल, पप्पू पुत्र सरू खंगार व तीन अन्य लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
एक साथ चार लोगों को सरेआम मौत के घाट उतारने की घटना की तफ्तीश में जुटी पुलिस को बृहस्पतिवार को तब उल्लेखनीय सफलता हाथ लगी, जब सुरागरसी पर निवाड़ी स्थित घर में छिपा हत्यारोपी हरीओम अड़जरिया उसकी गिरफ्त में आगया। गौरतलब है कि इससे पहले इस कांड का एक आरोपी तेज सिंह पुत्र श्रीपत पाल को पुलिस ने हत्या के दूसरे दिन रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया था।
डीआईजी विजय कुमार गर्ग व एसएसपी श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि गिरफ्तार हरीओम अड़जरिया ने पूछताछ में वारदात को अंजाम देना कबूल किया है। डीआईजी ने बताया कि वारदात के समय कार में हरीओम, सत्यव्रत समेत तीन लोग सवार थे। उन्होंने बताया कि हरीओम से पूछताछ में कई महत्वपूर्ण सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई पुलिस टीमें संभावित स्थानों के लिए रवाना कर दी र्गइं हैं। उन्होंने कहा कि मुख्य अभियुक्त भी जल्द ही सींखचे के पीछे होगा।


‘ताऊ आज मौका है निपटा दो’
झांसी। कानपुर हाईवे के पिछोर लिंक रोड पर एक ही परिवार के चार सदस्यों की गोलियों से भूनकर की गई हत्या भले ही पुरानी रंजिश का परिणाम रहा, लेकिन उन्हें मौत के घाट उतारने का तानाबाना फौरी तौर पर ही बुना गया। इसका खुलासा बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किए गए हत्यारोपियों में से एक हरीओम अड़जरिया ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में किया है।
उसने बताया कि 18 जनवरी को वह अपने भतीजे सत्यव्रत अड़जरिया व एक अन्य साथी के साथ कोतवाली थानांतर्गत एक आश्रम में आया था। देर शाम वह घर जाने के लिए कार में सवार हुए। कार स्टार्ट करते समय चाबी टूट जाने के कारण कार स्टार्ट नहीं हुई, जिसके चलते वह रात को आश्रम में ही सो गए। 19 जनवरी की मध्याह्न कार की चाबी बनवाने के बाद वह कार से निवाड़ी के लिए चल पड़े। रास्ते में बरुआसागर की संकरी पुलिया के पास सत्यव्रत की नजर सामने से आ रही कार पर पड़ी। उसने कार में बृजेश तिवारी व उसकी पत्नी को बैठे देखकर कहा कि ताऊ आज मौका है, निपटा दो। उसकी बात को सुनकर उसने तुरंत हामी भरते हुए पीछा करने को कह दिया। इसके बाद सत्यव्रत ने कार पीछे लगा दी, जैसे ही बृजेश पिछोर लिंक रोड पर आया, मौका देख ओवर टेक कर कार रुकवाई और फायरिंग करके चारों को मौत के घाट उतार दिया।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper