टेंडर निरस्त, सात करोड़ के विकास कार्य अटके

Jhansi Updated Sun, 04 Nov 2012 12:00 PM IST
झांसी। नगर निगम कार्यकारिणी ने विभिन्न वार्डों में सात करोड़ रुपये से होने वाले विकास कार्यों के टेंडर निरस्त कर दिए। साथ ही बजट जैसे अन्य महत्वपूर्ण प्रस्ताव भी पारित नहीं हो सके। जबकि, सफाई कर्मियों का वेतन और ठेेकेदारों का भुगतान पार्षदों से संस्तुत कराने का प्रस्ताव पास कर दिया गया। सफाई और स्ट्रीट लाइट व्यवस्था में सुधार को लेकर शोरशराबा हुआ।
शनिवार को नगर निगम सभाकक्ष में महापौर श्रीमती किरण वर्मा की अध्यक्षता में कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गई। नवनिर्वाचित उपसभापति और कार्यकारिणी सदस्यों का स्वागत व परिचय किए बिना ही बैठक की कार्यवाही शुरू करने का सदस्यों ने विरोध किया, जिस पर अधिकारियों ने गलती स्वीकारी। जैसे ही एजेंडे का प्रस्ताव पढ़ने की बारी आई कार्यकारिणी सदस्यों ने पिछले दिनों विभिन्न वार्डों में विकास कार्यों के लिए निकाले गए सात करोड़ रुपये टेंडर पर चरचा शुरू कर दी। उनका कहना था कि पूर्व में ठेकेदार निर्धारित दरों से 28 फीसदी तक कम रेट पर टेंडर डालते थे, जबकि इन कार्यों के लिए 20 से 30 प्रतिशत अधिक दरों पर टेंडर डाले गए। अत: टेंडर निरस्त किए जाएं। मुख्य अभियंता रामकुमार वर्मा ने जवाब देते हुए कहा कि महंगाई बढ़ गई है। टेंडर वर्ष 2009 के स्टीमेट से निकाले गए थे, निविदा की अधिक दरें आने पर पीडब्ल्यूडी से रेट रिवाइज कराए गए, फिर ठेकेदारों से दरें कम कराई गईं। उनका कहना था कि नियमत: 15 लाख रुपये के ऊपर कार्य ही कार्यकारिणी से स्वीकृत कराए जाते हैं। जो टेंडर हुए हैं, उनमें अधिकांश कार्य इससे नीचे के हैं, इसलिए कार्यकारिणी से पास कराना जरूरी नहीं। इससे हंगामा हो गया। सदस्यों ने टेंडर संबंधी पांच फाइलें तलब कर लीं। फाइलें देखने के बाद सर्वसम्मति से टेंडर निरस्त कर दिया गया। बैठक में वर्ष 2012-13 का पुनरीक्षित बजट पारित नहीं हो सका। सदस्यों ने इसे अगली बैठक के लिए टाल दिया।
करारी में आवासीय कालोनी विकसित करने के लिए 7.147 हेक्टेअर भूमि डीएम सर्किल रेट के आधार पर कीमत (1,78,67,500 रुपये) झांसी विकास प्राधिकरण को देने संबंधी प्रस्ताव भी पारित नहीं हो सका। सदस्यों का कहना था कि जमीन की तार फेंसिंग कराकर उसे प्राइवेट सेक्टर में बेचा जाए, ताकि अधिक आमदनी हो। जबकि, होर्डिंग आदि पर विज्ञापन शुल्क निर्धारित करने और वार्ड नंबर 51 में नवविकसित पार्क स्वतंत्रता सेनानी स्व. प्रेमनारायण तिवारी के नाम पर करने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। अन्य प्रस्तावों पर चरचा के दौरान पटरी से उतरी सफाई व्यवस्था और स्ट्रीट लाइट को लेकर शोरशराबा हुआ। सदस्यों ने व्यवस्था में सुधार के लिए सफाई कर्मियों व हवलदार का वेतन पार्षद से संस्तुत कराने के बाद ही भुगतान करने की मांग की। ठेकेदारों का भुगतान भी पार्षदों से संस्तुत कराने और कार्यकारिणी में पास कराने को कहा। बैठक में नगर आयुक्त रमाशंकर, अपर नगर आयुक्त आर सी श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता सतीश चंद्रा आदि अफसर मौजूद रहे।

फंस सकता है संवैधानिक संकट
झांसी। कार्यकारिणी की बैठक में जिस तरह के निर्णय लिए हैं, उससे संवैधानिक पेच फंस सकता है। निरस्त टेंडर में से ज्यादातर कार्यों के ठेकेदारों को वर्कआर्डर जारी कर दिए गए हैं। कुछ ठेकेदारों ने तो काम भी शुरू कर दिए हैं। कार्यकारिणी को 15 लाख रुपये से ऊपर के ही कार्य स्वीकृत करने का अधिकार है, ऐसी स्थिति में क्या टेंडर निरस्त किए जा सकते हैं। सफाई कर्मियों के वेतन और ठेकेदारों के भुगतान से पूर्व पार्षदों की संस्तुति का अधिकार उन्हें है या नहीं, इसको लेकर भी पेच फंस सकता है।

ठेकेदारों के कोर्ट जाने की संभावना
झांसी। टेंडर को लेकर जिस तरह का घटनाक्रम चल रहा है, उससे ठेकेदारों के कोर्ट जाने की संभावना है। इसको लेकर ठेकेदारों ने मंथन शुरू कर दिया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी कैबिनेट ने एक जिला एक उत्पाद नीति पर लगाई मुहर, लिए गए 12 फैसले

यूपी कैबिनेट ने कुल 12 फैसलों को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में एक जिला एक उत्पाद नीति पर मुहर लग गई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper