नकारात्मक ऊर्जा को रोकते नाचते गणेश

Hardoi Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
‘गली हो या चौराहा, घर हो या मंदिर, हर जगह गणपति बप्पा मोरया का गुणगान व उनके गगनभेदी जयघोष सुनने को मिल रहे हैं। शास्त्रों में भगवान श्रीगणेश इंसान के जीवन को संपूर्णता प्रदान करने वाले तो मानें ही जाते हैं, पर यदि इनके साथ श्रीगणेश के पूरे परिवार का विधि-विधान से पूजन हो तो श्रद्धालुओं को यश व कीर्ति के साथ ही वैभव व ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। श्रद्धालुओं के लिए यह पर्व हमेशा तरक्की व वैभव को प्रदान करने वाला सिद्ध होता है, यही कारण है कि हर बार श्रद्धालु पिछली बार की तुलना में और ज्यादा उत्साह से गणेश जन्मोत्सव के जश्न में डूबे नजर आते हैं। शास्त्रों में कहा गया है कि भगवान गणेश इंसान के जीवन को संपूर्णता प्रदान करते हैं तो उनके साथ उनकी पत्नियां ऋद्धि व सिद्धि का स्मरण यश, वैभव और ऐश्वर्यदायी है। पांच विशेष मंत्रों के साथ यदि भगवान गणेश के पूरे परिवार का पूजन किया जाए तो श्रद्धालु के लिए बहुत शुभ सिद्ध होगी। प्रात: गणेश पूजन के दिनों में भगवान गणेश के साथ ऋद्धि सिद्धि की प्रतिमा के साथ अक्षत से प्रतीक रूप में शुभ लाभ बनाएं। इसके बाद पांचों देवी-देवताओं की जल छिड़ककर प्रतीक रूप मेें स्नान कराकर सभी को केसर, चंदन, लड्डू का भोग लगाकर पूजन करें और गुड़ से बने प्रसाद का भोग लगाएं तो निश्चित रूप से कष्टों का निवारण होगा और वैभव की प्राप्ति होगी। माता लक्ष्मी, ऋद्धि सिद्धि, शुभ लाभ की आरती कलह व दरिद्रता का नाश करती है।’
हरदोई/शाहाबाद। कहने की भांति नहीं हर शुभ काम में सबसे पहले आने वाले भगवान गणेश आदि व अनंत हैं। पुरातन काल से ही गणेश की पूजा सबसे पहले करने का विधान है, पर उनकी पूजा यदि विधि विधान से या उनकी प्रतिमा या तस्वीर नाचते हुए स्थापित या लगाई जाए तो भक्तों को उनका आशीर्वाद और भी शुभ हो सकता है।
भगवान गणेश की पूजा कई रूपों में की जाती है। जैसे लंबोदर, शूपकर्ण व एक दंत आदि। त्योहारों पर भक्तों के द्वारा न सिर्फ गणेश की तस्वीरों को ही घरों व दुकानों आदि पर लगाया जाता है, बल्कि उनकी प्रतिमा को भी स्थापित किया जाता है। वैसे तो गणेशजी भगवान ही हैं, किसी भी रूप में उनका पूजन लाभकारी होता है, पर यदि उनकी नाचती हुई तस्वीर या प्रतिमा लगाई जाए तो वह और भी भक्तों केलिए तो शुभ होती ही है। उमाकांत शास्त्री का कहना है कि जिस घर में नाचती हुई गणेशजी की तस्वीर लगी होती है, वहां पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश किसी भी तरह से नहीं हो पाता है।
इससे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश ही लगातार होता रहता है और भक्तों का मन प्रफुल्लित रहता है। हर काम संपन्न होते हैं। कहा कि नकारात्मक ऊर्जा से बचने को घरों मेें यदि गणेशजी की प्रतिमा या तस्वीर लगाएं, तो नाचते हुए ही, क्योंकि इससे घरों में नकारात्मक व आपको नुकसान करने वाली शक्तियों का प्रवेश घरों में नहीं हो पाता है। उधर, सिद्धि विनायक मराठा मंडल एवं सराफा कमेटी में चल रहे छठवें गणेश महापूजन उत्सव के तृतीय दिवस को सुबह गणेशजी का पूजन एवं आरती हुई, वहीं सायंकालीन भजन संध्या का आयोजन किया गया। भजन सुन श्रोता झूमे बगैर न रह सके। उसके बाद आरती एवं प्रसाद वितरण का आयोजन किया गया।
मनीष चतुर्वेदी ने बताया कि शनिवार की शाम 7 बजे से तुलसी परिवार द्वारा भजन कीर्तन के कार्यक्रम पेश किए जाएंगे। इसके अलावा विनायक समिति के तत्वावधान में अग्रवाल धर्मशाला में मंजू गुप्ता एवं राधेश्याम अग्रवाल द्वारा प्रसाद सहयोग किया गया। पूजन में मुख्य यजमान धीरेंद्र प्रताप सिंह एवं उनकी पत्नी अंजू सिंह रही। जिन्होंने आचार्य शास्त्री के साथ मिलकर पूजन विधिवत संपन्न कराया। सहस्त्रार्चन कार्यक्रम में मंजू गुप्ता एवं सत्येंद्र गुप्ता ने प्रतिभाग कर गणपति बप्पा का अर्चन किया। इस मौके पर राधेश्याम अग्रवाल मौजूद थे। उधर, शाहाबाद के मोहल्ला चौक में देहरादून से आई पार्टी ने गणेश जी की महिमा का गुणगान किया।
गायक विपिन नटवर व अजमत मलिक ने श्रोेताओं को भाव विभोर कर दिया। उधर, श्रीराम धर्मशाला में स्थापित गणेशजी की प्रतिमा का श्रृद्धालुओं ने पूजन अर्चन किया। इस मौके पर वेद प्रकाश रस्तोगी, विनय रस्तोगी, रमन गुप्ता, दीपक, धानू आदि मौजूद थे। उधर, लोकनृत्य प्रतियोगिता में प्रतिभागियों ने अपने जलवे बिखेरे। जूनियर एवं सीनियर में हुई प्रतियोगिता के निर्णायकों में प्रतिमा द्विवेदी, रीता अग्रवाल एवं हरिगोविंद सेठी रहे। इधर, अल्पना प्रतियोगिता के परिणामों में जूनियर में तनु शर्मा प्रथम, संध्या कश्यप द्वितीय और सोनम सिंह चौहान तृतीय रहीं। सीनियर में पल्लवी वर्मा प्रथम, सौम्या शुक्ला द्वितीय तथा सुरभी गुप्ता ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
लोकनृत्य जूनियर मेें सगुन वैष्णवी सिंह द्वितीय, अनुराग अग्रवाल ने तृतीय, सीनियर मेें मोहित राठौर प्रथम, मुस्कान रस्तोगी द्वितीय, अंचल गुप्ता तृतीय रहे। चित्रकला को चार वर्गों में आयोजित कराया गया, जिसमें नर्सरी मेें स्वेच्छा से कोई भी चित्र, प्राइमरी में गणेश चित्रकारी, जूनियर में लैंड स्केप चित्र एवं सीनियर में कन्या भ्रूण हत्या का विषय दिया गया। उत्सव में सांसद ऊषा वर्मा ने भी पहुंचकर विनायक से आशीर्वाद लिया। इस मौके पर प्रदीप गुप्ता, संजय विक्रम सिंह, अपूर्व महेश्वरी, जगदीश दीक्षित, गौरव सिंह भदौरिया आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper