जबरदस्ती जमीन ली तो करेंगे आंदोलन

Hathras Updated Sat, 07 Jul 2012 12:00 PM IST
सासनी। रेलवे फ्रेट कारीडोर के लिए भूमि अधिग्रहण का फरमान जारी होने के बाद किसानों में खलबली मच गई है। इसको लेकर किसानों ने शुक्रवार को तहसील परिसर में बैठक की। बैठक के बाद किसानों ने अपनी मांगों को लेकर कामरेड बाबू सिंह थंभार के नेतृत्व में कमिश्नर के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में चेतावनी दी है कि जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाती तब तक किसान अपनी जमीन नहीं देंगे और आंदोलन जारी रखेंगे।
किसानों ने एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में मांग की है कि भूमि के रेटों की विविधता समाप्त की जाए। किसानों को बोनस के रूप में मिलने वाले 20 हजार रुपये समाप्त करने का आदेश वापस लिया जाए। सीमांत से लघु किसान बनने पर किसान को मिलने वाले 75 हजार रुपये भी दिलाए जाएं। प्रभावित किसान के परिवार के एक सदस्य को रेलवे में नौकरी दिलाई जाए। किसानों को रायल्टी दिलाई जाए। तहसील से कागजात तैयार कराने पर किसानों से की जा रही लूट बंद कराई जाए। केंद्र सरकार द्वारा तैयार मसौदा एवं घोषणा नौकरी या 5 लाख लागू की जाए। प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा बाजारू रेट का 6 गुना तथा प्रभावित परिवार के एक सदस्य को नौकरी को अमल में लाया जाए। यदि किसानों की मांगों पर अमल नहीं किया गया तो किसान अपनी भूमि का अधिग्रहण नहीं होने देंगे। अगर सरकार ने जबरदस्त जमीन हथियाने की कोशिश की तो किसान आंदोलन करने पर मजबूर होंगे। ज्ञापन देने वालों में रामप्रकाश शर्मा, तेज सिंह, ओम प्रकाश, केशव देव, गेंदा सिंह, ज्वाला सिंह, सुरेश चंद्र, लटूरी सिंह, खजान सिंह, हर प्रसाद, धर्मेंद्र कुमार, डोरी लाल शर्मा, संदीप कुमार, ऐदल सिंह, कुंवर पाल, मुरलीधर, भगवानदास, भूदेव प्रसाद, लेखराज, वीरपाल सिंह, दिनेश कुमार, कुसुमा, देवी प्रेमपाल सिंह, महताब सिंह, होडिल सिंह, राजेंद्र सिंह, राम कुमार, महेंद्र सिंह, पुनीत कुमार, जय पाल सिंह, राजपाल सिंह आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls