मायावती की प्रतिमा तोड़ने पर किया हाइवे जाम

Jhansi Updated Fri, 27 Jul 2012 12:00 PM IST
झांसी। लखनऊ में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की प्रतिमा तोड़े जाने से आक्रोशित बसपा कार्यकर्ताओं ने मेडिकल कालेज से आगे तिराहे पर झांसी- कानपुर हाई वे पर बृहस्पतिवार को दोपहर बाद जाम लगा दिया। इससे पहले कार्यकर्ता पैदल मार्च करते हुए वहां पहुंचे और धरना पर बैठ गए। कार्यकर्ता तुरंत प्रतिमा तोड़ने वाले की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े थे। जाम के कारण दोनों तरफ वाहनों की लंबी- लंबी कतारें लग गईं। तकरीबन पौने दो घंटे बाद लखनऊ से मिले संदेश के बाद जाम समाप्त किया गया। हालांकि, इस दौरान ऐहतियातन वहां भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। प्रशासन के आला अधिकारी बसपा के बड़े नेताओं को जाम समाप्त करने के लिए समझाने- बुझाने में जुटे रहे।
बसपा के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी दोपहर करीब डेढ़ बजे मंडी रोड स्थित तुलसा विवाह घर में पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं के साथ संगठन की मजबूती के मसले पर मंथन में जुटे थे। इसी दौरान सवा दो बजे उन्हें सूचना मिली कि लखनऊ के गोमती नगर स्थित पार्क में पार्टी सुप्रीमो मायावती की प्रतिमा को एक युवक ने क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस पर सिद्दीकी ने वहां मौजूद पार्टी कार्यकर्ताओं को लखनऊ से आए संदेश से अवगत कराया, जिससे उनका आक्रोश फूटने लगा। स्थिति को भांपकर उन्होंने लखनऊ रवाना होते हुए पार्टी पदाधिकारियों को अगला संदेश मिलने तक कोई भी कदम नहीं उठाने की हिदायत दी। हालांकि, तकरीबन एक घंटे के बाद उन्होंने पार्टी के जोनल कोआर्डिनेटर विजय कुमार कुशवाहा और मंडल को आर्डिनेटर मुकेश अहिरवार को सड़क पर उतरने का संदेश दिया। इसके बाद पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मेडिकल कालेज के पास पहुंचे और वहां से पैदल मार्च करते हुए तिराहे पर पहुंचे और हाइवे को जाम कर दिया।
जाम की सूचना मिलते ही प्रशासन व पुलिस के अधिकारी भारी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। सिटी मजिस्ट्रेट पीके श्रीवास्तव और सीओ सिटी सुधा सिंह ने प्रदर्शनकारियों को जाम से जनता को होने वाली परेशानी से अवगत कराते हुए आंदोलन समाप्त करने को कहा, लेकिन वह प्रतिमा तोड़ने के आरोपी की गिरफ्तारी होने तक जाम खत्म नहीं करने की बात पर अड़े रहे। इस दौरान प्रदर्शनकारी प्रदेश सरकार विरोध नारेबाजी करते रहे। करीब सवा पांच बजे जोनल को आर्डिनेटर व मंडल को आर्डिनेटर ने संयुक्त रूप से बताया कि पार्टी हाईकमान से निर्देश मिले हैं कि प्रशासन से उचित कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद जाम समाप्त कर दें। इस पर अफसरों ने उनकी मांग शासन तक पहुंचाने और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया जिस पर जाम खुल गया।
आंदोलनकारियों की अगुवाई पूर्व मंत्री पंडित रमेश कुमार शर्मा, राज्य सभा सांसद बृजलाल खाबरी, विधायक बबीना कृष्णपाल राजपूत, पूर्व विधायक कैलाश साहू, प्रदीप वाल्मीकि, रामजीलाल अहिरवार, पूर्व मंत्री हरगोविंद कुशवाहा, हेमंत साहू, कुंदनलाल, अशोक वर्मा, विजय कुशवाहा, भूपेंद्र कुशवाहा, शंकर वाल्मीकि, मोहन अहिरवार आदि कर रहे थे।


बसों में बैठी सवारियां र्हुइं परेशान
कानपुर हाइवे पर पहुंचे बसपाइयों ने आवागमन के तीनों रास्तों पर भारी वाहनों को जबरन तिरछा खड़ा करवाकर जाम लगा दिया। जाम को देखते हुए बसों में बैठी सवारियों ने बस छोड़ने में ही भलाई समझी और पैदल ही नगर की ओर रवाना हो गए।

एंबुलेंस तक नहीं निकलने दी
मेडिकल कालेज नजदीक होने की वजह से जाम में गंभीर रोगियों को लेकर आ रही एंबुलेंस फंस गई। जब काफी देर तक एंबुलेंस फंसी रही तो उनमें बैठे तीमारदारों ने जाम लगाने वालों से रास्ता मांगा, लेकिन कुछ युवकों ने विरोध करते हुए उन्हें भी नहीं निकलने दिया।

Spotlight

Most Read

National

राजनाथ: अब ताकतवर देश के रूप में देखा जा रहा है भारत

राज्य नगरीय विकास अभिकरण (सूडा) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आयाम मिला है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper