गंगा की धारा अविरल बनाने को सरकार सख्त

Hapur Updated Tue, 25 Dec 2012 05:30 AM IST
गढ़मुक्तेश्वर। कुंभ मेला14 जनवरी से प्रारंभ होगा। प्रदेश सरकार ने मेले के दौरान गंगा की पवित्रता और धारा को अविरल और निर्मल बनाने के लिए से कड़ा कदम उठाया है। गंगा में डाले जा रहे प्रदूषित पानी पर रोक लगाने के साथ ही फैक्ट्रियों से निकलने वाले पानी की निगरानी के लिए प्रशासनिक और प्रदूषण विभाग की टीम लगाने का आदेश दिया है।
मुख्य सचिव ने समस्त जनपदों के जिलाधिकारियों को आदेश दिया है कि कुंभ मेले के मद्देनजर गंगा में गिर रहे फैक्ट्रियों के प्रदूषित पानी पर तत्काल और प्रभावी ढंग में रोक लगाई जाए। जिन फैक्ट्रियों का पानी नालों से होकर गंगा में गिर रहा है, वहां पर प्रशासनिक और प्रदूषण विभाग टीम निगरानी रखेगी। एसडीएम केबी सिंह ने बताया कि तहसील प्रशासन और प्रदूषण विभाग के अधिकारी तीसरे दिन मौके पर पहुंचकर पानी के नमूने लेकर जांच कराएंगे। इसके बाद उसकी रिपोर्ट शासन को भेजेंगे। 25 दिसंबर से 26 जनवरी तक यह प्रक्रिया लगातार जारी रहेगी। तीसरे दिन पानी के सैंपल भरकर जांच करके शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

धौलाना और बुलंदशहर की फैक्ट्रियों के पानी की भी जांच
एसडीएम केबी सिंह ने बताया कि धौलाना स्थित दुग्ध प्लांट, स्याना स्थित दुग्ध प्लांट, बहादुरगढ़ स्थित चीज प्लांट और सिंभावली शराब फैक्ट्री का पानी अलग-अलग नालों में गिरने के बाद गंगा में पहुंच रहा है। धौलाना में एसडीएम धौलाना और गढ़ में वह स्वयं प्रदूषण विभाग के अधिकारी के साथ मिलकर पानी की जांच करा रहे हैं। पानी के नमूने जांच के लिए भी भेजे जा रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls