कंडम ट्रैक्टरों से ढोया जा रहा कचरा

Jhansi Updated Sun, 05 Aug 2012 12:00 PM IST
झांसी। नगर निगम के वर्कशाप स्टाफ की लापरवाही से जहां कंडम वाहनों को कचरा ढोने के काम में उपयोग किया जा रहा है, वहीं नए वाहनों को कंडम बनाने में भरपूर योगदान दिया जा रहा है। हालातों का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि डेढ़ दर्जन वाहनों के रजिस्ट्रेशन न होने के कारण वह डेढ़ साल से अधिक समय से जंग खा रहे हैं। पूरा मामला नगर आयुक्त के संज्ञान में आने पर उन्होंने जिम्मेदार अफसरों से दो दिन में रिपोर्ट तलब की है।
डेढ़ साल पहले सात पुराने ट्रैक्टरों को कंडम घोषित कर उनके स्थान पर नए ट्रैक्टर खरीदे गए थे। वर्कशाप से जुड़े तत्कालीन अफसरों की नाक के नीचे ट्रैक्टरों की खरीद में हुए गोलमाल का खुलासा होने पर हड़कंप मच गया था। यह मामला शासन तक उछला था। हालांकि, बाद में सब रफा- दफा कर दिया गया था। लेकिन, तब से लेकर अब तक परिवहन विभाग में इन ट्रैक्टरों के रजिस्ट्रेशन नहीं हो सके हैं। इस कारण ट्रैक्टर वर्कशाप में जंग खा रहे हैं। उनकी बैटरियां खराब हो गई हैं, वारंटी पीरियड में कंपनी की ओर से मिलने वाली वाहनों की सर्विस की सुविधा का भी लाभ नहीं मिल सका है। दूसरी ओर कंडम घोषित किए गए ट्रैक्टरों से काम लिया जा रहा है। इस कारण उनके रखरखाव पर जरूरत से ज्यादा खर्च हो रहा है। यही नहीं, कभी भी स्टेयरिंग या ब्रेक फेल होने से हादसा भी हो सकता है। ट्रैक्टर के अलावा तीन टाटा एसीई (कचरा ढोने के काम आने वाली छोटी गाड़ी) के भी रजिस्ट्रेशन नहीं हो सके हैं, जिससे वह भी जंग खा रही हैं। वहीं, सर्किलों में वाहन न होने से कचरा उठाने का कार्य प्रभावित हो रहा है।
सूत्रों की अनुसार कंडम वाहनों से काम लेने और नए वाहनों का रजिस्ट्रेशन न कराने के पीछे वर्कशाप स्टाफ और रनिंग स्टाफ की जुगलबंदी है। दरअसल, वाहनों के मेंटीनेंस पर दिल खोलकर खर्च किया जा रहा है और पुरानी गाड़ियों के एवरेज का भी कोई हिसाब - किताब नहीं होने के कारण तेल का खेल भी खूब हो रहा है। यदि नई गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन हो गए और वह फील्ड में दौड़ने लगीं तो पुरानी गाड़ियों के नाम पर होने वाला बंदरबांट बंद हो जाएगा।
इस संबंध में नगर आयुक्त जे पी चौरसिया ने कहा कि जिम्मेदार अफसरों की जवाबदेही तय कर दो दिन में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया की औपचारिकताएं पूरी करने को कहा गया है। इसके बाद भी अगर रजिस्ट्रेशन कराने में ढील बरती जाती है तो संबंधित अफसर और पूर्व में वर्कशाप का काम देख रहे अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018