मेले की बदहाली से लोगों में आक्रोश

Hathras Updated Fri, 10 Aug 2012 12:00 PM IST
हाथरस। ब्रज क्षेत्र के लक्खी मेला श्रीदाऊजी महाराज की शुरूआत होने में केवल डेढ़ महीना बाकी है, लेकिन जिला प्रशासन ने मेले की तैयारियों को लेकर उदासीनता ओढ़ रखी है। शायद प्रशासन भूल रहा है कि मेला परिसर में पसरी बदइंतजामी दूर करने के लिए डेढ़ महीने का समय भी कम पड़ सकता है। मेले से पहले यहां प्रशासन को काफी काम कराना होगा। मेला परिसर में हर जगह बदहाली बिखरी है, जिसे मेले से पहले दूर कराना प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा। लेकिन प्रशासन की चुप्पी इशारा कर रही है कि वह मेले को लेकर इस बार ज्यादा गंभीर नहीं हैं। यही वजह है कि अभी तक मेला रिसीवर जिलाधिकारी मेला परिसर के मुआयने की भी फुर्सत नहीं निकाल पाई हैं। इसको लेकर लोगों को आशंका है कि कहीं ऐनवक्त पर मेले की तैयारियों के नाम पर लीपापोती कर दी जाए। अगर ऐसा हुआ तो निश्चित रूप से मेले के आयोजन के नाम पर लकीर ही पिटकर रह जाएगी।
मेला मंच का गेट उखाड़ा, टाइल्स भी नोंच लिए
बात मेला मुख्य मंच से ही शुरू करते हैं। लाखों खर्च करके कीमती चीजों से सजा यह मंच मेले के बाद चोरों के खास निशाने पर रहता है। इस बार भी चोरों ने न केवल मंच के किनारे लगी लोहे की रैलिंग का एक गेट उखाड़ लिया है, बल्कि मंच के खंभों पर लगे कीमती टाइल्स भी गायब हैं।
मेकअप रूम का गेट उखाड़ने की कोशिश
मेकअप रूम को भी नहीं बख्शा। इसका दरवाजा उखाड़ने के लिए चौखट के आस-पास की दीवार को तोड़ने का भी प्रयास किया गया है, जिसके निशां इस पर साफ दिख रहे हैं। अगर ध्यान नहीं दिया तो हो सकता है कि असामाजिक तत्व मेकअप रूम को ही नेस्तनाबूद न कर दें। मेले से पहले मंच की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए मरम्मत के कामों की सख्त जरूरत होगी।
सुलभ शौचालयों को बना डाला खंडहर
मेला पंडाल के दाहिनी तरफ टीले पर पर्यटन निगम द्वारा बनाए गए सुलभ शौचालयों को भी चोरों ने तहस-नहस कर दिया है। शौचालयों की सेनेटरी फिटिंग गायब है। लाइटिंग फिटिंग को भी उखाड़कर ले गए। पानी सप्लाई की पाइप लाइनें भी उखाड़ ली गईं। अब इन शौचालयों में ऐसा कुछ भी नहीं बचा है, जिससे मेले में आने वाले मुसाफिर इनका इस्तेमाल कर सकें यानि लाखों रुपये खर्च करके बना यह सामुदायिक कांपलेक्स दो साल में ही खंडहर बन गया है।
ओवरहैड टैंक बेकार, कैसे मिलेगा पानी
सुलभ शौचालयों के नजदीक ही वाटर सप्लाई के लिए बने ओवरहैड टैंक को भी चोरों ने बेकार कर दिया है। चोरों ने न केवल टंकी में पानी पहुंचाने के लिए लगीं पाइपें उखाड़ डाली हैं, बल्कि इसकी सबमर्सिबल को भी गायब कर दिया है, जिससे टंकी भरने का ही कोई साधन नहीं बचा है तो इससे पानी की सप्लाई कैसे हो सकती है। यही वजह है कि मेला क्षेत्र में हर साल पानी की जबरदस्त किल्लत रहती है।
कच्ची जमीन बन जाएगी दलदल
मेला के मुख्य पंडाल के आस-पास जलभराव रोकने के लिए खाली जगह को भी पक्का कराने की योजना थी, लेकिन इस साल अभी तक मेला पंडाल में ऐसा कोई भी काम शुरू नहीं हुआ है। नतीजा, कच्ची जगह बारिश में दलदल बन चुकी हैं और इन पर चलना-फिरना भी मुश्किल हो रहा है। अगर मेले में भी यही हालात रहे तो पब्लिक को मुश्किल हो सकती है।
तो नहीं होगी हाईमास्ट लाइटों की रोशनी
मेला परिसर में रोशनी के लिए पर्यटन निगम से लगीं हाईमास्ट लाइटें भी महीनों से बंद हैं। पिछले साल तक तो ऊर्जा मंत्री की वजह से इन लाइटों को बराबर मुफत बिजली मिलती रही, लेकिन सत्ता परिवर्तन के बाद इनकी बिजली बंद हो चुकी है। हालांकि प्रशासन इन्हें नगर पालिका को हैंडओवर कर चुकी है, लेकिन बिल के खर्चे के डर से पालिका भी इनकी जिम्मेदारी उठाने से बच रही है। ऐसे में मेले में हाईमास्ट लाइटों की रोशनी नहीं फैल सकेगी।
रेवती मैया पंडाल कैसे होगा तैयार
मेला पंडाल के पिछवाड़े बने रेवती मैया पंडाल पर भी मेले से पहले काफी काम होना है। फिलहाल यह पंडाल जलभराव से दलदल बना हुआ है, जबकि पंडाल की जगह पर सर्कस या कोई बड़ा खेल तमाशा लगता है, जिससे मेला ठेकेदार को बड़ी आमदनी मिलती है। अगर यह पंडाल मेले से पहले तैयार नहीं हुआ तो ठेकेदार को बड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता है।
हम मेला परिसर के पास के ही रहने वाले हैं। हम लोग मेले के बाद पंडाल और मंच को अपनी सुविधा के लिए इस्तेमाल कर लेते हैं, लेकिन यहां होने वाली चोरी की घटनाओं से हम बहुत परेशान हैं। इसकी देखभाल का इंतजाम होना चाहिए।
मलखान सिंह, स्थानीय निवासी
मेले के बाद प्रशासन यहां की संपत्तियों की देखभाल को भूल जाता है। इसी वजह से चोर यहां मनमानी करते रहते हैं। देखभाल के लिए चौकीदार होना चाहिए। - रमेशचंद्र, स्थानीय निवासी
मेला आयोजन में बहुत कम समय रह गया है। इसकी तैयारियां अब तो शुरू हो जानी चाहिए। लेटलतीफी से मेले के विकास पर असर पड़ सकता है। हरीश कुमार शर्मा, अध्यक्ष साधक समिति
यह मेला हाथरसवासियों की आस्था से जुड़ा है। इसकी इतनी उपेक्षा ठीक नहीं है। प्रशासन को इसकी संपत्तियों के संरक्षण पर ध्यान देना चाहिए और मेले से पहले इनकी मरम्मत करानी चाहिए, ताकि मेले के समय इनसे दिक्कत न हो।
अतुल आंधीवाल एडवोकेट, समाजसेवी
14 को तहसील में होगी मेले की बैठक
मेला की तैयारियों पर विचार-विमर्श के लिए डीएम के निर्देश पर मेलाधिकारी एसडीएम सदर मदनचंद्र दुबे 14 अगस्त को दुपहर दो बजे से तहसील के बार हाल में बैठक करेंगे। शहर के सभी समाजसेवियों व आम-ओ-खास लोगों को बैठक में हिस्सा लेने का न्योता भेजा गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls