मिड-डे मील नहीं, ‘अखाड़ा’ है भाई!

Hardoi Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
हरदोई। परिषदीय स्कूलों में मिड-डे मील को लेकर प्रधान व प्रधानाध्यापकों के बीच जंग छिड़ी हुई है। स्कूलों में बच्चों की संख्या कम होती जा रही है, जिससे फर्जी छात्र संख्या पर मिड-डे मील की धनराशि और खाद्यान्न के बंटवारे को लेकर विवाद हो रहा और बीएसए दफ्तर में रोजाना मामले पहुंच रहे हैं।
जिले के परिषदीय स्कूलों में 2544 प्राथमिक तथा 1020 उच्च प्राथमिक स्कूलों मिड-डे मील की जिम्मेदारी गुरुओं के हाथों पर है और वहीं खाना बनवाते हैं। पूर्व में यह व्यवस्था प्रधान के जिम्मे थी, पर व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए गुरुओं के जिम्मे व्यवस्था तो पहुंच गई, पर बैंक में आने वाली धनराशि प्रधान और प्रधानाध्यापक के संयुक्त खातों में आती है। फिर भी किसी तरह स्कूलों में मिड-डे मील व्यवस्था चलती रही, पर पिछले एक माह से मिड-डे मील प्रधान और प्रधानाध्यापक के बीच विवाद की जड़ बन गया, जिससे स्कूलों में बच्चों की संख्या कम होती जा रही है। जिस स्कूल में 100 बच्चे हैं, वहां पर मात्र 10-15 बच्चे पहुंच रहे हैं। अधिकांश स्कूलों में बच्चों की कम संख्या गुरुओं के वरदान बन गई।
गुरुजी बच्चों की संख्या ज्यादा दिखा रहे हैं। प्राथमिक स्कूल में एक बच्चे पर तीन रुपए 73 पैसे धनराशि और 100 ग्राम खाद्यान्न, उच्च प्राथमिक में एक बच्चे पर चार रुपए व 150 ग्राम खाद्यान्न भेजा जाता है। बच्चों की ज्यादा संख्या दिखा गुरुजी अकेले इसे हजम करना चाहते हैं, पर प्रधान तैयार नहीं हैं और वह भी फर्जी छात्र संख्या वाले मिड-डे मील में हिस्सेदारी मांग रहे हैं। उधर, गुरुओं का कहना है कि कार्रवाई उसी पर अकेले होती है तो वह दूसरे को साझीदार क्यों करें। वहीं प्रधानों का कहना है कि जब गुरुजी अकेले सब कुछ हजम करना चाहते हैं तो वह हस्ताक्षर क्यों करें। यही कारण है कि आए दिन बीएसए कार्यालय में शिकायतें आ रही हैं। बीएसए सियाराम निर्मल भी इसकी पुष्टि कर रहे हैं। बीएसए का कहना है कि आए दिन प्रधान व गुरुओं के बीच विवाद की शिकायतें आ रही हैं। उन्होंने कहा कि फर्जीबाड़ा किसी भी रूप में मंजूर नहीं किया जाएगा और जहां जहां बच्चों की संख्या ज्यादा दिखाई जा रही, उन पर कार्रवाई की जा रही है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018