किसानों ने किया गेहूं व जौ पर भरोसा

Jhansi Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
झांसी। इस बार किसानोें ने गेहूं और जौ पर ज्यादा भरोसा जताया है। तभी तो दोनों फसलों की बुआई लक्ष्य से काफी आगे निकल गई है। राई, चना व मटर भी पर्याप्त मात्रा में बोई गई है, जबकि मक्का व तोरिया किसानोें को पसंद नहीं आई।
रबी आच्छादन के तहत वर्ष 2012-13 के लिए जिले में 17680 हेक्टेयर में गेहूं की बुआई का लक्ष्य दिया गया। इसके सापेक्ष अब तक 17871 हेक्टेयर में बुआई हो चुकी है। वहीं, जौ के लिए निर्धारित 6075 हेक्टेयर लक्ष्य के सापेक्ष 6815 हेक्टेयर में बुआई हो गई है। मक्का 302 हेक्टेयर में बोया जाना था, लेकिन बुआई न के बराबर हुई। राई की बुआई 14669 हेक्टेयर के सापेक्ष 15915 हेक्टेयर में हुई, जबकि तोरिया 1077 में से मात्र 213 हेक्टेयर में बोई गई। अलसी 2132 की तुलना में 2190 हेक्टेयर व चना निर्धारित लक्ष्य 46587 हेक्टेयर के स्थान पर 47870 हेक्टेयर में बोया गया। इसी तरह मटर 41470 के सापेक्ष 41560 हेक्टेयर में बोई गई। मसूर 36731 के स्थान पर 37190 हेक्टेयर में बोई गई है। अभी छिटपुट स्थानों पर बुआई चल रही है, ऐसे में बुआई का रकबा और बढ़ जाएगा।


लक्ष्य पूर्ति हेक्टेयर में

फसल 2011-12 2012-13 (हे.)
गेहूं 178532 178710
जौ 5874 6815
मक्का 60 शून्य
राई 14653 15915
तोरिया शून्य 213
अलसी 2132 2190
चना 60059 47870
मटर 40963 41560
मसूर 35901 37190
कुल 324174 330463

Spotlight

Most Read

Kaushambi

फिल्म पद्मावत के विरोध में क्षत्रिय महासभा ने भरी हुंकार

प्रदर्शन कर मंझनपुर में निर्माता संजय लीला भंसाली का फूंका पुतला, डीएम को सौंपा ज्ञापन

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper