नंद के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की

Hardoi Updated Sat, 11 Aug 2012 12:00 PM IST
‘श्रीकृष्ण जन्माष्टमी में पूरा जिला कृष्ण की भक्ति में रमा नजर आया। जिले भर के मंदिर तो जन्माष्टमी के पर्व पर फूलों और बिजली की झालरों से सजे नजर आए। वहीं घरों में श्रीकृष्ण जन्म को लेकर तैयारियां जोरों पर दिखाई दीं। मंदिरों व घरों में सजावट करने को बाजारों में भी काफी रौनक नजर आई। वहीं सजावट की सामग्री खरीदने को देर शाम तक लोगों की भीड़ दुकानों पर जमी दिखी। वैसे वैसे भी जन्माष्टमी का पर्व दो दिनों तक मनाया जाता है। पहले दिन संन्यासी व साधु मंदिरों में कृष्ण का जन्मोत्सव मनाते हैं, दूसरे दिन गृहस्थ श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का मनोहारी त्योहार मनाते हैं। मंदिरों समेत कई स्थानों पर श्रीकृष्ण की लीलाओं से संबंधित झांकियों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। श्रीकृष्ण की झांकियों को भी देखने को शहर समेत आसपास के गांव वाले सुबह से ही पहुंचने लगे।’
हरदोई। जिले में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को लेकर काफी हर्षोल्लास नजर आया। शहर के सभी छोटे बड़े मंदिराें में आकर्षक सजावट की गई। फूलों व बिजली की झालरों के अलावा मंदिरों को रंगबिरंगी झंडियों से सजाया गया। वहीं मंदिरों के अलावा घरों में भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार मनाया गया। बाजार में सजावट की दुकानों पर सजावट की सामग्री के अलावा भगवान के वस्त्र व मुकुट आदि की खरीदारी हुई। साथ ही श्रीकृष्ण जन्म के लिए नारदार खीरों की भी बिक्री जमकर हुई।
मध्य रात्रि को 12 बजते ही मंदिरों में घंटे और घड़ियाल बज उठे। वहीं घरों में जन्मोत्सव मनाया गया। शहर के राम जानकी मंदिर में भी श्रीकृष्ण जन्म बडे़ ही श्रद्धापूर्वक मनाया गया। श्रीकृष्ण का जन्म होने के बाद लड्डू गोपाल की विग्रह को दूध, दही, शहद, गंगा जल और घी से नहलाया गया। इसके बाद उन्हें सुगंधित चंदन से लेपन कर नए वस्त्र पहनाए गए और पालने में बिठाया गया। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने आरती और पूजन कर प्रसाद का वितरण किया। प्रसाद ग्रहण करने के बाद ही सुबह से उपवास रख रहे लोगों ने भोजन ग्रहण कर उपवास तोड़ा। वहीं इसके पूर्व घरों व मंदिरों में जन्म होने तक भजन और कीर्तन में श्रद्धालु मंत्र मुग्ध रहे।
उधर, शहर में पुलिस लाइन स्थित मंदिर में कई झांकियां सजाई गईं। जिनको देखने को काफी भीड़भाड़ नजर आई। इसके अलावा शहर के जीआरपी थाने में भी झांकियां सजाई गईं। जिसमें नाग नथैया, श्रीकृष्ण जन्म, राक्षसों का वध, वस्त्र हरण व कंस वध की लीलाओं की प्रदर्शनी काफी मन भावन ढंग से सजाई गई। वहीं शहर के काशी नाथ मंदिर में भी श्रीकृष्ण और राधा की मनमोहक झांकियां सजाई गईं। इसके अलावा बाहर से आए कलाकारों ने मंदिरा को भी बडे़े ही आकर्षक ढंग से झालरों से सजाया गया।
इंसेट---
कन्हैया के श्रद्धालुओं से बड़ा चौराहा जाम
हरदोई। शुक्रवार को कृष्ण जन्म पर श्रद्धालु ऐसे सड़कों पर निकले कि बड़ा चौराहा जहां ज्यादा छोटा नजर आने लगा, वहीं वाहनों की कतारों से चौराहा एक दो बार नहीं, बल्कि रुक-रुक कर पूरे दिन जाम ही होता रहा। शुक्रवार को शहर के लगभग हर प्रमुख बाजारों व चौराहों के आस पास कन्हैया को सजाने को श्रंगार सामग्री को बेचने फुटपाथ पर दुकानों को सजाया गया था। इन दुकानों के फुटपाथ लीलने से मार्ग से लेकर चौराहे तक छोटे हो गए। कुल मिलाकर इस दिन बड़े चौराहे का हाल कुछ ज्यादा ही बुरा था। सुबह से ही जाम जो लगा वह रुक रुक कर पूरे दिन ही लगा रहा और जाम से लोग देर शाम तक जूझते रहे।
इंसेट--
कान्हा की बांसुरी ने भी दिखाए जलवे
हरदोई। कान्हा का नाम आए और उनको घरों से लेकर मंदिरों तक में सजाया जा रहा हो और बांसुरी का नाम ही न आए तो ऐसा नहीं हो सकता है, इसलिए शुक्रवार को बाजारों में कफी समय बाद बांसुरी दिखाई दी। इसको बजाकर इसको बिक्री करके बाजारों में खरीदारी कर रहे बच्चों को ही नहीं बड़ों को भी लुभाने का प्रयास किया गया। इसकी बिक्री खूब की गई।
थाने में गूंजे चैतन्य के भजन, झूमे लोग
पिहानी (हरदोई)। रात के बारह बजते ही नगर के मंदिर घंटे और घड़ियाल की आवाजों से गूंज उठे। पुलिस थाने पर जन्माष्टमी के अगले दिन प्रसिद्ध भजन गायक शास्त्री सुरजन चैतन्य को सुनने को बड़ी संख्या में लोग जमा हुए।
नगर के भूरेश्वर मंदिर, आनंदेश्वर महादेव मंदिर, बड़ा चौराहा मंदिर के अलावा देहात क्षेत्र में मंसूरनगर, सलेमपुर, हिंदूनगर, डर्रा, जहानीखेड़ा आदि गांवों में मंदिरों की भव्य सजावट की गई। थाने में दूसरे दिन जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया। थाना परिसर में उमड़ी भीड़ को प्रसिद्ध भजन गायक शास्त्री सुरजन चैतन्य ने कई धार्मिक गीत सुनाकर भाव विभोर किया। देर शाम तक लोग गायक के गीतोें पर झूमते रहे। ढोलक पर उनका साथ विजेंद्र ने दिया। इस मौके पर एसओ विजय यादव समेत प्रधान प्रतिनिधि पतरास सूरज पाल, भानु प्रताप सिंह, अब्दाल अहमद, अब्दुल अजीज इटारा, प्रभु सिंह यादव, धर्मवीर सिंह अहेमी, रफ्फन खां प्रधान, राज किशोर सिंह, अमित मिश्रा मौधू आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Budaun

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper