अब रजाई की गरमाहट भी हुई महंगी

Hapur Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
पिलखुवा। इस सर्दी में अगर आप रजाई बनवाने की सोच रहे हैं तो आपके लिए बुरी खबर है। क्योंकि इस बार रुई पर महंगाई की मार से आपकी ठंड थोड़ी और कष्टदायक हो जाएगी। बीते वर्ष की तुलना में इस साल रुई पर 30 फीसदी और लिहाफ की कीमत और रजाई की भराई पर 20 प्रतिशत की तेजी है।
सर्दी की दस्तक होते ही नगर में रुई बेचने वाले दुकानदारों ने रुई सजा दी और धुनाई का कम करने वालों ने धुनकी मशीनें चालू कर दी हैं। पुरानी रजाई भरवाने और नये लिहाफ व रजाई की खरीददारी भी चल रही है, लेकिन बाजार में रजाई खरीदने को पहुंच रहे लोगों को महंगाई का झटका लग रहा है, क्योंकि इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना में लिहाफ और रुई दोनों पर महंगाई है। ऐसे में गरीब आदमी के सामने सर्दी का संकट खड़ा हो गया है।
हैंडलूम नगरी में रजाई भरने का काम कर रहे अमरोहा निवासी अबुल हसन ने बताया कि पिछले वर्ष रुई 100 से 110 रुपये प्रति किलो थी, जिसके दाम अब 130-140 रुपये हो गए हैं। लिहाफ अलग-अलग क्वालिटी के हैं। सभी पर बीस फीसदी की महंगाई है। बीते वर्ष रुई की धुनाई 10 रुपये प्रति किलो थी, लेकिन डीजल महंगा होने के कारण इस बार 12 रुपये प्रति किलोग्राम ले रहे हैं। बीते वर्ष तैयार रजाई पांच सौ रुपये में उपलब्ध थी, जोकि अब छह सौ रुपये में बेची जा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls