विज्ञापन

01 अरब का कारोबार प्रभावित

Jhansi Updated Thu, 23 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
झांसी। विभिन्न मांगों को लेकर बैंकों की दो दिवसीय हड़ताल बुधवार को शुरू हुई। पहले ही दिन हड़ताल का व्यापक असर देखने को मिला। राष्ट्रीयकृत बैंकों की सभी शाखाओं में तालाबंदी से एक दिन में जिले में एक अरब रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। तकरीबन साठ करोड़ का वित्तीय लेनदेन तो केवल क्लियरेंस हाउस बंद होने से थम गया। इस कारण आम जनमानस को भी परेशानी उठानी पड़ी।
विज्ञापन
यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस के राष्ट्रीय आह्वान पर जिले के बैंक कर्मचारी - अधिकारी हड़ताल पर रहे। पहले दिन बुधवार को बैंक कर्मी सुबह पीएनबी की सिविल लाइन स्थित शाखा पर जमा हुए। यहां से यूनियन के जिला संयोजक नंद किशोर भिलवारे के नेतृत्व में वाहन रैली निकाली गई, जिसमें बैंक कर्मी बारिश में भीगते हुए सरकार की नीतियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए चल रहे थे। विभिन्न मार्गों से होती हुई रैली यूनियन बैंक की मुख्य शाखा पर पहुंच कर सभा में तब्दील हो गई। यहां एनसीबीई के जिलाध्यक्ष जे पी आनंद, एआईबीइए के जिलाध्यक्ष डी के चौहान व अधिकारी संगठन के जिलाध्यक्ष हरगोविंद सिंह परिहार की संयुक्त अध्यक्षता में हुई सभा में एआईबीइए के जिला मंत्री विजय शंकर सिंह ने कहा कि यदि सरकार सुधार के नाम पर बैंकिंग बिगाड़ बिल लाती है तो इसकी देशभर में तीखी प्रतिक्रिया होगी। इस दौरान एसबीआई स्टाफ एसोसिएशन के क्षेत्रीय सचिव अनिल खत्री, आंचलिक सचिव जय सिंह सेंगर, अधिकारी यूनियन के जिला सचिव प्रताप सिंह, एबीएसए के अशोक महावर, पीएनबीईयू के उप महामंत्री आर के सब्बरवाल, अमिताभ निगम, सज्जन तिवारी आदि ने विचार प्रकट किए। सुरेश चंद्र अग्रवाल, आर पी गुप्ता, जे पी जाटव, अनिल खड्डर, हरीशंकर यादव, वीरेंद्र कुशवाहा, सुनील दुबे, ज्ञानेंद्र मोहन अवस्थी, आर पी खरे, रामानुज अग्निहोत्री, दिनेश किलेदार, आर के जुनेजा, रामलखन गौतम, सुंदर राजन आदि ने बैंक कर्मियों से दूसरे दिन भी हड़ताल सफल बनाने का आह्वान किया।
हड़ताल का प्राइवेट बैंकों की जिले में स्थित नौ शाखाओं में भी असर देखने को मिला। नगर की शाखाओं को हड़ताली कर्मियों ने बंद कराया। कुछ शाखाएं खुली भी रहीं, परंतु क्लियरिंग हाउस बंद होने की वजह से यहां भी वित्तीय लेनदेन प्रभावित रहा।

बैंक कर्मियों की यह हैं प्रमुख मांगें
- बैंकिंग का लाइसेंस कारपोरेट व बढ़े औद्योगिक घरानों को न दिया जाए
- मृतक बैंक कर्मी के आश्रित को अनुकंपा नियुक्ति दी जाए
- बैंकों में आउट सोर्सिंग बंद की जाए
- बैंकों की ग्रामीण शाखाएं न बंद की जाएं
- पेेंशन में सुधार किया जाए

ग्रामीण बैंकों ने भी दिया समर्थन
झांसी। उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक इंपलाइज यूनियन के क्षेत्रीय सचिव एस के मेहरा ने बताया कि ग्रामीण बैंक कर्मचारियों ने भी हड़ताल के समर्थन का फैसला लिया है। ग्रामीण बैंक यूनियन ज्वाइंट फोरम आफ बैंक यूनियन की हड़ताल का नैतिक समर्थन करती है। हालांकि, बंदी में ग्रामीण बैंक शामिल नहीं रहे।

ट्रेन यूनियन ने भी मांगें स्वीकारीं
झांसी। बुधवार को जिला संयुक्त ट्रेड यूनियन समन्वय समिति की कोर कमेटी की बैठक हुई, जिसमें समीक्षा के बाद बैंकों की मांगें स्वीकारी गईं तथा हड़ताल के समर्थन की घोषणा की गई। अध्यक्षता कामरेड जे एन पाठक ने की। इस मौके पर दिनेश नारायण श्रीवास्तव, रामसनेह यादव, सैयद औसाफ अहमद, हाकिम सिंह यादव, रामचरन अहिरवार, भगवान दास, मन्नू खां, पाल सिंह, मदन मोहन खरे आदि मौजूद रहे। संचालन महामंत्री सी पी भार्गव ने किया।

हड़ताल के दिनों का नहीं लेंगे वेतन
झांसी। कर्मचारियों की सामान्य हड़ताल से बैंक कर्मियों की हड़ताल अलग रहती है। बैंक कर्मचारी हड़ताल के दिनों का स्वेच्छा से वेतन कटाते हैं। बैंक कर्मी नेता नंद किशोर भिलवारे ने बताया कि ‘नो वर्क - नो पे’ का समझौता यूनियन ने सरकार से पहले ही कर रखा है। यही वजह है कि बैंकों की हड़ताल हमेशा सफल होती है और कर्मचारी पूरी शिद्दत के साथ इसमें शामिल होते हैं।

आज होगी एटीएम की परीक्षा
झांसी। सभी बैंकों के जिले में 60 एटीएम हैं। ज्यादातर बैंकों ने हड़ताल के एक दिन पहले बुधवार को एटीएम में रकम की व्यवस्था कर दी थी। लेकिन, लोड अधिक रहा, जिससे हड़ताल के पहले दिन ही कुछ एटीएम दम तोड़ गए, जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ी। हालांकि, असल परीक्षा हड़ताल के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को होना बाकी है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Jhansi

पटरी से उतरी बड़ा बाजार की यातायात व्यवस्था

ऑटो चालकों की मनमानी बड़ा बाजार की यातायात व्यवस्था की बाधा बनी हुई है। निर्धारित स्थान की जगह बाजार में यहां-वहां ऑटो खड़े किए जाने से यहां दिन में अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है।

18 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: स्कूल में पढ़ाई की बजाए बच्चों से करवाया जा रहा ये काम

देश के प्रधानमंत्री ने लोगों से स्वच्छता अभियान से जुड़ने की बात कही। लेकिन झांसी के एक स्कूल में बच्चों से सफाई करवाने के नाम पर झाड़ू लगवाई जा रही है।

25 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree