दुराचार की शिकार बच्ची का नहीं हुआ मेडिकल परीक्षण

Jalaun Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
उरई (जालौन)। डाक्टरों की लापरवाही से दुराचार की शिकार बच्ची का तीन दिन से मेडिकल परीक्षण नहीं किया जा रहा है। 29 अप्रैल को डकोर थाना क्षेत्र के ग्राम कहटा में पांच साल की बच्ची के साथ दुराचार किया गया था। शनिवार को सीएमएस को बच्ची का परीक्षण कराने की याद आई। उसके बाद बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया।
मालूम हो कि 29 अप्रैल को डकोर थाना क्षेत्र के ग्राम कहटा में बिस्कुट लेने गई पांच साल की बच्ची को दुकानदार फूल सिंह ने दुकान में खींचकर उसके साथ अप्राकृतिक मैथुन किया था। इस मामले में डकोर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर बालिका को चिकित्सीय परीक्षण के लिए महिला चिकित्सालय भेज दिया था। चिकित्सकों की लापरवाही के चलते उसका चिकित्सीय परीक्षण में हीलाहवाली की गई। शनिवार को सीएमएस डा. शांति मलिक को बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराने की याद आई। उन्होंने आनन फानन में बच्ची का चिकित्सकीय परीक्षण करवाया। पांच दिन से बच्ची अस्पताल और पुलिस के चक्कर लगा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls