एसडीएम से उलझे व्यापारी, मिली मोहलत

Hapur Updated Wed, 05 Dec 2012 05:30 AM IST
हापुड़। पक्का बाग और गढ़ रोड चुंगी क्षेत्र के व्यापारी अतिक्रमण हटाओ अभियान फिलहाल उनके इलाके में न चलाने की मांग को लेकर मंगलवार सुबह नवीन मंडी पहुंच गए और एसडीएम निवास घेर लिया। इतना ही नहीं उनके बाहर निकलने तक व्यापारी वहीं जमे रहे। एसडीएम जयशंकर मिश्र जैसे ही बाहर निकले व्यापारियों ने उनसे कहा कि कुछ लोगों के पास बैनामे भी हैं, फिर भी उनका भवन तोड़ने के लिए पीडब्लूडी ने निशान लगा दिए हैं। फिलहाल उन्हें पांच दिन का समय दिलाया जाए ताकि कागजों की जांच पड़ताल करा लें और अगर फिर भी प्रशासन संतुष्ट न हो तो वह लोग स्वयं अपना सामान हटा सकें। एसडीएम ने कहा कि जिन लोगों के बैनामे हैं, वह दिखा दें उनकी जांच करा ली जाएगी और पांच दिन का समय स्वयं अतिक्रमण हटाने के लिए दिया जाता है। इस पर व्यापारियों ने उनको धन्यवाद दिया और लौट आए। इस अवसर पर योगेश, आशीष, राजीव, नीरज, सचिन, रमेश, पुष्पेन्द्र आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

एसडीएम से मिले आईएमए के सदस्य
हापुड़। फ्रीगंज रोड पर अतिक्रमण हटाने को लगाए गए निशान को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पदाधिकारी, सदस्य नागरिकों के साथ मंगलवार को एसडीएम से मिले और अनुरोध किया कि जिन लोगों के पास भवन के सही बैनामे और नक्शे पास हैं, उन्हें न हटाया जाए।
मंगलवार को तहसील दिवस में आईएमए के शाखा अध्यक्ष सुनील शर्मा, सचिव दुष्यंत बंसल समेत अनेक चिकित्सक फ्रीगंज रोड के निवासियों के साथ एसडीएम से तहसील दिवस में मिले। उन्होंने डा. दुष्यंत बंसल के फ्रीगंज रोड पर बने अस्पताल के भवन से संबंधित अभिलेख दिखाते हुए बताया कि वर्ष 1955 में तत्कालीन पालिकाध्यक्ष ने बोर्ड की आम बैठक में प्रस्ताव पारित कर तत्कालीन डीएम मेरठ से स्वीकृति प्राप्त करके 7 नवंबर 1955 को रामचंदर माथुर को 282 वर्ग मीटर की रजिस्ट्री की थी। सभी अभिलेख सरकारी रिकार्ड में दर्ज हैं। यह भवन अब डा. दुष्यंत बंसल के पास है और जितनी भूमि की रजिस्ट्री है उतनी ही भूमि का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसे न तोड़ा जाए। इसके अलावा सरदार अमर सिंह के भवन का मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन है और निचली अदालत से वह मुकदमा जीत चुके हैं। डा. दुष्यंत ने बताया कि इसी रोड पर डा. विनोद थरथानी के अस्पताल के भवन के संबंध में उच्च न्यायालय का आदेश पारित है कि भवन के स्वीकृत मानचित्र के साथ कोई छेड़छाड़ न की जाए। उनका कहना था कि वह लोग सरकारी भूमि का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं बल्कि अपनी भूमि का ही इस्तेमाल कर रहे हैं। एसडीएम ने आश्वासन दिया कि अभिलेखों की जांच कराई जा रही है और नियमानुसार ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उल्लेखनीय है कि इन लोगों के भवन पुुराने नाले के ऊपर आ रहे हैं, जिस कारण उक्त निशान लगे थे। मौके पर डा. नवीन मित्तल, डा. अजय गोयल, डा. गौरव मित्तल, डा. विक्रांत बंसल समेत फ्रीगंज रोड के अनेक लोग मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

National

2019 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगी CPM

महासचिव सीताराम येचुरी की ओर से पेश मसौदे में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस समेत तमाम धर्मनिरपेक्ष दलों को साथ लेकर एक वाम लोकतांत्रिक मोर्चा बनाने की बात कही गई थी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: इस बंदर और कुत्ते की दोस्ती एक मिसाल है

अक्सर हम सब ने बंदर और कुत्ते की दुश्मनी देखी है लेकिन हापुड़ में बंदर और कुत्ते के बच्चे का प्यार इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper