झांसी मंडल डीआरएम ने किया स्टेशनों का निरीक्षण

Jalaun Published by: Updated Wed, 10 Jul 2013 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
उरई (जालौन)। झांसी मंडल के डीआरएम नवीन चोपड़ा ने झांसी से कानपुर की विद्युत ट्रेन शुरू करने के पहले शनिवार को निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि रेलवे विभाग युद्ध स्तर पर जुटा है। संरक्षा आयुक्त पीके वाजपेई के हरी झंडी दिखाने के बाद ही झांसी कानपुर रेल लाइन में विद्युत ट्रेन चलाने की अनुमति मिल सकती है। इस तरह दस जुलाई से इस मार्ग पर विद्युत ट्रेन चलने का निर्णय संरक्षा आयुक्त पर टिक गया है।
विज्ञापन

डीआरएम श्री चोपड़ा स्पेशल ट्रेन में सुबह 11 बजे उरई आए। अधीनस्थ अधिकारियों के साथ उरई रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। उन्होंने रेलवे स्टेशन तथा आरक्षण खिड़की प्लेटफार्म परिसर में साफ-सफाई ठीक न होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने स्टेशन प्रबंधक एपी वर्मा से कहा कि जो लोग पान खाकर प्लेटफार्म परिसर में थूकते हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई करो। उन्होंने रेलवे पार्सल कार्यालय से होने वाले सामानों का ब्योरा लिया।

इसके बाद डीआरएम ने अधीनस्थ अधिकारियों के साथ रेलवे कर्मचारियों की कालोनी का निरीक्षण किया। उन्होंने बरसात में पानी भर जाने के लिए नाले के निर्माण व पानी की निकासी के लिए साढ़े बारह लाख रुपये के बजट से कार्य करने की बात कही।
पत्रकारों से बताया कि विकलांगों के लिए रेलवे पुल में रोप वे बनाया जाएगा। फोन खराब होने से तीन साल से ट्रेनों के आवागमन के बारे की जानकारी नहीं मिल पाती है। इस पर उन्होंने कहा कि 15 दिनों के भीतर उरई रेलवे स्टेशन में एनटीइएस सिस्टम लगवा देंगे। जिससे यात्रियों को किसी भी ट्रेन के आने जाने के समय की सही जानकारी ली जाया करेगी। बताया कि एट रेलवे स्टेशन में शीघ्र आरक्षण की व्यवस्था शुरू हो जाएगी।
इस निरीक्षण के दौरान डीआरएम श्री चोपड़ा के साथ सीनियर डीसीएम राजेश कुमार, सीनियर डीएनएम कोआर्डिनेटर नवीन बाबू गुप्ता, इलैक्ट्रिक प्रोजेक्ट मैनेजर मुस्ताक अहमद, सहायक आयुक्त सुरक्षा आरपीएफ एनपीनूर, उरई रेलवे स्टेशन प्रबंधक एपीवर्मा, डिप्टी एसएस एसबी विश्वकर्मा, डिप्टी एमएल गौतम, जेपी अनुरागी, हेड टीसी आरके शाक्य, आरके सैनी, स्वास्थ्य निरीक्षक आरपीएफ थाना प्रभारी केबी शुक्ला तथा बाबा विश्वनाथ भी मौजूद थे।
इनसेट
स्टेशन के सामने भीड़ लगाने पर ऑटो चालकों का होगा चालान
उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश मंत्री तथा राजेश किराना, रेलवे सलाहकार समिति के मनोनीत सदस्य ने डीआरएम को बताया कि रेलगाड़ी आने पर आटो रिक्शा की भीड़ इकट्ठी हो जाती है। यात्रियों को निकलने में दिक्कत होती है। डीआरएम ने कहा कि रेलवे स्टेशन के गेट के सामने आटो रिक्शा की भीड़ लगाने वाले चालकों का आरपीएफ चालान करे।
इनसेट
झांसी से कानपुर तक दोहरी रेलवे लाइन 2017 तक
उरई। डीआरएम नवीन चोपड़ा ने बताया कि रेल मंत्रालय ने झांसी से कानपुर तक दोहरी रेल लाइन बिछाने की परियोजना को मंजूरी पहले ही दे दी थी। अब इसके लिए माह अगस्त 2013 तक टेंडर दिए जाने का कार्य शुरूहो जाएगा। इसके बाद झांसी से कानपुर तक दोहरी रेल लाइन बिछाने का कार्य शुरू होगा। दोहरी रेल लाइन बिछाने के का लक्ष्य वर्ष 2017 तक है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X