बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

स्टेशन पर आरआरआई वर्क कल से

Jhansi Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
विज्ञापन

झांसी। रेलवे स्टेशन पर चौदह अक्तूबर से पुरानी सिगनलिंग प्रणाली को आधुनिक रूट रिले इंटर लाकिंग प्रणाली में बदलने का कार्य होगा। अठारह अक्तूबर तक चलने वाले इस कार्य को पूरा करने के लिए एक हजार कर्मचारी दिन रात काम करेंगे। कार्य की लागत सत्रह करोड़ रुपये आएगी। यह जानकारी शुक्रवार को डीआरएम सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में मंडल रेल प्रबंधक नवीन चोपड़ा ने दी।
उन्होंने बताया कि अभी किसी भी गाड़ी को स्टेशन पर लाने के लिए सभी केबिनों को आपस में बात करके समन्वय, सहयोग एवं आपसी अनुमति लेनी पड़ती है, जिससे काफी समय नष्ट होता है। नई प्रणाली में सी, डी, ई एवं पैनल केबिनों से संचालन व्यवस्था पूर्णत: समाप्त हो जाएगी। एफ केबिन भी सिर्फ मालगाड़ियों के संचालन में सहयोगी रहेगा। गाड़ियों का संचालन केंद्रीय स्थान से किया जाएगा, जहां पर पूरे झांसी स्टेशन यार्ड को सिगनलिंग प्रणाली की मदद से दर्शाया जाएगा, जिससे गाड़ियों के संचालन में अत्यधिक सरलता होगी। इस कार्य में लगभग 54 नये सिगनल, 33 कॉलिग आन सिगनल, 71 शंट सिगनल, 111 प्वाइंट मशीन एवं 146 ट्रैक सर्किटों को चालू किया जा रहा है। इस व्यवस्था में झांसी स्टेशन पर लगभग 401 तरह के विभिन्न मूवमेंट किए जा सकेंगे, जो कि बहुत बड़ी उपलब्धि है। यह कार्य भारतीय रेल परियोजना प्रबंधन इकाई द्वारा वरिष्ठ मंडल सिगनल, दूर संचार इंजीनियर की यूनिट एवं विभिन्न विभागों के मंडलीय अधिकारियों के माध्यम से कराया जा रहा है। गाड़ियों का संचालन सुचारु रूप से चलाने के लिए पूरे झांसी स्टेशन को बाइस भागों में बांटा गया है, जिसमें चौबीसों घंटे कर्मचारी कार्यरत रहेंगे। इनके बैठने हेतु कार्य स्थल पर अस्थाई गुमटियां का निर्माण किया गया है। इस दौरान जिन सवारी गाड़ियों के झांसी में इंजन बदलते हैं, उनको यार्ड में बदला जाएगा। उन्होंने चेताया कि यार्ड में इंजन बदलते समय कोई यात्री ट्रेन से न उतरे, नहीं तो वह हादसे का शिकार हो सकता है। यात्री प्लेटफार्म पर ट्रेन रुकने पर ही उतरें।

इस अवसर पर एडीआरएम जे पी पांडे, सीनियर डीसीएम राजेश कुमार, अनुराग पटैरिया, एस के बुधौलिया, नवीन बाबू, अमित मिश्रा, रवि प्रकाश, सैयद नूर अहमद आदि अफसर मौजूद थे।


नहीं चलेंगी पैसेंजर गाड़ियां

झांसी। रेलवे स्टेशन यार्ड में 14 से 18 अक्तूबर तक रूट रिले इंटर लाकिंग बेस कार्य की अवधि में पैसेंजर गाड़ियों का संचालन रद रहेगा। अनेक ट्रेनों का संचालन भी बदल जाएगा।
इस अवधि में गाड़ी संख्या 51813/ 51814 झांसी- लखनऊ पैसेंजर, 51815/51816 झांसी- आगरा कैंट पैसेंजर, 51812/51811 झांसी- बीना पैसेंजर, 54157/ 54158 झांसी- कानपुर पैसेंजर, 54159/ 54160 झांसी- बांदा पैसेंजर, 51831/ 51832 झांसी- आगरा पैसेंजर का संचालन रद रहेगा। वहीं गाड़ी संख्या 51827/ 51828 झांसी- इटारसी पैसेंजर बीना -झांसी के मध्य संचालित होगी। इसके अलावा 12279/12280 ताज एक्सप्रेस ग्वालियर से हजरत निजामुद्दीन के मध्य चलेगी। उदयपुर से चलने वाली गाड़ी नंबर 19666 उदयपुर- खजुराहो एक्सप्रेस तेरह अक्तूबर से सत्रह अक्तूबर तक ग्वालियर तक संचालित होगी। गाड़ी नंबर 19665 ग्वालियर से उदयपुर के लिए रवाना होगी। इस अवधि में उदयपुर- खजुराहो एक्सप्रेस का संचालन खजुराहो से ग्वालियर के मध्य नहीं होगा। गाड़ी नंबर 51821/51822 झांसी- खजुराहो लिंक पैसेंजर का संचालन तेरह अक्तूबर से अठारह अक्तूबर तक झांसी - महोबा के मध्य नहीं होगा। इसका संचालन महोबा खजुराहो के मध्य ही होगा। इस अवधि में गाड़ी संख्या 51805/ 51806 झांसी- बांदा पैसेंजर ओरछा- बांदा के मध्य संचालित होगी।
इधर, ग्वालियर से चलने वाली 11124/11123 ग्वालियर- बरौनी मेल का संचालन आगरा- टुंडला व कानपुर से होकर होगा। इस दौरान गाड़ी संख्या 11069/ 11070 तुलसी एक्सप्रेस का संचालन इलाहाबाद, मानिकपुर, झांसी, इटारसी की जगह इलाहाबाद, मानिकपुर, जबलपुर, इटारसी होकर होगा। इस अवधि में 12175/12176, 12177/12178 चंबल एक्सप्रेस का संचालन झांसी, मानिकपुर, इलाहाबाद की जगह आगरा, टुंडला, कानपुर, इलाहाबाद होकर होगा। गाड़ी संख्या 51882 आगरा कैंट ग्वालियर शटल दतिया तक संचालित होगी। इस अवधि में गाड़ी संख्या 51815 झांसी- आगरा कैंट पैसेंजर के ठहराव वाले स्टेशनों पर गाड़ी संख्या 18477 उत्कल एक्सप्रेस, गाड़ी संख्या 51811/ 51812 झांसी- बीना पैसेंजर के ठहराव वाले स्टेशनों पर गाड़ी संख्या 19165/ 19166 , 19167/19168 साबरमती एक्सप्रेस, गाड़ी संख्या 51828 झांसी- इटारसी पैसेंजर के झांसी बीना के मध्य ठहराव वाले स्टेशनों पर गाड़ी संख्या 11078 झेलम एक्सप्रेस व गाड़ी संख्या 51827 इटारसी- झांसी पैसेंजर के बीना से झांसी के मध्य ठहराव वाले स्टेशनों पर गाड़ी संख्या 12807 समता एक्सप्रेस एवं 12803 स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस को ठहराव दिया गया है। इस अवधि में झांसी स्टेशन पर रुकने वाली सभी मेल व एक्सप्रेस गाड़ियों का ठहराव समय सिर्फ पांच मिनट रहेगा।


आरक्षित यात्रियों की सहमति पर स्लीपर कोच में बैठ सकेंगे जनरल यात्री
झांसी। रेल प्रशासन ने कार्य अवधि के दौरान झांसी- आगरा कैंट पैसेंजर के ठहराव वाले स्टेशनों पर उत्कल एक्सप्रेस, झांसी- बीना पैसेंजर के ठहराव वाले स्टेशनों पर साबरमती एक्सप्रेस, झांसी- इटारसी पैसेंजर के झांसी बीना के मध्य ठहराव वाले स्टेशनों पर झेलम एक्सप्रेस व इटारसी- झांसी पैसेंजर के बीना से झांसी के मध्य ठहराव वाले स्टेशनों पर समता एक्सप्रेस एवं स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस को ठहराव दिया है। उक्त पैसेंजर ट्रेनों के रद होने से ठहराव वाली ट्रेनों में भीड़ बढ़ना तय है। इस कारण जनरल कोचों में यात्रियों का बैठना मुहाल हो जाएगा। इस संबंध में डीआरएम ने बताया कि पैसेंजर ट्रेनों के यात्री उक्त एक्सप्रेस के स्लीपर कोचों में जनरल टिकट लेकर बैठ सकते हैं, बशर्ते आरक्षित कोच के यात्रियों को परेशानी न हो।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X