जाम में फंसे, ठंड से अकड़े

Jalaun Updated Tue, 28 Jan 2014 05:47 AM IST
मुहम्मदाबाद (जालौन)। गुढ़ा-सिमिरिया मार्ग पर शनिवार को बालू लदे कई ट्रक सड़क पर गड्ढों में फंसकर खराब हो गए। इससे इस मार्ग पर तभी से जाम लगा है। सड़क के दोनों ओर कई किमी दूर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई है, इनमें ज्यादातर ट्रक हैं। जाम में फंसे वाहनों के चालक व अन्य लोग कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे ठिठुर रहे हैं, साथ ही भूख-प्यास से बेहाल हैं। दो दिन से जाम में फंसे होने से मोबाइल की बैटरी के जवाब दे देने से ट्रक चालकों का अपने मालिकों और परिजनों से भी संपर्क नहीं हो पा रहा है। वहीं, यातायात पूरी तरह से अवरुद्ध होने से गुढ़ा, सिमिरिया, बंधौली, ऐरी, रमपुरा के लोगों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है।
डकोर ब्लाक क्षेत्र के गुढ़ा-सिमिरिया मार्ग पर आधा दर्जन बालू घाट है। इन बालू घाटों से रोजाना बुलंदशहर, लखनऊ, कानपुर, इटावा, औरैया, मैनपुरी, कन्नौज आदि जगहों से सैकड़ों वाहनों की आवाजाही रहती है। गुढ़ा-सिमिरिया मार्ग खस्ताहाल होने से जगह-जगह गहरे गड्ढे हैं। यह मार्ग पूरी तरह क्षतिग्र्रस्त होने से 18 किमी तक सिंगल रोड है। बीते दिनों बरसात होने से गड्ढा युक्त सड़क पर जगह-जगह पानी भर गया है। इसके चलते शनिवार की शाम को बालू लदे कई ट्रक इन गड्ढों में फंसकर खराब हो गए। इसके बाद वहां जाम लग गया और एक के पीछे एक कर वाहनों की दूर तक लाइन लग गई। शनिवार की रात तक यातायात पूरी तरह अवरुद्ध हो गया। दो दिन से इस मार्ग पर लंबा जाम लगा है। बालू से लदे ट्रक सिंगल रोड होने की वजह से निकल नहीं पा रहे है। कुछ ट्रक कच्चे रास्ते पर उतरने से फंस गए हैं। यातायात अवरुद्ध होने से गुढ़ा, सिमिरिया, बंधौली, ऐरी, रमपुरा का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। ट्रकों के चालक-क्लीनर व जाम में फंसे अन्य राहगीर खुले आसमान के नीचे इस कड़ाके की ठंड में ठिठुर कर रात काट रहे हैं। यही नहीं भूख प्यास से भी बेहाल हैं। कुछ ट्रक चालक आसपास की बस्ती से जुगाड़ कर खाद्य सामग्री लाकर इधर-उधर से ईंधन का इंतजाम कर ट्रक के पास ही बैठकर खाना पका रहे हैं। ड्राइवर नफीस, पप्पू, भोला, गुलफाम, श्याम जी आदि ने बताया कि आसपास से लकड़ी बीनकर ताप रहे हैं। गांवों से आटा, मटर, आलू आदि लाकर खाना बना रहे हैं।
मोबाइल चार्ज न होने से अधिकांश चालकों का ट्रक मालिकों व अपने परिजनों से भी संपर्क नहीं हो पा रहा है। वहीं, कुछ ट्रक चालक क्रेन मंगाकर जाम खुलवाने का प्रयास कर रहे हैं। जाम व खराब सड़क की वजह से क्रेन भी मौके पर आसानी से नहीं पहुंच पा रही है। जाम लगने की वजह से मुख्यालय से पढ़ाने गांवों में जाने वाले टीचर एवं छात्र-छात्राएं स्कूल नहीं पहुंच पा रहे हैं। गांवों के दूधिए भी उरई मुख्यालय दूध नहीं ला पा रहे हैं, जिससे उनका काफी नुकसान हो रहा है। दूधिया जियालाल, रामहेत, कृष्णपाल का कहना है कि जाम के चलते साइकिल भी नहीं निकल पा रही है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls