मानवता ढूंढे़ मिली नहीं, उसे मानव बम बनते देखा..

Hathras Updated Tue, 09 Oct 2012 12:00 PM IST
हाथरस। मेला श्रीदाऊजी महाराज के पंडाल में रविवार की रात को कवियित्री सम्मेलन ने धूम मचाई। देश के कई जगहों से जमा हुईं कवियित्रियों ने हास्य, व्यंग, ओज और शृंगार रस की कविताओं से श्रोताओं पर ऐसा जादू चलाया कि पूरी रात पंडाल वाह-वाह की आवाजों और तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा।
सम्मेलन की शुरुआत पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय और एमएलसी विवेक बंसल की पत्नी अलका बंसल ने मां सरस्वती के छवि चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्ज्वलित कर की। इस मौके पर साहित्य सेवा के लिए मूल रूप से हाथरस की रहने वाली मेरठ की मीराबाई, मुरसान के ब्लॉक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय, सम्मेलन संयोजक मीरा दीक्षित, चंद्रगुप्त विक्रमादित्य, प्रशांत शर्मा, सीओ सिटी आरपी सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य ऊषा गुप्ता, राजू लाला, संजय शर्मा बीबीसीएन और मेला लिपिक रवि शर्मा का शाल उढ़ाकर अभिनंदन किया गया। सम्मेलन की शुरुआत देश के जाने-माने ज्योर्तिविद डॉ. अशोक शर्मा को श्रद्धांजलि से की गई। मुख्य अतिथियों ने डॉ. अशोक शर्मा स्मृति सम्मान से मातृ छाया सधना केंद्र की प्रधानाचार्य श्रीमती संतोष शर्मा को सम्मानित किया। संचालन की कमान कवि अनिल बौहरे ने संभाली। कवियित्रियों से तीखी नोक-झोंक से उन्होंने श्रोताओं को खूब हंसाया।
लखनऊ की कविता तिवारी ने मेरे ईश्वर मेरे दाता, मैं कविता मांगी तुझसे, युवा पीढ़ी संभलकर विवेकानंद हो जाए, सुनाकर श्रोताओं की वाहवाही लूटी। जबलपुर की अर्चना अर्चन ने हंसी मौसम नहीं होता, हंसी सावन नहीं होता, अगर राधा नहीं होती तो ये मोहन नहीं होता, सुनाई। भोपाल की सुमन सोलंकी ने संगीत के सुरों में संवरती सी धुन हुई, मैं दिल की तिजोरी में रखा गुप्त धन हुई, सुनाई। मेरठ की मीराबाई ने इस विकसित होते जग में, पापों का विकास होते देखा, मानवता ढूंढे मिली नहीं, उसे मानव बम बनते देखा, सुनाकर तालियां बटोरीं। दिल्ली की श्वेता सरगम ने हमने तुम्हारी याद में पलके चिंगरे लिए, दिन में उदासी छा गई, रातों को रो लिए, सुनाई। जयपुर की प्रतिभा शुक्ला ने भ्रूण हत्या पर कविता पढ़ी तो मोनी देहलवी ने चारे में किया घोटाले रे सुनाई। अध्यक्षता दूरदर्शन की उद्घोषिका डॉ. मीनाक्षी शास्त्री ने की व आभार व्यक्त कवियित्री मीरा दीक्षित ने किया।
व्यवस्था में बलवीर सिंह वर्मा, गुलशन खांडे, राजीव राज, बंशी वार्ष्णेय, कपिल नरुला, नवल नरुला, जयशंकर पाराशर, पवन अग्रवाल, कामता प्रसाद दीक्षित, नीरू पाठक, विजय सिंह प्रेमी, पवन कश्यप, आरपी दीक्षित, हरीओम शर्मा, शाहिद भाई थान सिंह कुशवाहा आदि का सहयोग सराहनीय रहा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper