सिंभावली ब्लाक प्रमुख की याचिका खारिज

Hapur Updated Mon, 20 Jan 2014 05:50 AM IST
हापुड़ । सिंभावली की ब्लाक प्रमुख मीना सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर हुए मतदान की गिनती रोकने को लेकर हाईकोर्ट में ब्लाक प्रमुख द्वारा दायर याचिका को खारिज करते हुए हाईकोर्ट ने डीएम को निर्देशित किया है कि ब्लाक प्रमुख से दो सप्ताह के अंदर जवाब लें कि इस संबंध में उनके पास कोई आदेश है तो वह दाखिल करें अन्यथा इसके बाद मतों की गिनती करा दी जाए।
सपा के पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और जिला प्रवक्ता अनिल आजाद एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की प्रति डीएम को सौंप दी है। उन्होंने बताया कि बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की पत्नी मीना सिंह सिंभावली ब्लॉक प्रमुख हैं। उनके खिलाफ पंचायत सदस्यों ने 26 फरवरी को अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान किया था लेकिन ब्लॉक प्रमुख ने उच्च न्यायालय में रिट दायर कर वोटों की गिनती रुकवा दी। इस कारण आज तक गिनती नहीं हो पाई है। उन्होंने जिलाधिकारी के समक्ष तमाम कागजात प्रस्तुत करते हुए बताया कि 18 दिसंबर 2013 को उच्च न्यायालय द्वारा ब्लॉक प्रमुख द्वारा दायर तमाम याचिकाओं को खारिज कर दिया गया है। 20-12-13 को रिट संख्या 70410/13 में जिलाधिकारी को आदेशित किया गया कि आदेश की प्रमाणित प्रति उनके समक्ष प्रस्तुत किए जाने की तिथि से दो हफ्तों के अंदर ब्लॉक प्रमुख द्वारा कोई आदेश प्रस्तुत न किए जाने पर अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान की गिनती करा दी जाए। उन्होंने बताया कि 13-01-14 को डीएम हापुड़ को न्यायायल का आदेश प्राप्त करा दिया गया। सपा के जिलाध्यक्ष सुबोध नागर, जिला महासचिव कामिल खां, गढ़ नगर अध्यक्ष गफ्फार खां और इकबाल कुरैशी ने निर्णय का स्वागत किया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls