विज्ञापन

अब हाईपॉवर कमेटी देगी अश्वनी को गनर

Hathras Updated Tue, 08 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हाथरस। पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के खिलाफ लोकायुक्त में शिकायत करने वाले अश्वनी शर्मा को स्थानीय स्तर पर सुरक्षा देने के साथ-साथ जिला प्रशासन ने सूबे की हाईपॉवर कमेटी से भी सुरक्षा मुहैया कराने की संस्तुति कर दी है। साथ ही, शासन से सुरक्षा गार्ड न मिलने तक अश्वनी को जिले से बाहर न जाने का सुझाव भी दिया है। अगर वे जिले से बाहर जाते हैं तो उन्हें सुरक्षा नहीं मिल पाएगी। इधर, प्रमुख सचिव गृह के स्तर से अश्वनी को धमकी मामले में मंडल मुख्यालय से जांच रिपोर्ट तलब की गई है। लोकायुक्त में पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय की कई शिकायतें कर चर्चा में आए अश्वनी शर्मा ने पिछले दिनों अपनी सुरक्षा की मांग की थी। उसने आशंका जाहिर की थी कि उस पर जानलेवा हमला हो सकता है। उसने अपनी हत्या की आशंका भी जाहिर की थी। इस पर एसपी के आदेश पर उसे दो सुरक्षाकर्मी उपलब्ध करा दिए गए थे। अश्वनी ने पुलिस प्रशासन से यह भी कहा था कि वह बाहर जाएं, तब भी उसे सुरक्षा मिलनी चाहिए, क्योंकि उन्हें अक्सर बाहर जाना पड़ता है, लेकिन अभी अश्वनी को बाहर जाने के लिए सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जा सकती। इस पर हाथरस की एसपी हैप्पी गुप्तन का कहना है कि अश्वनी ने सुरक्षा मांगी थी, उसे स्थानीय स्तर पर सुरक्षा मुहैया करा दी गई है। मगर उन्हें जनपद से बाहर सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराई जा सकती। इसके लिए शासन को निर्णय लेना होगा। इधर, पता चला है कि जिला प्रशासन की ओर से अश्वनी को सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए जाने के संबंध में सूबे की हाईपॉवर कमेटी को रिपोर्ट संस्तुति सहित भेज दी गई है। इस पर जल्द ही शासन स्तर से निर्णय लिया जाना है। वहां से निर्देश मिलते ही अश्वनी को गार्ड मुहैया करा दिए जाएंगे, जो उनके साथ कहीं भी जाने पर रहेंगे। इधर, अश्वनी द्वारा गृह विभाग में की गई खुद को पूर्व मंत्री समर्थकों द्वारा धमकाए जाने के मामले में प्रमुख सचिव गृह की ओर से कमिशभनर व डीआईजी से जांच रिपोर्ट तलब की गई है, जिसकी जांच अभी जिला मुख्यालय स्तर पर लंबित है। वह जल्द ही पूरी होनी है। यह जांच लोकल इंटेलीजेंस व राजपत्रित स्तर के अधिकारी से कराई जा रही है। पूर्व ऊर्जा मंत्री के खिलाफ लोकायुक्त में की गई शिकायतों में कई गंभीर आरोप लगे हैं। इनमें अपने और परिवार के नाम आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के अलावा हनुमान प्रसाद पोद्दार के मालिकाना हक वाले आबादी के जमुना बाग को कृषि भूमि दर्शा कर सस्ती कीमत में उसकी रजिस्ट्री कराने और कब्जाने, दाऊजी मंदिर में विधायक निधि की रकम का गलत प्रयोग होने, अदालत के आदेश के बावजूद शहर के प्रमुख हरि नेत्र चिकित्सालय पर नियम विपरीत कब्जाने, लेबर कालोनी के पार्क का स्वरूप बदलकर कब्जा करने, भाई की नियम विपरीत पदोन्नति, पीडब्ल्यूडी की टेंडर प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर अपने करीबी आशीष शर्मा और भाई की पत्नी कल्पना उपाध्याय की कंपनी को गलत तरीके से तमाम सरकारी ठेेके दिलाने आदि गंभीर आरोप लगे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us