03 माह में 250 व्यापारियों ने समेटा कारोबार

Jhansi Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
झांसी। टैक्स की जटिलता और कड़ी स्पर्धा के चलते बुंदेलखंड में एक के बाद एक व्यापारी कारोबार समेट रहे हैं। चित्रकूट को छोड़ दिया जाए तो बुंदेलखंड के अन्य जनपदों में पिछले तीन माह में ढाई सौ व्यापारियों ने अपना व्यवसाय समेट लिया है। हालांकि, नये पंजीयन भी हो रहे हैं, लेकिन अफसरों को नये व्यापारियों से टैक्स अधिक मिलने की उम्मीद कम ही रहती है।
जानकार ताज्जुब होगा कि इस साल अभी तक डेढ़ हजार से अधिक व्यापारियों ने अपने पंजीयन निरस्त कराए हैं या फिर किसी कारण से उनके पंजीयन निरस्त कर दिए गए हैं। इस संख्या में हर माह बढ़ोतरी हो रही है। पिछले तीन माह में ढाई सौ व्यापारी अपना पंजीयन निरस्त करा चुके हैं। पंजीकृत व्यापारियों की घटती संख्या और बढ़ते राजस्व लक्ष्य ने अफसरों की परेशानी बढ़ा दी है।
सितंबर माह के अंत तक झांसी जोन में पंजीकृत व्यापारियों की संख्या 29,353 है। इनमें झांसी संभाग में 17,306 व बांदा संभाग में 12,053 व्यापारी हैं। झांसी संभाग के झांसी जनपद में 9100, जालौन में 4894 व ललितपुर में 3312 व्यापारी पंजीकृत हैं। इनमें व्यापारी, कंपनियां, सरकारी व गैर सरकारी संस्थाएं, ठेकेदार आदि शामिल हैं।

‘व्यापारियों द्वारा पंजीयन निरस्त कराना चिंता का विषय है। इनमें कई ऐसे व्यापारी भी शामिल हैं, जिनकी फर्में जांच या बकाया के कारण विवादित हो गई हैं। ऐसी फर्मों की जांच कराई जा रही है। नये पंजीयन भी हो रहे हैं।’
- सुनील पांडे, एडिशनल कमिश्नर ग्रेड टू

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018