जोर से बोलो जय माता दी..से रात भर गूंजा शहर

Hathras Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
हाथरस। शहर में सोमवार को दुर्गाष्टमी की धूम रही। परंपरा के अनुसार कई घरों में अष्टमी के मौके पर ही कन्या-लांगुरा जिमाए गए। गली-मोहल्लों में बच्चों की चहल-पहल रही। देवी मंदिरों में दिन भर पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की जबरदस्त भीड़ रही। धक्का-मुक्की और मारामारी के बीच भक्तों ने महामाई का अभिषेक किया और भोग लगाया। दोपहर तक मंदिरों में लगी भक्तों की कतारें टूटीं नहीं थीं। पूरा माहौल घंटे-घड़ियालों की टंकार और महामाई के जयघोषों से गूंज रहा था। सोमवार को भोर की पहली किरण से ही मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए भक्त जुटने लगे थे। घर-घर में पहले अज्ञारी की गई। भक्तों ने सपरिवार देवी की आरती गाई और घर में शांति और समृद्धि की कामना की। इसके बाद मंदिरों में देवी के जलाभिषेक के लिए भक्तों की भीड़ लग गई। सोमवार कोे शहर के सभी देवी मंदिरों का हाल कमोबेश एक जैस ही था। देवी के दर्शनों के लिए मंदिरों में भक्तों की लंबी लाइन में लगी हुई थी। मंदिर के अंदर देवी के जलाभिषेक को मारामारी मची रही। सुरक्षा कर्मियों को व्यवस्था संभालने में मशक्कत करनी पड़ी। सीयल खेड़ा स्थित पथवारी देवी, मुरसान गेट बौहारे वाली देवी मंदिर, तालाब चौराहा स्थित मशानी देवी मंदिर, रमनपुर चामुंडा मंदिरों में भी भक्तों की जबर्दस्त भीड़ रही। दोपहर तक मंदिरों में ओ मैया हम सब उतारें तेरी आरती के स्वर गूंजते रहे। दोपहर को साफ-सफाई के बाद इन मंदिरों में देवी के मनोहारी शृंगार किए गए। शाम से ही यहां देवी के दर्शनों के लिए भक्तों की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई। देर रात तक मंदिरों में देवी के दर्शनों को भक्तों का तांता लगा रहा।

कई घरों में दुर्गा अष्टमी के मौके पर हुआ कन्या पूजन
दुर्गा अष्टमी के मौके पर कई घरों में सोमवार को कन्या पूजन हुआ। लोगों ने पहले घरों में विधिविधान से देवी मां की अज्ञारी पूजा की और उसके बाद कन्या और लांगुराओं को जिमाया गया। बच्चों को सामर्थ्यानुसार दक्षिणा और उपहार भी दिए गए। दोपहर तक बच्चों की टोलियां गली-मोहल्लों में चुहल करती नजर आईं।
--------
मंदिरों में भीड़ के लिए सुरक्षा इंतजाम दिखे न काफी
दुर्गाष्टमी के मौके पर देवी मंदिरों में काफी भीड़ दिखी। मंदिरों में आने वाले भक्तों की सुविधा के लिए सुरक्षा के कोई खास इंतजाम नहीं दिखे। बौहरे वाली देवी मंदिर में सबसे ज्यादा भीड़ की संभावना को देखते हुए यहां सुरक्षा के लिहाज से बेरीकेडिंग करवाई गई थी। सुबह मंदिरों में कहीं भी कोई पुलिस वाला दिखाई नहीं दिया। बोहरे वाली देवी मंदिर पर जरूर इंतजाम कुछ चुस्त थे। यहां अलग-अलग बेरीकेडिंग से महिला और पुरुष भक्त देवी के दर्शनों के लिए मंदिर में पहुंच रहे थे।
---
दंडौती परिक्रमा कर भक्त पहुंचे मां के द्वार
दुर्गाष्टमी के मौके पर शहर में दंडौती परिक्रमा लगाई गई। शहर के विभिन्न हिस्सों से भक्तों के जत्थे बौहरे वाली देवी मंदिर तक दंडौती परिक्रमा कर के पहुंचे। पूरी रात शहर की सड़कों पर परिक्रमार्थियों के जत्थे दंडवत करते हुए बौहरे वाली देवी के दरबार की तरफ बढ़ते हुए नजर आए। पत्थर से एक-एक कदम की दूरी को सड़क पर लेटकर तय किया जा रहा था। पूरा शहर परिक्रमार्थियों के मुंह से निकल रहे जोर से बोलो जय माता दी, सारे बोलो जय माता दी, सब मिल बोलो जय माता दी के उद्घोषों से गूंज रहा था।
--
दंडौती परिक्रमा से रहे जाम के हालात
दंडौती परिक्रमा के चलते शहर में आगरा-अलीगढ़ और मथुरा रोड पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। परिक्रमार्थियों की सुविधा के लिए यहां ट्रैफिक को पल-पल रोका जा रहा था। खासकर भारी वाहनों की इन रास्तों पर लाइन लग गई। पथवारी देवी मंदिर से दंडौती परिक्रम लगाते हुए बौहरे वाली देवी मंदिर जा रहे भक्तों की भीड़ को देखते हुए मुरसान गेट घास मंडी चौराहे पर पुलिस बल को तैनात किया गया था।
----
गंदगी और सड़कों के गड्ढों से दुखी हुए भक्त
दंडौती परिक्रमा पर निकले भक्तों का रास्ता कई जगहों पर सड़कों के गड्ढों और कूडे़-करकटों ने रोका। भक्तों को इन गड्ढों ओर कूड़े के ढेरों से होकर देवी के दरबार तक पहुंचना पड़ा। मुरसान गेट को छोड़ दें तो बाकी सभी रास्तों पर गंदगी से भक्त काफी दुखी थे और उनमें पालिका प्रशासन के प्रति नाराजगी दिखाई दी। इतने बड़े त्योहार के बावजूद पालिका प्रशासन ने सफाई इंतजामों में कोई रुचि नहीं दिखाई।
---
कौने-कौने से निकाली गई झांकियां
दुर्गाष्टमी की रात को शहर में कई जगहों से देवी की मनोहारी झांकियां निकाली गईं। कौने-कौने से यह झांकियां देवी के भजन-कीर्तन के बीच प्रमुख मार्गों से होती हुईं बौहरे वाली देवी मंदिर तक पहुंच रही थीं। आधी रात तक इन झांकियों में बज रहे भक्ति संगीत से शहर गूंज रहा था।
---
परिक्रमार्थियों की सेवा-सुश्रुसा की लगी होड़
परिक्रमार्थियों की सेवा-सुश्रुसा के लिए जगह-जगह भक्तों ने कैंप लगाए थे। कहीं पूड़ी-सब्जी, कहीं चना-हलुवा, कहीं चाय-पान, कहीं गर्म दूध तो कहीं शर्बत वितरित किया जा रहा था। सेवादार परिक्रमार्थियों को रोक-रोक कर प्रसाद दे रहे थे। परिक्रमार्थियों के लिए बीड़ी, सिगरेट, चाय और नाश्ता तक की व्यवस्था थी।
---
इस मौके पर बच्चों को लोगों ने गिफ्ट भी दिए
शहर में आज दुर्गा नवमी की धूम रहेगी। दुर्गानवमी पर भी शहर में देवी मंदिरों को जाने वाले रास्तों पर मेले की छटा बिखरेगी। भक्तों ने जगह-जगह स्टालें लगाकर पूड़ी-सब्जी और चना-हलुवा का प्रसाद वितरित करने की तैयारी कर ली है। सबसे ज्यादा रौनक मुरसान गेट बौहरे वाली देवी मंदिर को जाने वाले रास्ते पर रहेगी। शहर में दुर्गानवमी के मेले का यही प्रमुख केंद्र होगा।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper