बदल नहीं रहा साप्ताहिक अवकाश!

Hardoi Updated Mon, 01 Dec 2014 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
हरदोई। शहर में कार्यरत पांच कुकिंग गैस एजेंसियों की साप्ताहिक बंदी का दिन एक ही दिन होने से उपभोक्ताओं को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सबसे ज्यादा परेशानी एकल सिलेंडर वाले उपभोक्ताओं को होती है, क्योंकि अगर उनका सिलेंडर साप्ताहिक बंदी वाले दिन यानी रविवार को खत्म होता है, तो उनके पास सोमवार से पहले सिलेंडर पाने का कोई विकल्प नहीं रह जाता है। साप्ताहिक अवकाश के दिन अलग-अलग करने को लेकर उपभोक्ता पिछले लंबे समय से आस लगाए हैं, पर आस पूरी नहीं हो पा रही और शहर की सभी गैस एजेंसियों का साप्ताहिक अवकाश एक ही दिन बना हुआ है।
शहर में कार्यरत करीब 50 हजार से ज्यादा गैस कनेक्शनाें में अभी भी 10 से 20 फीसदी उपभोक्ताओं के पास डीबीसी मुहैया नहीं हुए, जिससे इन लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा करीब 5 से 7 फीसदी ऐसे उपभोक्ता भी होते हैं, जिनके पास दो सिलेंडर तो हैं, पर उन्हें समय से रिफिल नहीं मिल पाती और फिर ऐसा होता है कि साप्ताहिक अवकाश वाले दिन एजेंसियों के बंद होने से रिफिल खत्म होने पर तत्काल प्रभाव से व्यवस्था को भागना पड़ता है। लोगों का मानना है कि शहर में कार्यरत गैस एजेंसियों के साप्ताहिक अवकाश के दिन अलग हो जाएं, तो कम से कम उपभोक्ता इमरजेंसी में नान सब्सिडी वाले सिलेंडर या फिर खुली होने वाली एजेंसी के अपने परिचित उपभोक्ता की मदद से रिफि ल प्राप्त करने का अवसर हासिल कर सके।
करीब सात वर्ष पूर्व जब शहर में तीन गैस एजेंसियां थी तो तीनों के साप्ताहिक अवकाश के दिन अलग-अलग थे जिससे लोगों को आकस्मिक जरूरत की रिफिल पाने में सहूलियत रहती थी, पर अब शहर में कार्यरत कमोवेश सभी गैस एजेंसियों का साप्ताहिक अवकाश का दिन रविवार ही रहता है। उधर, कुछ समय गैस कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं को कुकिंग गैस के लिए लाइन में लगने से बचाने को आनलाइन बुकिंग सेवा शुरू की थी, पर यह सेवा उपभोक्ताओं के लिए जी का जंजाल बन गई है। मोबाइल फोन से गैस रिफिल बुक कराना जहां टेढ़ी खीर है तो रिफिल बुक होने के बाद उसकी घर तक डिलीवरी होना एजेंसियों के रहमोकरम पर रहता है। बुकिंग के हफ्ते बाद तक डिलीवरी नहीं होती है।
जबकि इस सेवा को लेकर दावे किए जाते कि उपभोक्ता अपने मोबाइल फोन से कहीं से भी सिलेंडर बुक करा सकते हैं और उसके बाद एजेंसी द्वारा गैस सिलेंडर की रिफिल उपभोक्ता के पते पर भेज दी जाएगी, जबकि हकीकत कुछ और है। केंद्र सरकार द्वारा रसोई गैस की रिफिल पर दी जाने वाली सब्सिडी अब उपभोक्ताओं के बैंक खातों में भेजने की तैयारियां है। कुछ जिलों में योजना लागू हो चुकी है और इसे पूरे देश में लागू किया जाना है। इस क्रम में हरदोई में गैस एजेंसियों पर तैयारियां चल रहीं, जिससे उपभोक्ताओं की परेशानियां बढ़ गई हैं। इसको लेकर एजेंसियों द्वारा उपभोक्ताओं को विशेष सहूलियतें देने से उन्हें परेशान होना पड़ रहा और जिम्मेदार बेखबर बने हुए हैं।
उधर, सर्दी के आगाज के चलते कुकिंग गैस की रिफिलों की मांग में इजाफा होना शुरू हो गया है। अभी लगभग पांच से दस फीसदी तक मांग बढ़ी है। यह आलम तब है जब अभी सर्दी का शुरुआती दौर में है। सूत्रों का कहना है आगामी दिनों में मांग बढ़ने का प्रतिशत 25 फीसदी तक पहुंच सकता और तब लोगोें को लंबी लाइनें लगाने को मजबूर होना पड़ सकता है।
इंसेट---
उपभोक्ताओं ने दिए ये सुझाव---
सभी गैस कनेक्शनों पर दिए जाए दो सिलेंडर, नान सब्सिडी वाले सिलेंडरों के लिए हो विशेष व्यवस्था, गैस एजेंसियों के साप्ताहिक अवकाश के दिन हों अलग-अलग, एकल सिलेंडर वाले उपभोक्ताओं को बुकिंग और डिलीवरी एक साथ मिले, होम डिलीवरी के लिए निर्धारित की जाए अधिकतम समय सीमा, बुकिंग के 24 घंटों के भीतर दी जाए होम डिलीवरी की सुविधा, एक परिवार को दो गैस कंपनियों के कनेक्शन की दी जाए सुविधा, त्रुटिवश गलत हुए नाम पतों का सही कर कनेक्शन चालू किए जाएं, केवाईसी के नाम पर गैस बुकिंग एवं डिलीवरी न रोकी जाए, बड़े संयुक्त परिवारों को दिए जाएं जरूरत के अनुसार कनेक्शन, बैंक खाते में सब्सिडी भेजने की स्कीम में दी जाए सहूलियत।
इंसेट---
पब्लिक की बात सुनने नहीं आते अफसर
हरदोई। जिले में कार्यरत कई एलपीजी कंपनियों की गैस एजेंसियों के उपभोक्ताओं की समस्याएं सुनने के लिए कंपनी के अफसरों को सप्ताह में एक बार जिले में आकर उपभोक्ताओं की बात सुनने का प्रावधान है, पर इस ओर एलपीजी कंपनियों के अफसरों द्वारा पूरी तरह से उदासीनता बरती जा रही, जिससे लोगों को अपनी समस्या के लिए डीएसओ कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते हैं।
इंसेट---
‘वे इस बाबत गैस कंपनियों के अफसरों और गैस एजेंसियों के संचालकों से बात करने के बाद नियमानुसार कार्रवाई कराएंगे।’ कुमार निर्मलेंदु, डीएसओ

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Chandigarh

दो नेता मिलकर चला रहे देश और पार्टी, यशवंत और शत्रुघ्न सिन्हा ने लगाए आरोप

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जो-जो वायदे किए थे, वे सभी जुमले साबित हो रहे हैं

20 मई 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के हरदोई में बीजेपी कार्यकर्ता ने जड़ा डॉक्टर को थप्पड़

यूपी के हरदोई जिले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो में एक आदमी जिला अस्पताल के डॉक्टर को थप्पड़ मारता दिखाई दे रहा है। डॉक्टर को थप्पड़ मारने वाला और कोई नहीं बीजेपी के कार्यकर्ता हैं।

5 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen