निर्माण कार्यों में सुस्ती पर बरसे सीएम के दूत

Hathras Updated Fri, 24 Jan 2014 05:44 AM IST
हाथरस। अल्पसंख्यक कल्याण एवं मुस्लिम वक्फ बोर्ड के प्रमुख सचिव देवेश चतुर्वेदी ने शासन की प्राथमिकताओं के तहत जिले में निर्माण कार्य और विकास योजनाओं का मुआयना किया। उन्होंने निर्माणाधीन कांशीराम आवास, हाथरस-जलेसर मार्ग स्थित ऊपरगामी पुल और पीएचसी चंदपा का निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव ने कार्यदायी संस्थाओं को स्वीकृत कार्य योजनाओं को गुणवत्ता सहित समय से पूरा करने के बारे में कड़ी हिदायत दी।
प्रमुख सचिव देवेश चतुर्वेदी ने जिले में भ्रमण के पहले दिन कांशीराम शहरी गरीब आवास योजना के अंतर्गत जलेसर रोड पर तृतीय चरण में निर्माणाधीन 952 आवासों का निरीक्षण किया। आवास-विकास परिषद के अधिशासी अभियंता नागेशचंद्र ने मौके पर बताया कि तृतीय चरण में 25 करोड़ 70 लाख रुपये की लागत से निर्माणाधीन 952 आवासों के लिए अभी तक 24 करोड़ 50 लाख रुपये प्राप्त हुआ है, जिसमें से 22 करोड़ 56 लाख रुपये खर्च किया जा चुका है और कांशीराम आवास का निर्माण मार्च 2014 में पूरा हो जाएगा। प्रमुख सचिव ने निर्माणाधीन आवासों की मौके पर गुणवत्ता भी जांची। फर्श के समतल न होने, दीवारों का प्लास्टर बेतरतीब होने और खराब फिनीशिंग पर नाराजगी जताई। गुणवत्ता में सुधार लाने की सख्त हिदायत दी। डीएम को प्रभावी ढंग से पर्यवेक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने शासन के निर्देशानुसार कांशीराम आवासों का आवंटन करने और शहर में अतिक्रमण में हटाए गए बेघर लोगों को आवास आवंटन में वरीयता देने के निर्देश दिए। आवंटन में पूरी पारदर्शिता बरतने पर जोर दिया। प्रमुख सचिव ने हाथरस-जलेसर रोड स्थित उत्तर प्रदेश सेतु निगम द्वारा 24 करोड़ 13 लाख रुपये की लागत से निर्माणाधीन ऊपरगामी पुल का भी मुआयना किया। निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी ने बताया कि पुल निर्माण कार्य फरवरी 2014 तक पूरा हो जाएगा। हाथरस-जलेसर रोड की जर्जर सड़क के बारे में प्रमुख सचिव द्वारा पूछताछ के दौरान पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता ने मौके पर बताया कि इस सड़क के अपग्रेडेशन का काम दिसंबर 2013 में स्वीकृत हो गया है। जल्द ही निर्माण कार्य प्रारंभ कराया जाएगा। प्रमुख सचिव ने चंदपा स्थित नवनिर्मित एडीशनल पीएचसी का औचक निरीक्षण किया। आवास-विकास परिषद के अभियंता ने बताया कि 1 करोड़ 14 लाख रुपये की लागत से चिकित्सालय भवन और 5 आवासों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। माह नबंवर में 2013 में इसे स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर कर दिया जाएगा। सीएमओ डॉ.एस के दीक्षित ने बताया कि इस पीएचसी पर एक आयुष चिकित्सक, एक फार्मासिस्ट, दो एएनएम और एक हेल्थ सुपरवाइजर की तैनाती की गई है। बजट के अभाव में जरूरी उपकरणों की व्यवस्था नहीं की जा सकी है। उपकरणों की खरीद के लिए पर्याप्त धन आवंटन के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। प्रमुख सचिव ने अस्पताल में गर्भवती महिलाओं के लिए प्रसव और डिलीवरी की सुविधा शुरू करने के निर्देश दिए। मरीजों की सुविधा के दृष्टिगत मुख्य सड़क से पीएचसी तक पहुंचने वाले कच्चे मार्ग को पक्का कराने की जरूरत बताई। मनरेगा और राज्य वित्त आयोग से इस कच्चे मार्ग को पक्का कराने के संबंध में सीडीओ को निर्देश दिए। इस मौके पर डीएम सूर्यपाल गंगवार, सीडीओ जावेद अख्तर जैदी, एसडीएम धर्मेंद्र सिंह, सीएमओ डॉ.एसके दीक्षित और कार्यदायी संस्थाओं के अभियंता मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls