सही समय पर करें फसलों में दवा का छिड़काव

Jhansi Updated Sun, 23 Dec 2012 05:31 AM IST
झांसी। उप निदेशक कृषि एच एन सिंह ने कहा कि फसलों में होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए यदि सही समय पर दवाओं का छिड़काव किया जाए तो फसल को खराब होने से बचाया जा सकता है। रासायनिक खाद के अधिक प्रयोग से भूमि के मित्र कीट मर जाते हैं, जिससे मिट्टी की उर्वरा शक्ति कम होने लगती है। वह जनपद स्तरीय किसान महोत्सव को संबोधित कर रहे थे।
दीनदयाल सभागार में महोत्सव के दूसरे दिन शनिवार को आयोजित किसान गोष्ठी एवं कृषक वैज्ञानिक संवाद कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उप निदेशक ने कृषि विभाग में रासायनिक दवाओं की उपलब्धता व समय पर छिड़काव की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यदि किसान रोटोवेटर लेना चाहें तो उस पर तीस हजार रुपये अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने अन्य कृषि यंत्रों पर भी अनुदान की जानकारी दी। ग्रासलैंड के वैज्ञानिक डा. आर के शर्मा ने खरीफ एवं रबी में उन्नतशील चारा उत्पादन के तरीके बताए। इफको के क्षेत्रीय प्रबंधक एम एल गर्ग ने कहा कि जो किसान डीएपी या फास्फेटिक यूरिया की सही मात्रा का इस्तेमाल नहीं कर सके हैं, वह इफको के जल विलेय उर्वरक यूरिया फास्फेट का खड़ी फसल पर छिड़काव कर सकते हैं। फसल शोध केंद्र मऊरानीपुर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. पी के सोनी ने किसानों के प्रश्नों का जवाब देते हुए दलहनी फसलों में लगने वाले उकठा रोग के निदान के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि चने के साथ अलसी बोने से उकठा नहीं होगा। साथ ही खरीफ में ज्वार की उन्नतशील प्रजातियों की बुआई करने को कहा। कृषि विशेषज्ञ लक्ष्मन सिंह ने गेहूं में खरपतवार नियंत्रण की जानकारी दी। इस मौके पर किसानों को उर्वरक के पैकेट भेंट किए गए। संचालन अनिल कुमार सोलंकी ने किया।

72 किसानों का सम्मान आज
झांसी। रविवार को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस पर अधिक उत्पादन प्राप्त करने वाले जिले के 72 किसानों को सम्मानित किया जाएगा। इसमें 32 किसान जिलास्तर पर क्राप कटिंग के दौरान चुने गए थे, जबकि प्रत्येक ब्लाक से पांच- पांच किसान (कुल 40) किसान चयनित किए गए थे। वहीं, जनपद स्तर पर चुने गए बड़ागांव ब्लाक के ग्राम ताल रमन्ना निवासी रामस्वरूप राय व ग्राम लेवा निवासी योगेंद्र सिंह को बेहतर सोयाबीन उगाने के लिए तथा माेंठ ब्लाक के ग्राम बड़ोखरी निवासी विश्वनाथ सिंह को मटर की फसल के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए किसान लखनऊ रवाना हो गए हैं। बाकी किसानों को दीनदयाल सभागार में चल रहे किसान महोत्सव में सम्मानित किया जाएगा।

विविधीकरण ने बदल दी खेती की तस्वीर
झांसी। प्रगतिशील किसान गुरसरांय ब्लाक के ग्राम पसौरा निवासी रघुनंदन यादव ने आत्मा परियोजना के अंतर्गत खेती में विविधीकरण को अपनाया तो उनकी दशा ही बदल गई। उन्होंने बताया कि उनके पास 12 एकड़ जमीन है और पानी का भी साधन नहीं है। पूर्व में बहुत कम उत्पादन होता था, लेकिन बाद में उन्हें कृषि विभाग की ‘आत्मा’ परियोजना का पता चला तो वह उससे जुड़ गए। इसके तहत खेती में जैविक खाद का प्रयोग और विविधीकरण (खेती के साथ पशुपालन) कर खेती का उत्पादन काफी ज्यादा कर लिया और जहां पहले पूरी फसल एक लाख रुपये की भी नहीं होती थी, अब पांच लाख रुपये तक कमा रहे हैं। वह कीटनाशक का प्रयोग नहीं करते हैं, बल्कि उसके स्थान पर अमृत जल (गोमूत्र, गोबर, गुड़ व पानी का मिश्रण) तथा मट्ठासे बनी मटका खाद का प्रयोग करते हैं। वर्तमान में वह आत्मा के तहत ब्लाक में संचालित किसान विद्यालय के संचालक हैं और किसानों को जैविक खेती, वर्मा कंपोस्ट, केंचुआ खाद का प्रशिक्षण दे रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper