...यारों हमारे कुर्ते की लंबाई बढ़ गई

Hardoi Updated Thu, 24 Oct 2013 05:41 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
पिहानी (हरदोई)। मंगलवार की शाम हाशमी फाउंडेशन की ओर से आयोजित महफिले मुशायरा में शोरा-ए- कराम ने जिंदगी के तल्ख और शीरीं तजुर्बात को शायरी बनाकर पेश किया। मुशायरे में मुख्य अतिथि चेयरमैन डा. सईद खां ने आयोजक सलमान ज़फर को यह सिलसिला चलाने के लिए मुबारकबाद पेश करते हुए घोषणा की कि वह उनके साथ मिल कर इस मिशन को और आगे ले जाएंगे। इन मुशायरों के दायरे का विस्तार किया जाएगा। संचालक रियाज अहमद अकबर ने कहा कि मुशायरे हमारी तहजीबी विरासत हैं।
विज्ञापन

फाउंडेशन के स्थानीय कार्यालय पर हुए मुशायरे की सदारत कर रहे बेकल पिहानवी ने कहा कि इस तरह की महफिलें अदबी दरसगाहें हुआ करती है। उन्होंने गज़ल पढ़ी- कांच से ज़्यादा भी नाज़ुक है यह मानी जाए। चादरे- जीस्त है बोसीदा न तानी जाए। लईक पिहानवी ने दुआओं में असर को बयां किया - बच गया दुआओं से वरना सिजदे करता कहां-कहां यारों। जमाल शाहनवाज़ ने इस शेर पर दाद लूटी- कितने हसीं खयाल थे मेरे दिमाग में। चुन चुनके एक-एक को मिसमार कर दिया। युवा शायर सलमान ज़फर ने नेता और कार्यकर्ता पर तंज़ कसा- दो चार बार हम किसी नेता से क्या मिले। यारों हमारे कुर्ते की लंबाई बढ़ गयी। कल शाम दो टके में बिका था मेरा ज़मीर। सब लोग कह रहे हैं कि महंगाई बढ़ गयी। रियाज अहमद अकबर के इस शेर को खूब पसंद किया गया- हम फकीरों को यह कथरी और चटाई है बहुत। बादशाहों से भी मखमल नहीं मांगा करते। आरज़ू पिहानवी ने गजल में ज़माने का दर्द समेटा तो सब वाहवाही कर उठे- खूं बरसता है कहीं, आग से घर जलते हैं। गौर से देखोे तो अब ईद कहां, ईद के दिन। मास्टर कय्यूम माज़ूर ने पढ़ा- अकसर हमारे साथ यह बरताव हुआ है। सच बोलने के बदले में पथराव हुआ है। कारी फहीम अपनी सुरीली आवाज़ में गजलसरा हुए- वो बगावत यकीनन करेगा फहीम। उसकी टेढ़ी नज़र बाखबर कर गयी। चांद देहलियावी के इस शेर पर ठहाके गूंजे- बादल आते- जाते हैं, पानी कम बरसाते हैं। उससे कैसे बात करूं, सिग्नल आते- जाते हैं।
इसके अलावा मास्टर साजिद, एमएफ कैफी, अनजान देहलियावी व खादिम पिहानवी ने भी शेर सुनाए। कार्यक्रम में डा. रहमत अली, रघुराज वर्मा, डा. एमएस ज़फर, हाफिज़ जमील, मुराद अली खां, मोहम्मद इमरान, शरीफ मंसूरी, व अतीक आदि श्रोता मौजूद रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us