अनियमित कापियों के वितरण पर शिक्षकों का हंगामा, पथराव

Jaunpur Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर में मंगलवार को जबरदस्त हंगामा हुआ। उत्तर पुस्तिकाओं के वितरण में अनियमितता का आरोप लगाते हुए सैकड़ों शिक्षकों ने मूल्यांकन ठप कर दिया। हंगामे और बवाल के बीच पत्थर भी चले। इंजीनियरिंग संस्थान में हंगामा करने के बाद शिक्षक फार्मेसी संस्थान में पहुंच गए। यहां पथराव कर खिड़की के शीशे तोड़ दिए। विवाद के बीच शिक्षक और कर्मचारियों में मारपीट हो गई। मारपीट के दौरान पांच कर्मचारी और एक शिक्षक को चोट आई। मूल्यांकन प्रभारी बीडी मिश्रा और अजय द्विवेदी के खिलाफ खिलाफ नारेबाजी करते हुए तीन दर्जन शिक्षक कुलपति कार्यालय पहुंच गए। यहां से मिल कर मूल्यांकन केंद्रों की अव्यवस्था से अवगत कराया। कुलपति द्वारा व्यवस्था सुधारने के आश्वासन शिक्षक वापस लौटे। करीब दो घंटे तक मूल्यांकन कार्य ठप रहा।
इंजीनियरिंग संस्थान के वर्कशाप में हिंंदी का मूल्यांकन चल रहा है। मंगलवार को रोज की तरह शिक्षक मूल्यांकन केपहुंच गए। करीब 10.30 बजे मूल्यांकन शुरू हुआ। सभी शिक्षकों को मूल्यांकन के लिए कापियों का वितरण कर दिया गया। कुछ शिक्षकों को मूल्यांकन के लिए ज्यादा कापियां दी गई तो कुछ को कम कापियां दी गई। शिक्षकों का आरोप है कि ऐसा कई दिनों से हो रहा है। इसी बीच मूल्यांकन के लिए हाल में बैठे शिक्षक डा. ब्रजेश यदुवंशी के नेतृत्व में हंगामा करना शुरू कर दिया। शिक्षकों का आरोप है कि मूल्यांकन केलिए कापियों के वितरण में अनियमितता बरती जा रही है। किसी को 50 कापी तो किसी शिक्षक को 150 कापी दी जा रही है। अव्यवस्था का आरोप लगा शिक्षक हंगामा करते हुए मूल्यांकन कक्ष से बाहर निकल गए। नारेबाजी करते हुए फार्मेसी संस्थान पहुंच गए। शिक्षक यहां मूल्यांकन केंद्र में घुसना चाहते थे। कर्मचारियों द्वारा विरोध किए जाने पर हाथापाई शुरू हो गई। मारपीट के बीच कर्मचारी ज्ञानेश परासरी, आलोक कुमार, विद्यानंद उपाध्याय, क्रांति मिश्रा, सुरेश श्रीवास्तव और शिक्षक डा. शिशिर सिंह को चोट आई। शिक्षक यहां भी शांत नहीं हुए। सभी संकाय भवन में पहुंच गए। शिक्षकों की भीड़ आते देख पहले से भवन के मुख्य गेट में ताला बंद कर दिया गया। शिक्षकों ने यहां मूल्यांकन प्रभारी बीडी मिश्रा और चीफ प्राक्टर डा. अजय द्विवेदी के खिलाफ नारेबाजी की। सभी नारेबाजी करते हुए जुलूस के रूप में कुलपति कार्यालय पहुंच गए। सरस्वती भवन में बैठे कुलपति प्रो. सुंदरलाल से मिलकर मूल्यांकन केंद्रों की व्यवस्था से अवगत कराया। कुलपति ने शिक्षकों को आश्वासन दिया कि बुधवार से सभी केंद्रों पर व्यवस्था ठीक हो जाएगी। करीब दो घंटे बाद केंद्र पर मूल्यांकन शुरू हुआ। इस मौके पर डा. मनोज सिंह वत्स, डा. ब्रजेश सिंह यदुवंशी, डा. विजेंद्र सिंह, डा. आलमगीर, डा. बृजेश त्यागी, डा. नीलेश सिंह, डा. उदयभान यादव, डा. कमलेश कनौजिया, डा. परमीला यादव समेत दर्जनों महिला शिक्षक भी शामिल थीं। शिक्षकों के हंगामे के चलते प्रशासनिक भवन और कुलपति कार्यालय में भी काफी देर तक अव्यवस्था का आलम रहा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017