मां! तू है तो कोई गम नहीं

Hardoi Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
हरदोई। ऊपर जिसका अंत नहीं, उसे आसमां कहते हैं, जिसके प्यार का अंत नहीं उसे मां कहते हैं...। इन्हीं कुछ भावों को लेकर जिले भर में रविवार को मातृत्व दिवस मनाया गया। किसी ने अपनी मम्मी को गिफ्ट देकर तो किसी ने प्यारी साड़ी देकर उन्हें मातृत्व दिवस की बधाई के साथ उनके प्रति कृतज्ञता जाहिर की।
मां से अमूल्य कुछ नहीं है। जितने शब्द भी अपनी मां के लिए लिखे जाए शायद ही नहीं यकीनन वह कम पड़ जाएंगे। कहना गलत न होगा कि जननी मां का स्थान भगवान तुल्य ही होता है। जिसे मां का आशीर्वाद मिलता है कामयाबी उसके कदम चूमती है। हर व्यक्ति के जीवन में मां का प्यार व दुलार नहीं होता। यह भी बड़ी ही किस्मत वालों को मिलता है। बहरहाल रविवार को मातृत्व दिवस जिले में बड़े ही उत्साह पूर्वक मनाया गया। गिफ्ट कार्नर पर भी उपहार लेने को युवा दिखाई दिए। मातृत्व दिवस की बधाई देने वाले कार्डों की भी मांग रही तो इसके साथ ही साड़ी की दुकानों पर भी लोग जुटे दिखाई दिए। दुकानदार आशू गुप्ता का कहना है कि कइयों के मुंह से एक ही बात निकली कि मां के लिए एक अच्छी सी साड़ी देना। शिक्षिका अर्चना तिवारी का कहना है कि मां की ममता तो असीमित है, तो उनके लिए हमारा आदर क्यों एक ही दिन सीमित कर दिया जाता है। हम चाहे तो हर दिन को अपनी मां के लिए महत्वपूर्ण बना सकते हैं। वह तो उनके जीवन की हर राह पर आने वाली मुश्किलों पर खड़ी नजर आती है तो उनका सम्मान एक ही दिन क्यों। वह तो इस दिन भी और बाकी के 364 दिन भी अपनी मां के ही नाम करना चाहती हैं। इसी तरह शहर के विष्णुपुरी निवासी पीयूष मिश्र का कहना है कि मां के प्यार के आगे सभी पकवान बेकार हैं। जब कभी भी वह बाहर कहीं जाते हैं तो होटलों पर सभी पकवान नजर आते हैं, लेकिन फिर भी मां के हाथों की दाल की उन्हें बहुत याद आती है।
ममता से भर उठती राखी जब अरणी बोलती ममम...
हरदोई। मासूम होठों से मां शब्द का पूरा संबोधन नहीं, बल्कि सिर्फ मम शब्द सुनने को ही जो वर्षों से बेताब कहें या फिर तड़पते रहे, आज उनको यह खुशी मिलती है। फिलहाल अपनी बेटी अरणी के साथ मां राखी का पहला मातृत्व दिवस उसी को गोद में लेकर उसे दुलार करते ही गुजरा। जिलाक्रीड़ाधिकारी अनिमेष सक्सेना व उनकी पत्नी राखी के पास सब कुछ था, पर मां राखी के पास यदि कुछ नहीं था तो मां होने का सुख व किसी नन्हें की घर में किलकारी सुनने का सुख। वर्षों तक भगवान ने उन दोनों की मनोकामनाओं को नहीं सुना, पर बीते कुछ महीनों पहले ही इस दंपति ने एक बच्ची को गोद लेकर न सिर्फ एक मिशाल बनाई, बल्कि अपने घर अरणी के रूप में खुशियों का खजाना ले आए। पहले मातृत्व दिवस पर बच्ची के साथ मां के होठों पर खुशियां बिखरते नजर दिखाई दी।
पहले दिया जन्म, 32 साल बाद लड़ रही जंग
हरदोई। उसकी हर परीक्षा जैसे, उसकी अपनी परीक्षा होती है। मां एक पल के लिए भी दूर होती है तो जैसे, कहीं कोई अधूरापन सा लगता है। हर पल मानों एक सदी सा महसूस होता है, वाकई मां का कोई विस्तार नहीं, मेरे लिए तो मां से बढ़कर कुछ नहीं...। यह शब्द व भावनाएं हैं, जिले के एक कैंसर पीड़ित बेटे की अपनी मां के प्रति। उसकी के मातृत्व की शक्ति व उसकी ममता को महसूस कर पीड़ित बेटा आज अपने आप को मौत से एक बार फिर दूर अपने आप को खड़ा पा रहा है। न्यू सिविल लाइंस निवासी कैंसर पीड़ित अजीत और उसकी मां शिवकली अमर उजाला के प्रयास व जिले के कुछ समाजसेवियों के सहयोग से फिर से जीने की ललक जाग उठी है। इलाज शुरू होने के बाद डॉक्टरों को कुछ सार्थक परिणाम मिले हैं, जिसके बाद अजीत ठीक हो सकता है, पर अब भी उसे पैसों की जरूरत है। जन्म देने के 32 साल बाद भी मां अपने बच्चे के प्राणों के लिए किस तरह उतावली है और मातृत्व की ्शक्ति से उसमें दोबारा प्राण फूंकने की पुरजोर कोशिश कर रही है, उसको देखकर ही मातृत्व शक्ति का अहसास हो जाता है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper