विज्ञापन

‘भगवान पाने को बुराई त्यागें’

Hardoi Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पिहानी (हरदोई)। मझिया गांव में जारी श्रीमद्भागवत कथा में नीरज शास्त्री ने कहा कि रामचरित को आधार बनाने वालों का जीवन ही सफल होता है और ऐसी ही व्यक्ति का ही उद्धार होता है। उन्होंने कहा कि भगवान को पाने को बुराई को त्याग कर हमेशा सत्य के मार्ग पर चलने का प्रयत्न करना चाहिए।
विज्ञापन

गांव के रामलीला मैदान में छठवें दिन की कथा कहते हुए कथावाचक पंडित नीरज शास्त्री ने कहा कि परहित की भावना रखने वाला ही मनुष्य कहलाने का अधिकारी है। अन्यथा अपना और अपने परिवार का भरण पोषण तो पशु और पक्षी भी कर लेते हैं। उन्होंने कहा कि सर्वे भवंतु सुखिन: सर्वे संतु निरामय:। सर्वे भद्राणि पश्यंतु, मां कश्चिद् दु:ख मापभनुयात।। अर्थात विश्व बुंधुत्व की भावना रखते हुए हमें पाप से बचते रहना चाहिए और लोकोपयोगी कार्य करना चाहिए। प्रकृति से अनावश्यक छेड़छाड़ तो कदापि न करें। उन्होंने कहा कि दक्ष यज्ञ में सती के बिना बुलाए जाने पर उन्हें अपने प्राणों की आहुति देनी पड़ी।
इसलिए नैतिकता का आचरण करते हुए अपने पिता के घर भी कन्या को बिना बुलाए नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उस पुत्रवती से तो बांझ भली, जिसके पुत्र की ईश्वर चरणों में प्रीति नहीं। भागवत के आधार पर व्याख्या करते हुए उन्होंने कहा कि कर्मों के अनुसार ही मनुष्य की गति होती है, इसमें संदेह नहीं। सदाचरण के कारण गौपुत्र गौकरण स्वयं ही नहीं अपने भाई के मोक्ष का हेतु बना। वहीं दुराचरण पर चलने के कारण श्रेष्ठ ब्राह्मण का पुत्र धुंधकारी प्रेत बना और उसे भटकने पर विवश होना पड़ा। उन्होंने कहा कि आत्मलोचन करने पर स्वत: आत्म ज्ञान प्राप्त होने लगता है।
उन्होंने कहा कि यदि योग्य गुरू का संरक्षण मिल जाए तो अवश्य ही मोक्ष प्राप्त होगा इसमें संदेह नहीं। मनुष्य को वासनाएं अपनी ओर आकर्षित करती हैं, पर यदि ईश नाम का संबल मिल जाए तो माया मनुष्य के आगे बौनी हो जाती है। यदि वह अपने पुरुषार्थ को पुरी तन्मयता से अंजाम देता है तो वह संदेह स्वर्ग का अधिकारी हो सकता है। कार्यक्रम मेें नवनीत सिंह, आशीष गुप्ता, लाला राम सिंह व बचन सिंह आदि मौजूद थे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us