खुलूस और अकीदत के बीच मनाया ईद-उल-फितर

Hathras Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
हाथरस। जिले भर में ईद-उल-फितर का त्योहार खुलूस और अकीदत के बीच मनाया गया। हजारों अकीदतमंदों ने सोमवार की सुबह मुरसान गेट ईदगाह पर कड़ी हिफाजत के बीच नमाज अदा की और परवरदिगार से मुल्क और कौम की सलामती की दुआ मांगी। खुदा के सजदे में झुके हजारों सिर जैसे ही एक साथ आसमान की तरफ उठे तो पूरा माहौल अल्लाह-ओ-अकबर की आवाजों से गूंज उठा। करीब आधा घंटे तक चली नमाज के बाद सभी ने एक-दूसरे को गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी। दिन भर मुबारकबाद का यह दौर चलता रहा। मुकर्रिर वक्त से पहले ही मुरसान गेट ईदगाह पर अकीदतमंदों का जुटना हो गया था। पूरा ईदगाह परिसर नमाजियों की भीड़ से फुल हो गया तो नमाजियों ने सड़क पर ही जानमाज और चादर बिछाकर बैठना शुरू कर दिया। ईदगाह से लेकर लाल भैरव तक की पूरी सड़क अकीदतमंदों की भीड़ से पट गई। चारों तरफ सिर ही सिर नजर आने लगे। इससे पहले कुरान की आयतों से तकरीरें पेश करते हुए शहर मुफ्ती मुहम्मद इमरान कासमी ने मुल्क में मुसलमानों के हालातों पर फिक्र जताई और हुकूमतों से मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों को रोकने की मांग की। उन्होंने कहा कि अपनी बेहतरी का रास्ता मुसलमानों को खुद चुनना होगा। तरक्की के लिए तालीम को हथियार बनाना होगा। बच्चों को दीनी तालीम दिलाने पर जोर दिया। रमजान की अहमियत समझाते हुए बोले कि रोजा हर मुसलमान पर एक कर्ज है, जिसे सभी को चुकाना होगा। ईद की नमाज के बाद रोजेदारों को 1 किलो 633 ग्राम गेहूं का फितरा दान करना चाहिए। इससे दो फायदे होते हैं। एक तो गरीबों की ईद मन जाती है और दूसरे रोजों में जो कमी रहती है, वो पूरी हो जाती है। इसके बाद मुफ्ती ने नमाज अदा कराई। सभी लोगाें ने मिलकर अल्लाह ताला से परेशानियों से निजात और तरक्की की दुआ मांगी।
नमाज के बाद अकीदतमंदों में एक-दूसरे को मुबारकबाद देने की होड़ लग गई। क्या छोटे और क्या बड़े, सभी ने एक-दूसरे को गले लगाया और ईद की मुबारकबाद दी। मुबारकबाद देने लोग एक-दूसरे के घरों को भी गए। वहां सेवइयां, चावल, गोश्त, बिरयानी जैसे जायकेदार व्यंजनों से मेहमानों की खातिरदारी की गई। दिन भर यह सिलसिला चलता रहा। जगह-जगह खैरात बांटी गईं। लोगों ने फितरा में गेहूं का दान किया। मुरसान गेट के पूरे रास्ते में कदम-कदम पर खैरात लेने वाले जमे हुए थे। शाम तक मुसलिम बस्तियों में जश्न की रौनक बिखरी रही। शहर के एकमात्र सिनेमाघर में दिन भर भीड़ उमड़ी। आधी रात तक यहां सभी शो हाउसफुल हो चुके थे। टिकट भी मुश्किल से मिल पा रही थी। मुसलिम परिवारों ने ईद के इस खास मौके पर अपने परिजनों और रिश्तेदारों के साथ फिल्म एक था टाइगर का लुत्फ लिया। नमाज के दौरान ईदगाह पर सुरक्षा के तगड़े इंतजामात रहे। खुद डीएम चैत्रा वी. और एसपी हैप्पी गुप्तन की अगुवाई में पुलिस व प्रशासनिक अफसरों का अमला वहां नमाज खत्म होने तक डटा रहा। भीड़ को संभालने का जिम्मा एसडीएम सदर मदनचंद्र दुबे और सीओ सिटी आरएस चौहान संभाले हुए थे। दोनाें अधिकारी पूरे समय नमाज स्थल पर व्यवस्था बनाए रखने में पसीना बहाते रहे। चप्पे-चप्पे पर मौजूद पुलिस और पीएसी के जवान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए मुस्तैद नजर आए।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

बवाना कांड पर सियासत शुरू, भाजपा मेयर बोलीं- सीएम केजरीवाल को मांगनी चाहिए माफी

दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम अवैध पटाखा गोदाम में आग लगने से 17 लोगों की मौत के बाद अब इस पर सियासत शुरू हो गई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper