शिवालयों में उमड़ा शिव भक्तों का रेला

Jaunpur Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
जौनपुर। सावन के दूसरे सोमवार को शिवालय शिव भक्तों से गुलजार रहे। बच्चे, युवा और बुजुर्ग हर कोई भगवान शंकर और देवी पार्वती की भक्ति में रमा नजर आया। बम-बम भोले, हर-हर महादेव, ओम नम: शिवाय के जयकारे से मंदिर दिनभर गूंजते रहे। भोर से शुरू हुआ जलाभिषेक का सिलसिला दोपहर तक जारी रहा। भोले बाबा को प्रिय वस्तुएं चढ़ा कर श्रद्धालुओं ने विधि विधान से उन्हें पूजा। सोमवार और प्रदोष एक साथ पड़ने से ऐतिहासिक शिव मंदिरों में तिल रखने की जगह नहीं रही। कई मार्गों पर रूट डायवर्जन के बावजूद जाम की स्थिति रही। शहर से गुजरने वाले सभी प्रमुख मार्ग जाम रहे। हाइवे पूरे दिन जाम से जूझता रहा। ट्रकों की लंबी कतारों ने शहर के ट्रैफिक को भी प्रभावित किया।
सावन में सोमवार के दिन प्रदोष पड़ने से पर्व का महत्व और बढ़ गया था। लंबे समय बाद ऐसा योग पड़ने से पूजन अर्चन के लिए शिव मंदिरों में अपार भीड़ पहुंची। भोर से शुरू हुआ दर्शन, पूजन का सिलसिला दिनभर चला। व्रत रख कर श्रद्धालु महिलाओं, पुरुषों ने माला, फूल, फल, धतूरा, पान, अबीर, भांग, बेल पत्र सहित अन्य पूजन सामग्रियों के साथ विधि विधान से पूजा की। जलालपुर के ऐतिहासिक त्रिलोचन महादेव, सुजानगंज के गौरी शंकर धाम में मंगलवार रात ही कांवरियों का हुजूम पहुंच गया था। भोर में हर-हर महादेव के जयकारे के साथ जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हुआ। शहर के उमेशोनाथ मंदिर में शिव भक्तों की अपरंपार भीड़ रही। फूल, माला और बिजली के झालरों से मंदिर में भव्य सजावट की गई थी। शिव भक्तों द्वारा रुद्राभिषेक और शिव पुराण का भी आयोजन किया गया। उमेशोनाथ मंदिर के पुजारी बाबा महेंद्र दास त्यागी, उनके शिष्य राम लला त्यागी ने भक्तों को प्रसाद वितरित किया। दाऊ जी मंदिर, पांचों शिवाला, जोगेश्वर महादेव मंदिर, मैहर देवी सहित सभी मंदिरों में शिव भक्तों की अपरंपार भीड़ पहुंची। कई मार्गों पर रूट डायवर्जन के बावजूद जाम की स्थिति रही। शहर में वाराणसी-लखनऊ हाईवे पर दिनभर वाहनों की लंबी लाइन लगी रही।
सुजानगंज: ऐतिहासिक गौरी शंकर धाम में सावन के दूसरे सोमवार पर करीब एक लाख शिव भक्तों ने भोले शंकर का जलाभिषेक किया। मंदिर परिसर में रात से ही कांवरियों की लंबी लाइन लग गई थी। गौरी शंकर धाम समिति के अध्यक्ष राजाराम तिवारी, कोषाध्यक्ष लाल बिहारी तिवारी, सचिव सुधीर तिवारी, पुजारी हृदयानंद सरस्वति नागा बाबा, राम जानकी मंदिर के पुजारी उपेंद्र नारायण मिश्र द्वारा श्रद्धालुओं के लिए व्यापक व्यवस्थाएं की गई थी। दूर दराज से आए श्रद्धालुओं के लिए मंदिर परिसर में रुकने और भोजन की व्यवस्था की गई है। भीड़ को देखते हुए मंदिर परिसर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। कांवरियों की लंबी लाइन के चलते मंदिर से दो किलोमीटर पहले वाहनों को रोक दिया गया था। इलाहाबाद की तरफ आने-जाने वाले वाहन चार बजे तक महराजगंज वाया मधुपुर मुंगराबादशाहपुर के रास्ते पास किए गए। सीधा मछलीशहर जाने पर रोक रही। इसी तरह मछलीशहर से बदलापुर वाला रास्ता भी बंद रहा।
जलालपुर: ऐतिहासिक त्रिलोचन महादेव धाम में भोर में चार बजे से ही जलाभिषेक के लिए शिव भक्तों की कतार लग गई थी। दिन चढ़ने के साथ-साथ भीड़ और बढ़ती गई। भगवान शिव, देवी पार्वती की विधिवत अराधना कर श्रद्धालुओं ने कुशल मंगल की कामना की। मंदिर परिसर में मेला भी लगाया गया था। मेले में बच्चों ने खिलौने और महिलाओं ने श्रृंगार, गृहस्थी के सामान खरीदे। सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी के लिए एसओ राघवेंद्र सिंह, छह उपनिरीक्षक, 75 कांस्टेबल, डेढ़ सेक्शन पीएसी तैनात रही। त्रिलोचन महादेव के अलावा लालपुर के झारखंडे महादेव, बीबनमऊ के शिव मंदिर, जलालपुर के फुलेश्वर महादेव पर भी शिव भक्तों की भीड़ रही।
करंजाकला: सरायख्वाजा क्षेत्र के विभिन्न शिव मंदिरों पर सुबह से भक्तों की कतार लगी रही। जलाभिषेक कर भगवान शिव को प्रिय सभी वस्तुएं अर्पित की। व्रत रख कर श्रद्धालु महिलाओं, पुरुषों ने विधि पूर्वक भगवान शिव और देवी पार्वती को पूजा।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

सरकारी नौकरी चाहिए तो अब ज्वाइनिंग से पहले देना होगा ये शपथ पत्र

सरकारी नौकरी पाने की चाहत रखने वाले युवाओं को दहेज का मोह छोड़ना होगा।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper