विज्ञापन

सियार के हमले से 17 जख्मी

Jaunpur Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
बदलापुर। सिंगरामऊ के जगदीशपुर गांव में रविवार रात सियार के हमले से 17 लोग जख्मी हो गए। सियार ने एक दर्जन मवेशी को भी काट कर घायल कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि उन पर तेंदुए ने हमला किया है। लोगों ने वन विभाग के अफ सरों को भी सूचना दी। गांव में वन विभाग की टीम पंहुच गई और तेंदुए की खोज शुरू की। काफी ढूंढन के बाद गांव में एक सियार मरा हुआ पाया गया। डीएफओ का कहना है कि ग्रामीण तेंदुआ नहीं सियार के हमले से घायल हुए हैं। हालाकि गांव के लोग यह मानने को तैयार नहीं हैं। उन्हें अभी भी गांव में तेंदुए के मौजूदगी की आशंका है।
विज्ञापन
विज्ञापन
जगदीशपुर गांव निवासी किसान यूनियन के बदलापुर मंडल अध्यक्ष तिलकधारी (42) रविवार रात अपने घर के बाहर सोए थे। देर रात सियार ने तिलकधारी पर हमला कर दिया। तिलकधारी ने शोर मचाते हुए सियार को पकड़ने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हुए। सियार के हमले से तिलकधारी के पूरे चेहरे पर गहरे जख्म हो गए। इसी गांव में घर के बाहर सो रहे लालचंद (28), शिव शंकर (42), प्रियंका (12), कन्हैया (60), समर नाथ (42), जगन्नाथ (65), प्रेमा (50), धमानी (55), विकास (14), सफीक (65), जुबैदा (60), नजबुलनिशा (70) पर भी बारी-बारी से सियार ने हमला किया। सियार के हमले से एक साथ इतने लोगों के घायल होने से गांव में दहशत फैल गई। अंधेरा होने के नाते लोग सियार को ठीक से देख नहीं सके। हल्ला मचा कि गांव में तेंदुआ घुस आया है। जिस तरफ सियार को भागते देखा गया था लाठी, डंडा और टार्च लेकर उस ओर लोग दौड़ पड़े लेकिन सियार कहीं नजर नहीं आया। दहशत के चलते लोग अपने-अपने घरों में दुबक गए। बदलापुर से सटे प्रतापगढ़ के देवसरा थाना क्षेत्र के महड़ौरा गांव निवासी रेखा देवी (40), रोशनी (12), सभाजीत (30), गुडि़या (25) पर भी सियार ने हमला किया। दोनो गांवों में घर के बाहर बंधे दर्जन भर मवेशी भी सियार के हमले में घायल हुए। घायलों ने थाने पहुंच कर घटना की जानकारी दी। पुलिस ने सभी को सीएचसी ले जाकर उपचार कराया। डीएफओ एके सिंह का कहना है कि रविवार सुबह वन विभाग की टीम गांव में भेजी गई थी। गांव के एक कोने में सियार मरा हुआ पाया गया। किसी पशु के काटने पर सियार के शरीर में रैबीज फैल गया था। जिससे उसकी मौत हो गई। मृत सियार का पोस्टमार्टम कराया गया है। ग्रामीणों का कहना है कि मरे हुए सियार का आकार काफी छोटा है। जबकि उन पर तेंदुए के आकार के जानवर ने हमला किया था। उसका शरीर भी चितकबरा था।
बदलापुर सीएचसी प्रभारी डा. महेंद्र यादव ने बताया कि सभी जख्मी लोगों को एंटी रैबीज इंजेक्शन दे दिया गया। सीएचसी पर पर्याप्त इंजेक्शन हैं। लोगों को एंटी रैबीज का कोर्स पूरा कर लेना चाहिए। पीडि़त तीसरे, सांतवें और14वें दिन एंटी रैबीज इंजेक्शन जरूर लगवा लें। आखिरी डोज 90 दिन पर दिया जाता है लेकिन ज्यातर लोग 14वें दिन का ही इंजेक्शन लगवाते हैं। घाव को साफ पानी से धोएं। पट्टी बांधने से परहेज करें। घाव धोने में लाइफब्याय साबुन का इस्तेमाल करें। घाव यदि गहरा है तो इलाज में लापरवाही न बरतें। सूखने वाली दवाएं लेते रहें। हालांकि इतनी जल्दी रैबीज डिटेक्ट नहीं किया जा सकता लेकिन यदि वन विभाग के लोग कह रहे हैं तो कोई लक्षण पाया गया होगा।
डा. टीएन मिश्र, सीएमओ।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Jaunpur

युवक का शव गांव में पहुंचते ही मचा कोहराम

युवक का शव गांव में पहुंचते ही मचा कोहराम

16 दिसंबर 2018

विज्ञापन

सुपरस्टार शाहरुख खान ने की ‘अपराजिता’ की तारीफ, बोले कभी हार मत मानिए

रविवार को सुपरस्टार शाहरुख खान ने राजधानी लखनऊ में अमर उजाला के कार्यक्रम में शिरकत की। यहां उन्होंने अमर उजाला के अपराजिता की खुलकर तारीफ की।

17 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree