कार्रवाई न होने पर तहसील घेरेंगे

Hapur Updated Fri, 24 Jan 2014 05:50 AM IST
गढ़मुक्तेश्वर। बहादुरगढ़ के गांव रहरवा और क्रियावली में स्थित 17 सौ बीघा सरकारी भूमि पर फसल लगाने की आड़ में हुई 50 लाख से भी अधिक की अवैध वसूली के खिलाफ गुरुवार को ग्रामीणों का गुस्सा भड़क गया। अब ग्रामीणों ने पैसे लौटाने और कार्रवाई की मांग कर आंदोलन की चेतावनी दी है।
चंपत सिंह, मटरू, वीरपाल का कहना है कि सरकारी भूमि को एक वर्ष पहले तहसील प्रशासन ने कब्जों से मुक्त कराया था। लेकिन स्थानीय प्रशासन और नेताओं की मिलीभगत से इस भूमि पर फिर से फसलें लहलहा रही हैं। नीलामी होने पर बोलीदाता एक लाख की जमानत राशि पर छोड़ दिया था। इसके बाद तहसील प्रशासन ने दोबारा नीलामी कराने की बजाए नेताओं से सांठगांठ कर जमीन पर फसल लगाने के लिए वसूली शुरू कर दी, जिससे सरकार को लाखों का राजस्व का नुकसान हुआ। जबकि 50 लाख से भी अधिक की रकम अफसर और नेता मिलकर डकार गए। पप्पू सिंह, रणवीर, उदयवीर, गिरिराज का कहना है कि सैकड़ों बीघा सरकारी भूमि पर अवैध रूप से फसल लहलहा रही है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls