दो बच्चों संग कुएं में कूदी महिला

Jaunpur Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
बरसठी। पारिवारिक कलह में महिला अपने दो बच्चों संग कुएं में कूद गई। सुबह महिला और उसके दुधमुंहे बच्चे का कुएं से शव निकाला गया। पांच माह की बच्ची को कुएं से सुरक्षित निकाल लिया गया है। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। युवती के पिता माता प्रसाद और चाचा कन्हैया लाल भी मौके पर पहुंच गए थे।
महमूदपुर निवासी करिया दलित बेलांव से सटे जंगीरोड बाजार में मीट की दुकान चलाता है। शुक्रवार की शाम करीब आठ बजे करिया दुकान से घर लौटा था। घर पर पत्नी सीमा (40) डेढ़ माह के बेटे और पांच माह की बेटी शिवानी के साथ थी। करिया का कहना है कि घर पहुंचने पर पता चला कि भोजन नहीं बना है। जब सीमा से खाना नहीं बनाने के बारे में पूछा तो विवाद खड़ा हो गया। करिया भी तैश में आ गया और सीमा पहले से गुस्से में थी। दोनों के बीच शाम को ही तीखी बहस हुई। सुबह करिया सो ही रहा था और गुस्से में रातभर जागी सीमा दोनों बच्चों को साथ लेकर निकल पड़ी। करिया ने सोचा कि सीमा बच्चों के साथ शौच के लिए जा रही होगी। गुस्से में होने के नाते उसने भी सीमा की ओर ध्यान नहीं दिया। सुबह आठ बजे तक जब सीमा नहीं लौटी तो करिया को भी चिंता होने लगी। पहले आसपास के लोगों से तहकीकात की। फिर जब सीमा का कुछ नहीं पता चला तो गांव के बाहर गया। गांव से सटे दशमी बगीचे में स्थित कुएं की ओर गया तो कुएं के भीतर से बच्चे की आवाज सुनाई दी। जब कुएं में झांका तो होश उड़ गए। कुएं में कम पानी होने के बावजूद सीमा और उसके डेढ़ माह के बच्चे का शव उतराया हुआ था। इसी कुएं में पांच साल की शिवानी चिल्ला रही थी। इसके बाद करिया ने भी चीखना चिल्लाना शुरू कर दिया। बगीचे के पास मौजूद गांव के लोग भी दौड़े। तुरंत गांव से रस्सा मंगाया गया। रस्से के सहारे सीमा का शव ऊपर निकाला गया। छोटे बच्चे का भी शव कुएं से बाहर लेकर आया। उधर, कुएं में चिल्ला रही शिावनी को भी निकाला गया। बाहर निकलते ही शिवानी बेहोश हो गई। तुरंत उसे पास के निजी चिकित्सक के यहां ले गए। यहां कुछ देर के उपचार के बाद शिवानी को होश आ गया। सूचना पर बरसठी थाने से भी दारोगा और सिपाही घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव को तो कब्जे में ले लिया लेकिन मायके वालों के पहुंचने से पहले करिया को हिरासत में लिए रखा। कुछ देर बाद सुरियावां के छगुना गांव निवासी महिला के पिता माता प्रसाद अपने छोटे भाई कन्हैया लाल के साथ पहुंचे। उन्हें भी रात वाली घटना की जानकारी दी गई। दोनों भाई बेटी का शव देख विलख पड़े। दोनों की मौजूदगी में पुलिस ने पंचायतनामा भरवाया और शव को कब्जे में लेकर थाने ले आई।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017