न नियमित सफाई और न उठाया जा रहा कचरा

Jhansi Updated Mon, 19 Nov 2012 12:00 PM IST
झांसी। मोहर्रम को लेकर जहां शहर के मुस्लिम मुहल्लों में जगह- जगह मजलिसों में नोहाख्वानी हो रही है व शिया समुदाय के लोग ताजिया और बुर्राकों की सजावट में लगे हैं, वहीं नगर निगम की लचर व्यवस्था के चलते लोग सफाई अव्यवस्था से जूझ रहे हैं। अतिरिक्त इंतजाम नहीं किए जाने से उनमें रोष है। हालात यह है कि न तो नियमित सफाई हो रही है और न कचरा उठाया जा रहा है। ऐसे कई क्षेत्र हैं, जहां ताजिया सजाने का कार्य शुरू हो गया है या फिर होने वाला है, लेकिन गंदगी उसमें खलल बन रही है।
भांडेरी गेट तिराहा पर पंचायती इमामबाड़े में हर साल ताजिया (मस्जिद) सजाया जाता है। इस बार भी यहां तैयारियां चल रही हैं, लेकिन इमामबाड़े के सामने लगे हैंडपंप का हत्था ही गायब है। ऐसे में आसपास वालों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। नाले के किनारे कचरा डंपिंग स्थल पर कचरे का ढेर लगा है। कमोबेश यही हालात मेवातीपुरा के हैं। यहां वजीर चौधरी का ताजिया रखा जाता है, लेकिन आसपास गंदगी होने से लोग परेशान हैं। मुहल्ले वालों ने बताया कि लंबे समय से नालियों की सफाई नहीं होने के कारण कचरा जमा है, जिससे पानी सड़क पर फैलता है। मजार के पास भी झाड़ू नहीं लग रही है। इतवारीगंज से लेकर सरांय और राई का ताजिया तक ज्यादातर लोग गंदगी से परेशान हैं। सरांय में जामा मस्जिद के पीछे नाली का जाल टूटा पड़ा है। यहां आसपास रफीक का ताजिया, जहूर चच्चा का ताजिया, इरशाद का ताजिया और नौशाद की बुर्राक सजाई जाती है। यहां लंगर भी बांटा जाता है, जिसमें भारी भीड़ जुटती है, पर सफाई व्यवस्था को लेकर अतिरिक्त इंतजाम नहीं किए गए हैं। मेवातीपुरा में छोटे खां कोतवाल की बुर्राक रखी जाती है, लेकिन नालियां का पानी दिन भर सड़क पर बहते रहने से त्योहार के महीने में लोगों का बुरा हाल है। इसी के आगे वहीद पहलवान के यहां मक्का मदीना की मीनार सजाई जाती है, पर यहां भी नालियां कचरे से ओवर फ्लो होकर सड़क पर बहती हैं। राई का ताजिया में सजने वाले ताजिया के बगल में लगा नल का स्टैंड पोस्ट गायब है। पत्थर के सहारे टिके नल के पाइप को सही कराने के लिए मुहल्लेवाले कई बार अधिकारियों से फरियाद कर चुके हैं, लेकिन समस्या हल नहीं हुई। ताजिया के पिछवाड़े नरिया बाजार मेन रोड पर नाली का पानी दुकानों के बाहर भरा है, जिससे लोगों को उसी गंदगी से होकर बाजार आना- जाना पड़ रहा है। आसपास वालों ने बताया कि सफाई के लिए नगर निगम के अधिकारियों से कहत हैं, लेकिन कोई फायदा नहीं होता।



सुबह घर से बाहर निकलना दूभर हो जाता है, क्योंकि नाली का पूरा पानी दरवाजे के सामने भर जाता है। घर के सामने ताजिया सजता है, लेकिन सफाई का कोई इंतजाम नहीं है। छोटे- छोटे बच्चे नाली के गंदे पानी में गिर पड़ते हैं।
- संगीता कुशवाहा, इतवारीगंज

झाडू़ तो किसी तरह लग जाती है, लेकिन नालियां नियमित साफ नहीं होती हैं। इससे पूरा पानी उनके दरवाजे पर भरा रहता है। त्योहार के महीने में ही अगर कायदे से सफाई नहीं हुई तो नगर निगम की सुविधा का क्या फायदा।
- यास्मीन, मेवातीपुरा

नालियां जाम रहने से पानी नहीं निकल पाता है। सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है। नगर निगम के अधिकारी आम जनता की परेशानियों की ओर ध्यान नहीं देते हैं। साल भर में त्योहार आता है, लेकिन सफाई व्यवस्था के नाम पर कुछ नहीं है।
- रहीम, मेवातीपुरा

नाली का जाल टूटा पड़ा है। कोतवाली में हुई पीस कमेटी की बैैठक में यह मुद्दा उठाया गया था। करबला का भ्रमण करने निकले अधिकारियों को भी समस्या बताई गई थी। चौराहे पर लगा हैंडपंप भी काम नहीं कर रहा है।
- अमजद मंसूरी, सरांय

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper