एसडीएम सच तो कौन कर रहा सरकारी गुनाह!

Hardoi Updated Tue, 07 Aug 2012 12:00 PM IST
‘एसडीएम साहब ने तो नोटिस जारी करने से मना कर दिया, पर पत्रांक और सम्मन तो सामने है। यदि यह फर्जी है, तब भी एक बड़ा खेल तहसील के अंदर चल रहा है, जो सरकारी दस्तावेजों के साथ खिलवाड़ करने के बराबर है। इस पूरे मामले में एसडीएम ने अपने आप को अलग किया है। उनका कहना है कि उनका इससे कोई संबंध नहीं है। बाकी कैसे हुआ, कब क्या किया गया होगा, इन पर वह वापस आने के बाद विचार करेंगे। पर, यदि एसडीएम साहब सही है तो कोई तो है जो सरकारी प्रपत्रों के साथ और मोहरों को लेकर सरकारी गुनाह करने में जुटा है।’
हरदोई/सवायजपुर। भगवान इंद्र के मामले में सोमवार को शायद कुछ हो पाता, पर एसडीएम दो दिन के अवकाश पर चले गए। इसके बाद प्रपत्र को लेकर विभागीय खींचतान आपस में शुरू हो गई। सभी ने एक दूसरे पर बात डाल दी। एसडीएम के रूम में ताला लटकता दिखाई दिया।
उधर, एसडीएम सवायजपुर यदि यह मान रहे कि यह उनके द्वारा नोटिस नहीं जारी की गई, तो निश्चित है कि सरकारी कागज की कूट रचना इसे माना जा सकता है और इस कूट रचना करने वाले को छवि का धूमिल करने का दोष तो सिद्ध पाया जा रहा है। यदि एसडीएम छुटटी पर थे तो भी वह अफसर जिसके संज्ञान में पूरा प्रकरण है वह मुकदमा अज्ञात में ही दर्ज करवा सकता है। वकील रामदेव शुक्ला ने बताया कि सीआरपीसी के सेक्शनों में कहा गया कि किसी पद की छवि को धूमिल किया गया है, तो सीधे मामला 420 का आता है, तो इस धारा में भी मामला दर्ज किया जा सकता है।
इसके अलावा धारा 466 में कोर्ट प्रासंगिक संबंधित किसी कागज की कूट रचना करने से संबंधित भी मुकदमा दर्ज कराया जा सकता है। इसके अलावा धारा 468, 469 भी बनती है। इन धाराओं में भी मुकदमा दर्ज किया जा सकता है। एसडीएम मान रहे हैं कि मामला फर्जी है तो उन्हें अज्ञात के खिलाफ नाजिर या लिपिक के माध्यम से रिपोर्ट दर्ज करवा देनी चाहिए थी, या फिर छुट्टी पर रहने के बाद तहसीलदार या फिर बड़े अफसर द्वारा रिपोर्ट लिखवाई जानी चाहिए थी।
इंसेट---
निलंबित होने की मिली धमकी : नायब नाजिर
सवायजपुर। नायब नाजिर स्वतंत्र कुमार ने बताया कि प्रकरण के खुलासे के बाद उस पर दबाव बनाया जा रहा है। आरोप है कि उसे निलंबित करने की धमकी दी जा रही है।
इंसेट---
‘पहले जवाब, फिर सत्यता परखेंगे’
‘प्रभारी डीएम/सीडीओ एके द्विवेदी का कहना है कि वह दूरभाष पर उनसे इस प्रकरण की जानकारी ले चुके हैं। वह दो से तीन दिनों के अवकाश पर हैं। उनसे जवाब मांगा गया कि प्रकरण क्या हैं। पहले वह बताएंगे कि इसमें असलियत क्या है। इसके बाद वह उनकी जांच रिपोर्ट से संतुष्ट न हुए तो क्रास जांच वह स्वयं कराएंगे। प्रकरण गंभीर हैं जांच वह अवश्य कराएंगे।’
------

अरे दादा! अइसों ता कबहूं नाइ भओ
इंद्रदेव के सम्मन की चर्चाओं से गरमाई तहसील
जिसने भी सुना, सभी बोले, ऐसी यह पहली घटना
हरदोई। इंद्रदेव के सम्मन मामले को जिसने भी सुना वह इसे पचा ही नहीं पा रहा कि अािखर जिम्मेदारों को क्या सूझी, जो ऐसा कदम उठा लिया और प्रशासनिक जिम्मेदारियों से मुकर कर इस तरह क ा अपने पद के साथ मखौल कर डाला।
भगवान को जारी होने वाले सम्मन और उनसे तीन दिनों के भीतर मांगे गए स्पष्टीकरण वाले प्रकरण से पूरे जिले में सनसनी मच गई। सवायजपुर तहसील तो इस पूरे प्रकरण से सोमवार को खासी चर्चाओं में रही। ज्ञात हो कि एसडीएम सवायजपुर ने यह कारण बताते हुए कि बादल पिछले काफी दिनों से इधर उधर भटक रहे हैं, पर इसके बाद भी सवायजपुर तहसील क्षेत्र में नहीं बरस रहे हैं और आस पास के क्षेत्रों में बरस रहे हैं। क्यों नहीं बरस रहे, आखिर इसका कारण क्या है। इसको लेकर उनके द्वारा स्वार्ग लोक निवासी भगवान इंद्रदेव को एक सम्मन काट दिया गया।
जिसका बाकायदा मेमो नंबर भी दिया गया और इसको निजी रूप से तामीला करवाने के निर्देश भी नायब नाजिर को दिए गए। नायब नाजिर ने अपनी नौकरी को बचाने को सम्मन के साथ मुसन्ना न देने से तामीला विधिवत न कराने में अपनी असमर्थता जताई थी। कुल मिलाकर इस पूरे प्रकरण को लेकर पूरी सवायजपुर तहसील में ही नहीं, बल्कि पूरे जिले में सनसनी सी दौड़ती रही। यहां पहुंचने वाले हर किसी के मुंह से ऐसे ही सवाल निकलने के बाद जिम्मेदार चुप्पी साधते मिले।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper