कार्यालयों में ताले, कर्मचारी सड़कों पर

Hathras Updated Sun, 16 Dec 2012 05:30 AM IST
हाथरस। प्रमोशन में आरक्षण के विरोध में आंदोलन की आग शनिवार को दूसरे दिन भी धधकती रही। गैर आरक्षित वर्ग के अधिकारी और कर्मियों ने कलेक्ट्रेट, विकास भवन, तहसील, बिजली, कृषि, सिंचाई, लोक निर्माण, स्वास्थ्य विभाग के दफ्तरों में तालाबंदी जारी रखी और कलेक्ट्रेट में सर्वजन हिताय संरक्षण समिति के बैनर तले धरना-प्रदर्शन करके आरक्षण के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। तहसील हाथरस में भी आंदोलित कर्मियों ने एसडीएम, तहसीलदार और नायब तहसीलदार के अलावा रजिस्ट्री दफ्तर व लोकवाणी केंद्र की तालाबंदी करा दी। दफ्तरों में कामकाज पूरी तरह अस्त-व्यस्त होकर रह गया। यहां भी कर्मियों ने सभा कर आरक्षण पर गुस्से का इजहार किया। अन्य दफ्तरों में भी आंदोलित कर्मियों ने प्रदर्शन और सभाएं कीं। कलेक्ट्रेट में कलेक्ट्रेट और विकास भवन के सभी विभागों के अलावा सिंचाई, लोनिवि, स्वास्थ्य व कृषि विभाग के कर्मी भी शामिल हुए। राज्य कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रामकुमार गोस्वामी ने कहा कि अगर सपा मुखिया वाकई गैर आरक्षित वर्ग के हितैषी हैं तो उन्हें तत्काल इस मुद्दे पर कांग्रेस से समर्थन वापस ले लेना चाहिए। तभी सपा सवर्ण और पिछड़ों की सही हिमायती साबित हो सकती है। कलेक्ट्रेेट संघ के प्रताप सिंह ने कहा कि जब तक यह आंदोलन चलेगा, तब तक कर्मचारी इसमें निरंतर भागीदारी करते रहेंगे। विकास भवन के वरिष्ठ नेता टीकाराम पाल व वींद्र यादव ने कांग्रेस व बसपा नेताओं को सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन करने की नसीहत दी। अध्यक्षता करते हुए संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष रामकिशन शर्मा ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में किसे हराना है और किसके सिर जीत का सेहरा बांधना है, इसका निर्णय महासंघ की सलाह से किया जाएगा। संचालन सीडीओ के स्टेनो इंद्रमोहन गौड़ ने किया। इस मौके पर संयुक्त परिषद के मंत्री जितेंद्र शर्मा, कृषि के सुनहरीलाल गौतम, कलेक्ट्रेट के शीतल प्रसाद शर्मा, वीरेंद्र प्रकाश पाठक, विकास के डॉ. आईपी शर्मा, विनोद कुमार सिंह, लोनिवि के रामनिवास शर्मा, ओपी शर्मा व बृजमोहन शर्मा, सत्यवीर शर्मा, रवि शर्मा, एक्सईएन, बीडीओ सतीश शर्मा, प्रभाकर शर्मा, ओपी शर्मा, रेशमपाल भूमि संरक्षण, मुईन खान, संजीव सारस्वत, अनिल यादव, सिंचाई के हरीश शर्मा, राधेश्याम सारस्वत आदि ने भी विचार व्यक्त किए। आरक्षण विरोधी आंदोलन का अगला पड़ाव सोमवार 17 दिसंबर को लोक निर्माण विभाग का कार्यालय होगा। यहां सुबह 11 बजे से अधिकारी और कर्मचारी धरना-प्रदर्शन करेंगे। संघर्ष समिति के अध्यक्ष रामकिशन शर्मा ने सभी अधिकारी व कर्मियों से धरना व सभा में बढ़-चढ़कर सहभागिता करने की अपील की है। उन्होंने किसान, व्यापारी, सामाजिक संस्थाओं व वकीलों से भी आंदोलन में सहयोग मांगा है। ओढ़पुरा स्थित बिजली दफ्तर में भी दूसरे दिन गैर आरक्षित वर्ग के अधिकारी और कर्मियों ने तालाबंदी जारी रखी और सभा करके चेतावनी दी कि अगर केंद्र सरकार ने इस काले अध्यादेश को वापस नहीं लिया तो बिजली अधिकारी व कर्मी भी किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। जब सुप्रीम कोर्ट दो बार इस जहरीले कानून को खारिज कर चुकी है तो फिर क्यों केंद्र सरकार चंद स्वार्थी लोगों की खातिर इस बिल को दोबारा ला रही है। अध्यक्षता राजाबाबू सारस्वत ने की और संचालन बिजेंद्र सिंह राणा ने किया। इस मौके पर आरके गर्ग, राजेंद्र यादव, विनोद तोमर, उमेश शर्मा, जितेंद्र यादव, योगेश शर्मा, आरसी शर्मा, कालीचरण अग्रवाल, एके प्रधान, डीके शर्मा, वीपी सिंह, करन सिंह पाल, अंबरीष सक्सेना, ललतेश कुमार, राजीव शर्मा, सीपी गुप्ता, कृष्णमुरारी शर्मा, बृजेश सारस्वत, बृजरानी, आरके शुक्ला, ओमवीर सिंह, वीके तिवारी, एमपी उपाध्याय, लेखराज सिंह, इशरत अब्बास, अंसार अहमद, मुकेश वर्मा, महेश शर्मा, अतुल रावत, राकेश वर्मा, महेंद्र सिंह, एमएल कल्पक, अशोक सारस्वत, विकास शर्मा, रोहित कुमार, हरीमोहन शर्मा, श्याम सक्सेना आदि कर्मचारी मौजूद थे।
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मियों ने भी मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी के बीच प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार के खिलाफ गुबार निकाला। इस मौके पर फार्मासिस्ट महेश सेंगर, बीएस मिश्र, राकेश शर्मा, अनुराग लवानियां, अंबरीष पाठक, नवनीत अरोड़ा, गिरीशचंद्र शर्मा, प्रदीप रावत, अशोक कुमार गुप्ता, डॉ. देवेश महेंद्रा, मनोहर सिंह, अशोक कुमार गौतम, अनिल उपाध्याय, राजेश उपाध्याय, एमके अगिभनहोत्री, एससी शर्मा, डॉ. रुचि मिश्रा, मुकेश वार्ष्णेय, राकेश कुमार सिंह, लक्ष्मीकांत, केएस शर्मा, निर्मेष कुमार, एसडी शर्मा, भोलाशंकर शर्मा, प्रमोद कुमार शर्मा, डीके शर्मा, डॉ. आरके सारस्वत आदि अधिकारी व कर्मी मौजूद थे। उत्तर प्रदेश आशा कार्यकत्री संघ की बैठक में भी प्रमोशन में आरक्षण को लेकर केंद्र सरकार, कांग्रेस और बसपा की आलोचना की गई और 19 दिसंबर को इस मुद्दे पर कलेक्ट्रेट पर धरना-प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया। इस मौके पर लतेश कुमारी, मालती देवी, अमीना बानो, किरन देवी, रजनी देवी, बीना शर्मा, ममता शर्मा, रागिनी सिंह, राधा देवी आदि अनेक कार्यकत्रियां मौजूद थीं।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों के झगड़े में बड़ों ने यहां निकाली लाठियां

हाथरस में दो पक्षों के बीच जमकर लाठियां चलीं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर खूब लाठियां भांजी । जिसके हाथ में जो आया उससे एक दूसरे को खूब पीटा। बच्चों को लेकर ये झगड़ा हुआ।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper