बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बढ़ती तपिश के साथ संक्रामक रोगों का हमला

Jalaun Updated Thu, 10 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उरई (जालौन)। बढ़ती तपिश के साथ ही शहर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में डायरिया व अन्य संक्रामक रोगों का प्रकोप भी बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में डायरिया व अन्य संक्रामक रोगों से पीड़ित 32 मरीजों को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। शहर व आसपास के गांवों में उल्टी दस्त, बुखार, डायरिया व अन्य संक्रामक रोगों का प्रकोप भी बढ़ने लगा है। जिला चिकित्सालय में सुबह से रात तक मरीजों का तांता लगा रहता है। बुधवार को सैकड़ाें मरीज जिला चिकित्सालय पहुंचे जिसमें 32 मरीजों की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। भर्ती मरीजों में सुशीलनगर निवासी खुशी (2), मंगला देवी (20), ग्राफ सरसौखी निवासी मनीष (10), कालपी निवासी मंजू (2), जालौन निवासी रामदुलारी (॔70), राजेंद्रनगर निवासी दीप्ती (26), आशा चौदह माह, पटेलनगर निवसी दीप (4), बाबूराम (42), परमानंद, हजारीपुरा निवासी इशांत (2), पट्टीपुरा निवासी रिंकू (33), काशीराम कालोनी निवासी श्रीमती प्रवीन (40), रामनगर निवासी श्रीमती रामजी, तिलक नगर निवासी महरखांन (28), मगराया निवासी शीलू (2), गिरथान निवासी अहिम छह माह, मलथुवा निवासी प्रियांशु, शांतीनगर निवासी संगम, शहजादपुरा निवासी सुमन देवी (28), बघौरा निवासी रेशमा, राठरोड निवासी वशंलाल, गोपालगंज निवासी अंश गुप्ता (5), अमखेड़ा निवासी सुहानी (1) सहित 32 मरीजों को भर्ती कराया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एके गुप्ता का कहना है कि गर्मी के मौसम में संक्रामक रोग, हीट स्ट्रोक (2), डायरिया एक आम समस्या है। डायरिया होने या लू लगने के कारण शरीर में पानी की कमी के साथ नमक, पोटेशियम, ग्लूकोज की कमी हो जाती है। जिसके चलते चक्कर आना, जी मिचलाना, घबराहट, अत्याधिक सिरदर्द, तेज बुखार, बेहोशी, उल्टीदस्त आदि होने लगते है। ऐसी स्थिति में यदि शीघ्र उपचार न कराया गया तो मरीज की मृत्यु भी संभव है। संक्रामक रोगों, हीट स्ट्रोक से बचने के लिए आम लोगों को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए।
विज्ञापन


बरतें एहतियात
रोगों से बचाव करने के लिए हल्का सुपाच्च एवं ताजा भोजन करने के साथ सभी को ताजे फल व सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इसके अलाव
शुद्ध पेय पदार्थों के इस्तेमाल के साथ भोजन हमेशा ढक कर रखना चाहिए। उल्टी दस्त की स्थिति में ओआरएस घोल का सेवन करना चाहिए साथ ही धूप से बचने का उपाय करना चाहिए।


यहां करें सूचित
मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि कही किसी प्रकार से संक्रामक रोगों के लक्षण दिखाई दे तो तुरंत पास के स्वास्थ केंद्र या कंट्रोल रुम के फोन नंबर 0562252516 पर सूचित करे। इसके अलावा लीकेज पाईप लाईन की सूचना तुरंत जल निगम या जल संस्थान को लिखित रुप से शिकायत करे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us