मां और 3 मासूम बेटियों की ट्रेन से कटकर मौत

Hapur Updated Mon, 29 Oct 2012 12:00 PM IST
हापुड़ । देहात थाना क्षेत्र में गजालपुर गांव के पास काली नदी पर बने लोहे के रेल पुल को पार करते समय रविवार को अपराह्न करीब ढाई बजे एक महिला और उसकी तीन मासूम बेटियों की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। महिला का पति और उसके तीन मासूम बेटे बाल-बाल बच गए।
सिंभावली थाना क्षेत्र के गांव दरियापुर निवासी मनवीर दिल्ली में काम करता है। उसकी ससुराल हापुड़ देहात थाना क्षेत्र में गजालपुर गांव निवासी स्वर्गीय दुर्गा सिंह के परिवार में है। मनवीर की पत्नी सुनीता दशहरा पर बच्चों के साथ मायके आई थी। रविवार को करीब सवा दो बजे मनवीर पत्नी सुनीता, तीन बेटों और तीन बेटियों के साथ गजालपुर से दिल्ली जाने के लिए चला था। गांव के पास बना अस्थाई पुल जर्जर होने के कारण इस परिवार को काली नदी पर बने लोहे के रेलवे पुल को पार कर पटना मुरादपुर के रास्ते हापुड़ जाना था।
मनवीर के 12 वर्षीय पुत्र विष्णु के मुताबिक, वह पिता मनवीर, भाई 9 वर्षीय हर्ष और 6 वर्षीय प्रशांत एक साथ पुल पार रहे थे। उसक े पिता के कंधे पर सामान का थैला था, जबकि उसकी मां सुनीता की गोद में ढाई वर्ष की प्रिंसी उर्फ छोटी थी, साढे़ सात वर्ष की बहन प्रीति, 5 वर्षीय प्रियंका एक साथ पीछे -पीछे चल रही थीं। उसने बताया कि पापा के साथ तीनों भाइयों ने जब पुल पार कर पटरी से एक तरफ खड़े तो पीछे से आ रही ट्रेन को देखकर उसने शोर मचाया, मम्मी बचो-बचो ट्रेन आ रही है। इससे पहले कि वह भागकर पुल पार कर पातीं ट्रेन ने चारों के चिथड़े उड़ा दिए। हादसे में सुनीता और उसकी तीन बेटियों की मौके पर ही मौत हो गई। मनवीर और उसके मासूम बेटे बिलखते रह गए।
हादसे के बाद मनवीर ने ससुराल में घटना की सूचना दी। इससे वहां कोहराम मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे सुनीता के भाई राजीव, सुन्दर और सोनू आदि ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। एसडीएम, सीओ ने भई मौका मुआयना किया। टुकड़ों में बिखरे शवों को एकत्र कराकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

इंतजार कर लेते तो बच जाती चार जानें
हापुड़। पुल को पार करने के लिए अगर मनवीर का परिवार सिर्फ एक मिनट का इंतजार और कर लेता तो उसका घर उजड़ने से बच जाता। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। जल्‍दबाजी के कारण उसकी पत्नी सुनीता और तीन
बेटियां ट्रेन की चपेट में आ गईं। मनवीर के परिवार ने यह पुल लगभग पार कर लिया था। उसकी पत्नी सुनीता और उसकी बेटियों को पुल पार करने में बमुश्किल 15-16 कदम और चलना था। सुनीता की गोद में मासूम बेटी होने और साड़ी पहनने के कारण उसके कदम तेजी से नहीं पड़ सके। उधर, ट्रेन के नजदीक आने पर बेटियों के साथ ही आगे बढ़ने के चक्कर में चारों ट्रेन की चपेट में आकर मौत के मुंह में चले गए।

लोहे के पुल पर हो चुके हैं कई हादसे
गजालपुर गांव के पास काली नदी पर बने रेलवे के लोहे के पुल को पार करने के प्रयास में कई बार हादसे हो चुके हैं। गांव के बुजुर्ग जगदीश पाल और उदय सिंह की मानें तो कई लोग पुल को पार करते समय जान गंवा चुके हैं। करीब 6-7 साल पहले मजदूरी करने आए एक बंगाली परिवार की महिला और चार बच्चों की इसी तरह ट्रेन से कटकर मौत हुई थी। बिजली की लाइन पर काम करने आए तीन मजदूर भी हादसे में चल बसे थे। उनका कहना है कि हर साल एक दो लोग इस पुल को पार करने के चक्कर में ट्रेन से कट जाते हैं।

गजालपुर के पास पुल बन जाता तो न होते हादसे
हापुड़। जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की लापरवाही का परिणाम है कि गजालपुर और पटना मुरादपुर गांव के बीच काली नदी पर छोटा पुल बन जाता तो इस तरह के हादसे नहीं होते। ग्रामीणों का कहना है कि काली नदी पर पुल नहीं बनने की मजबूरी में आसपास के ग्रामीणों को लोहे के पुल से होकर गुजरना पड़ता है। इस पुल को पार करने के चक्कर में यह हादसे होते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि काली नदी पर पुल बनवाये जाने की मांग लगातार की जाती रही है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने लोहे के दो गाटर डालकर अस्थाई पुल चार पांच साल पहले बनवाया था, लेकिन उस की पत्तियां कमजोर होने तथा टूटने के कारण पुल को पार करना खतरनाक हो गया। इसी कारण अनेक लोग रेलवे का लोहे का पुल पार करते हैं जिससे हादसे होते हैं।

Spotlight

Most Read

Kanpur

एक्सप्रेस-वे का काम अधूरा, टोल टैक्स देना पड़ेगा पूरा 

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर 19 जनवरी की मध्य रात्रि से टोल टैक्स तो शुरू हो जाएगा लेकिन एक्सप्रेस-वे पर तैयारियां आधी-अधूरी हैं। एक्सप्रेस-वे के किनारे न रेस्टोरेंट बने और न होटल। कई जगह पर बैरीकेडिंग टूटने से जानवर भी सड़क  पर आ जाते हैं।

18 जनवरी 2018

Saharanpur

हज

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: इस बंदर और कुत्ते की दोस्ती एक मिसाल है

अक्सर हम सब ने बंदर और कुत्ते की दुश्मनी देखी है लेकिन हापुड़ में बंदर और कुत्ते के बच्चे का प्यार इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper