ज्योतिषी हत्याकांड में कई गांवों में ताबड़तोड़ छापे

Jaunpur Updated Mon, 03 Dec 2012 05:30 AM IST
सुइथाकला (जौनपुर) । हाईप्रोफाइल ज्योतिषी रमेश तिवारी हत्याकांड के फरार आरोपियों की तलाश में एसओजी ने शनिवार की रात कई गांवों में ताबड़तोड़ छापे मारे। हाथ तो कोई आरोपी नहीं लगा लेकिन गुस्से में पुलिस ने कई के परिजनों को पीट दिया। छापेमारी के पीछे अहम वजह बताई जा रही है कि चार दिसंबर को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को ज्योतिषी हत्याकांड में अब तक की गई कार्रवाई से सदन को अवगत कराना है।
रमेश तिवारी की पंद्रह नवंबर को उनके घर ऊंचगांव में हत्या कर दी गई थी। इस मामले में तीन लोग गिरफ्तार कर लिए गए थे। मुख्य आरोपी धीरेंद्र ने कोर्ट में समर्पण कर दिया था। पुलिस ने फरार चल रहे आरोपी ऊंचगांव के तन्नू सिंह की हाल ही में शादी तय करने वाले निजामपुर के पूर्व प्रधान सूर्य प्रसाद सिंह को शुक्रवार से हिरासत में ले रखा है। मोबाइल पर मिली काल को लेकर पुलिस सूर्य प्रसाद सिंह भी संदिग्ध मानकर चल रही है। यह भी हो सकता है कि दबाव बनाने के लिए इन्हें हिरासत में लिया गया हो। एक दिन खुटहन थाने में बैठाया गया तो दूसरे दिन शाहगंज कोतवाली में भेज दिया गया। शनिवार की रात खुटहन, सरपतहां खेतासराय, शाहगंज कोतवाली पुलिस के साथ स्पेशल आपरेशन ग्रुप की टीम ने एक साथ छापेमारी की। इनके साथ 12 की संख्या में महिला दारोगा और सिपाही भी थीं। पुलिस ने जमौली निवासी झारखंडी सिंह के घर को खंगाला। यहां दरवाजे पर सो रहा नौकर पुलिस की गाड़ियां देख भाग निकला। घर में केवल झारखंडी सिंह की पत्नी ही मिली। ऊंच गांव के तन्नू सिंह के घर तलाशी ली गई। आरोप है कि पुलिस ने परिजनों के साथ दुर्व्यवहार किया। यहीं के बचई उपाध्याय के घर भी पुलिस पहुंची। यहां भी निराशा मिलने पर पुलिस ने परिजनों को पीटा। अंबेडकर नगर के जैतपुरा थाने के अंगराघाट निवासी शूटर शेर बहादुर सिंह उर्फ शेरू के पहुंची। शेरू की मां 2010 में जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी थीं। पुलिस के हाथ चुनाव के दौरान छपवाया गया पोस्टर लगा। पोस्टर पर शेरू की अपील भी छपी हुई है। इस तस्वीर का इस्तेमाल पुलिस शेरू की गिरफ्तारी और पुलिस रिकार्ड के लिए इस्तेमाल कर सकती है। आजमगढ़ के अहिरौली थाना क्षेत्र के पखनपुर निवासी विपुल सिंह के घर भी गई पुलिस। विपुल सिंह को शूटर शेरू का दूसरा साथी बताया जा रहा है। छापेमारी के चलते आरोपियों पर सरेंडर के लिए भारी दबाव है। सभी आरोपियों के घर के पुरुष सदस्य घटना के बाद से ही फरार हैं। घर पर महिलाएं ही बची हैं।

मुख्यमंत्री कल देंगे जवाब
जौनपुर। पुलिस की इस छापेमारी के पीछे वजह बताई जा रही है कि ज्योतिषी हत्याकांड विधानसभा में भी गूंजा है। विधायक नदीम जावेद समेत विपक्षी दलों के कई विधायकों ने ज्योतिषी हत्याकांड को प्रमुखता से उठाया था। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को चार दिसंबर को सदन को बताना है कि ज्योतिषी हत्याकांड में अब तक क्या कार्रवाई हुई। पुलिस की कोशिश है कि चार दिसंबर की सुबह तक फरार चल रहे अन्य आरोपियों को दबोच लिया जाए। पुलिस सोमवार को दीवानी न्यायालय पर भी निगरानी बढ़ा सकती है। संभावना है कि झारखंडी सिंह कोर्ट का रुख कर सकते हैं। आत्मसमर्पण की अफवाह तो शनिवार को ही उड़ी थी लेकिन किसी ने सरेंडर नहीं किया था।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper