नायब तहसीलदारों के कमरे में घुसी भीड़, हंगामा

Hathras Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
हाथरस। लोकवाणी केंद्र बंद होने के बाद तहसील में प्रमाण पत्रों की व्यवस्था संभल नहीं पाई है। बुधवार को फिर तहसील में प्रमाण पत्र लेने के लिए उमड़ी भीड़ ने जमकर हंगामा किया। यह लोग महीनों की भागदौड़ के बावजूद सर्टिफिकेट न मिलने से गुस्से में थे। गुस्साई भीड़ नायब तहसीलदार के कमरों में भी घुस गई और जमकर हाय-तौबा मचाई। तहसील और सुरक्षा कर्मियों ने इन्हें रोकने का प्रयास किया तो परेशान लोग इनसे भी उलझ गए और खरी-खोटी सुना डालीं। पब्लिक का गुस्सा देखकर नायब तहसीलदार मनोज वार्ष्णेय और सुबोधमणि शर्मा ने लोकवाणी केंद्र में रखे सभी बने और अधबने प्रमाण पत्रों को अपने कमरों में मंगवा लिया और उन पर तेजी से साइन करने शुरू किए। भीड़ के सामने ही प्रमाण पत्रों को साइन करके उनका हाथों-हाथ वितरण कराया गया। तब जाकर हंगामा शांत हुआ। नायब तहसीलदारों का कहना है कि प्रमाण पत्रों पर दस्तखत करने का यह काम अब रात-दिन चलेगा। अगले चार-पांच दिन में सभी लंबित सर्टिफिकेट निपटा दिए जाएंगे। आवेदकों का गुस्सा भी जायज था। इनमें से किसी के वजीफा फार्म भरने की डेट निकली जा रही है। किसी का एडमिशन कैंसल होने वाला है तो किसी को आईएएस की कोचिंग की काउंसलिंग में हिस्सा लेना है। ज्यादातर आवेदक ऐसे थे, जिन्हें गुरुवार को हर हाल में वजीफे के लिए फार्म भरना है, वरना उन्हें वजीफा नहीं मिल पाएगा। हर आवेदक हड़बड़ी और गुस्से में नजर आया। सबका कहना था कि आज कुछ भी हो जाए, लेकिन वह यहां से सर्टिफिकेट लेकर ही जाएंगे। नायब तहसीलदार मनोज वार्ष्णेय ने जब लोकवाणी से मिले रिकार्ड का मिलान किया तो उसके हिसाब से 850 फार्मों का कोई अता-पता नहीं था। नायब ने लोकवाणी के स्टाफ को सख्त हिदायत दी कि वह तत्काल इन गायब फार्मों को खोजकर उनके सामने पेश करें, वरना उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी जाएगी। इसके बाद आनन-फानन लोकवाणी स्टाफ ने तकरीबन साढ़े 300 लापता फार्म तो नायब के सामने पेश कर दिए, जबकि बाकी 500 फार्मों को भी शाम तक पेश करने का आश्वासन दिया। प्रमाण पत्रों के वितरण के लिए अब पुरानी व्यवस्था बहाल कर दी गई है। प्रमाण पत्रों का काम तीन लिपिकों में बांटा गया है। जाति प्रमाण पत्र का काम मकसूद आलम, आय प्रमाण पत्र का काम राजेश अग्रवाल और मूल निवास प्रमाण पत्र का काम महेशचंद्र शर्मा को दिया गया है। अब यह प्रमाण पत्र इन तीनों लिपिकों के स्तर से ही जारी किए जाएंगे। लोकवाणी से बने प्रमाण पत्रों में थोक के भाव गड़बड़ियां निकल रही हैं। ज्यादातर सर्टिफिकेट में आवेदकों का नाम ही गलत कर दिया गया है। कुछ में उनकी बल्दियत तो कुछ में उनके पते और पेशे को ही बदल दिया गया है। जाति प्रमाण पत्रों में जातियां भी बदल दी गई हैं। ऐसे तकरीबन 150 प्रमाण पत्र साइन के दौरान नायब तहसीलदारों ने खुद पकड़े हैं और इन्हें सुधरवाने के लिए लोकवाणी केंद्र को दिया गया है। अनुमान है कि और भी सर्टिफिकेटों में ऐसी गलतियां निकल सकती हैं। सवाल यह है कि जब कंप्यूटर प्रिंट ही गलत होगा तो यह प्रमाण पत्र इंटरनेट पर कैसे मैच हो पाएंगे।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper