ब्लाक मुख्यालयों पर हल्ला बोल

Jaunpur Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
जौनपुर। गुरुवार को भारत बंद था तो ग्राम प्रधान संगठन, ग्राम पंचायत अधिकारी संघ, ग्राम विकास अधिकारी संघ, रोजगार सेवक ब्लाकों पर प्रदर्शन कर रहे थे। कई मांगो पर जिले के 21 ब्लाक मुख्यालयों पर संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले सभी ने प्रदर्शन किया। मनरेगा के कार्य जबरदस्ती कराने तथा जांच के नाम पर प्रधानों से दुर्व्यवहार की घटनाओं को लेकर ग्राम प्रधान सबसे ज्यादा खफा हैं। सभी ने सीडीओ पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाया। जलालपुर ब्लाक पर प्रदर्शन करने पहुंचे प्रधानों और दूसरे संगठनों की दरी बीडीओ ने फेंकवा दी। बाद में प्रधानों ने दोबारा दरी वहीं बिछाई और प्रदर्शन किया।
प्रधानों का कहना है कि जांच जरूर की जाए लेकिन जांच अधिकारी अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल नहीं करें। यदि ऐसा हुआ तो मनरेगा समेत सभी योजनाओं का संचालन ठप कर दिया जाएगा। इसके अलावा एमडीएम संचालन पर भी प्रधानों ने हाथ खड़े कर दिए। कहा कि अपने घर से ग्राम प्रधान कितने दिन भंडारा चलाएंगे। गेहूं, चावल दे देने से भोजन नहीं बन जाता। भोजन तैयार करने में ईधन, तेल, मसाला तथा सब्जियों का भी इस्तेमाल होता है। इन व्यवस्थाओं के लिए दी जाने वाली कन्वर्जन कास्ट का भुगतान नहीं हुआ। मौखिक ही जवाब दिया जा रहा है कि कन्वर्जन कास्ट खाते में भेज दी गई लेकिन किसके खाते में भेजी गई पूछने पर भी कोई नहीं बताता।
कन्वर्जन कास्ट के लिए भी बीएसए दफ्तर में व्यक्तिगत पैरवी करनी पड़ती है। प्रधानों ने एकमत से कहा कि कन्वर्जन कास्ट के लिए कोई व्यक्गित पैरवी करने नहीं जाएगा। यदि पैसा मिलेगा तो भोजन बनेगा नहीं मिलेगा तो रसोई ठप रहेगी। इसके लिए संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे। यह भी कहा गया कि बरसात का वक्त होने के नाते गांवों में मिट्टी के कौन से काम कराए जाए। फिर भी मनरेगा का कार्य जबरदस्ती कराने का दबाव बनाया जा रहा है। जब कार्य को लेकर दबाव बनाया जाएगा तो जाहिर सी बात है कि लोग उल्टे सीधे का करेंगे। इसी का फायदा अफसर उठाते हैं और जांच के नाम पर आर्थिक, मानसिक शोषण करते हैं। प्रदर्शन के दौरान मनरेगा मजदूरों की मजदूरी फिक्स करने, जांच के दौरान प्रधानों को उचित सम्मान दिया जाए। मानदेय पंद्रह सौ रुपये किया जाए। साथ ही बदलापुर के एडीओ पंचायत महंता यादव को बिना शर्त तत्काल बहाल किया जाए।
महराजगंज : ब्लाक मुख्यालय पर प्रदर्शन के दौरान सुखम्भर पाल, अशोक सिंह, संजय त्रिपाठी, आनंद त्रिपाठी, प्रेम शंकर ओझा, धनुषधारी, सतईराम, रमेश, जमुना प्रसाद, राकेश यादव, संजय यादव, नीलेश, राम आसरे, प्रदीप यादव आदि मौजूद थे। प्रदर्शन के दौरान नारेबाजी भी होती रही। रामपुर ब्लाक मुख्यालय पर संयुक्त संघर्ष समिति ने प्रदर्शन किया। बीडीओ को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान विनोद कुमार जायसवाल, निरंजन उपाध्याय, भोरिक सोनकर, ओम प्रकाश सिंह, संतोष कुमार पांडेय, राजेश यादव, राम बिलास पाल आदि मौजूद थे। बक्शा ब्लाक मुख्यालय पर हुए प्रदर्शन में सुनील श्रीवास्तव, विनोद शर्मा, बबलू चौहान, राहुल सिंह, सुरेंद्र नाथ शर्मा, सुभाष चंद्र मिश्र, डा. भोलनाथ मौर्य, मगन लाल, शत्रुघ्न, चंद्रजीत, प्रेम लाल यादव, अरुण सिंह, देवेंद्र यादव, मुमताज, विजय बहादुर पाल आदि मौजूद थे। अध्यक्षता अमरनाथ साथी तथा संचालन जेपी सिंह ने किया। मुफ्तीगंज ब्लाक मुख्यालय में प्रधानसंघ के अध्यक्ष छविराज यादव की अध्यक्षता में संयुक्त संघर्ष समिति ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में राधेश्याम राय, राज बहादुर यादव, रामजीत यादव, राज कुमार पाल, कमलेश यादव, दूधनाथ सरोज, ऊषा देवी, परमावती यादव, विजय लक्ष्मी, संजय सिंह, दिनेश राजभर, अमित कुमार, राज बहादुर पाल, अखिलेश कुमार, संगीता यादव, अखिलेश यादव, पूनम देवी, अरविंद सरोज आदि थे। धर्मापुर ब्लाक पर प्रधान लालचंद्र यादव की अध्यक्षता में अशोक मौर्य, सुजीत जायसवाल, सभाजीत, महेंद्र यादव, जय प्रकाश सिंह, राम कृष्ण पाल, विश्राम बिंद, सुखराम बिंद, प्रमोद कुमार, दिनेश सिंह आदि ने प्रदर्शन किया।
जलालपुर ब्लाक मुख्यालय पर प्रधानसंघ अध्यक्ष राजाराम कनौजिया की अध्यक्षता में संयुक्त संघर्ष समिति के लोगों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में बृजभान राजभर, बृजराज पटेल, अनिल यादव, रीना श्रीवास्तव, संतोष सिंह, रंजना देवी, ऊषा राजभर, भानु प्रताप यादव, वकील अहमद आदि शामिल थे। प्रदर्शन से पहले यहां विवाद जैसी स्थिति हो गई। पूर्व अनुमति नहीं लिए जाने के कारण बीडीओ कल्पना मिश्रा ने दरी आदि फेंकवा दिया। दस मिनट बाद प्रधान एकजुट हुए और दोबारा ब्लाक परिसर में धरने पर बैठ गए। खुटहन ब्लाक पर प्रधानसंघ अध्यक्ष श्याम बहादुर यादव की अध्यक्षता में विरोध प्रदर्शन हुआ। डीएम को संबोधित ज्ञापन बीडीओ को सौंपा। 26 सितंबर को विधानसभा के बाहर प्रदर्शन का फैसला लिया गया। धरने में काजिम हुसैन, रामजी यादव, योगेश पाठक, राम चंद्र मिश्र, श्रीकृष्ण पांडेय, सुभाष यादव, विनोद यादव, कमलेश यादव, संतोष दुबे आदि थे। संचालन राजेंद्र मिश्रा ने किया। बदलापुर में राम अधार यादव की अध्यक्षता में संघर्ष समिति ने प्रदर्शन किया। एडीओ पंचायत की बहाली से लेकर कई समस्याएं उठाई गई। धरने में राजदेव पाल, राजदेव सिंह, जयहिंद मौर्य, कमलेश यादव, नागेंद्र तिवारी, शीतला प्रसाद यादव, सुरेश गुप्ता, इंद्रदेव यादव, संजय कुमार, अशोक कुमार यादव, इंद्रजीत सरोज, दिनेश श्रीवास्तव, अशोक कुमार, श्रीपति मौर्य, चंद्र प्रकाश मौर्य, रणजीत सिंह आदि थे। बरसठी ब्लाक पर देव सरन यादव की अध्यक्षता में हुए प्रदर्शन में बिंदू देवी, आफताब आलम, रईश अहमद, चंद्रसेन, राजेंद्र प्रसाद, अजय कुमार, फुलगेना देवी, रीता सिंह, प्रेम लाल आदि शामिल थे।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper