‘ बीडीओ! जूते मारकर अक्ल ठिकाने लगा दूंगा’

Hapur Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
सूबे के विधायक पर सिंभावली के बीडीओ को फोन पर धमकाने का आरोप
गढ़मुक्तेश्वर। सूबे के एक विधायक ने बीडीओ सिंभावली रघुवीर सिंह को फोन पर खूब बुरा-भला कहा। बीडीओ का आरोप है कि विधायक ने धमकाया और कहा कि जूते मारकर उनकी अक्ल ठिकाने लगा दी जाएगी। परेशान बीडीओ ने पंच शीलनगर के डीएम और एसपी को गोपनीय पत्र भेजकर पूरे मामले से अवगत कराया है। वहीं, विधायक का कहना है कि बीडीओ ने उनके साथ अभद्रता की।
बीडीओ रघुवीर सिंह अभी पंचशीलनगर जिले में गढ़ के साथ सिंभावली ब्लाक का भी प्रभार संभाल रहे हैं। डीएम-एसपी को भेजी चिट्ठी में उन्होंने कहा है कि 1 मई को वह गढ़ स्थित खंड विकास कार्यालय में बैठे शासकीय कार्य निपटा रहे थे। उस समय 11.12 बजे थे। तभी उनके मोबाइल 9719718081 पर एक मोबाइल नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि माननीय विधायक जी आपसे बात करेंगे। मैने बात शुरू की। खुद को विधायक विधायक बताने वाले उधर से कहा कि तुम मेरे कहने पर काम नहीं करते हो। पंचायत बक्सर की पुलिया टूटी थी, ठीक क्यों नहीं कराया। बीडीओ का आरोप है कि कथित विधायक ने उनसे कहा कि आकर तेरे इतने जूते मारूंगा कि अक्ल ठिकाने आ जाएगी। और तू मैरी एफआईआर कराना, मैं देखूंगा। 50 आदमी लेकर तेरे पास आता हूं। बीडीओ ने पत्र में आगे लिखा है कि जनता के सामने राजपत्रित अधिकारी को ऐसी बातें कहकर अपमानित किया जाता है। पहले भी इस तरह की घटना हो चुकी है। हालांकि, पूरी चिट्ठी में बीडीओ ने बीडीओ ने कहीं भी विधायक का नाम नहीं लिखा है।
विधायक की धमकी से डरूंगा नहीं : बीडीओ
फोन पर मिली धमकी के बारे में अमर उजाला ने सिंभावली और गढ़ के बीडीओ रघुवीर सिंह से फोन पर जानकारी की तो उन्होंने मामले की पुष्टि की। बीडीओ बोले, ऐसे विधायक की धमकियों से वह डरने वाले नहीं है।
डीएम बोलीं, अभी चिट्ठी नहीं मिली
बीडीओ को धमकाने के मामले में पंचशीलनगर की डीएम चैत्रा वी का कहना है कि अभी पत्रावली उनके सामने नहीं आई है। पत्रावली देखने के बाद ही इस मामले में कोई कमेंट किया जाएगा।
‘बीडीओ के आरोप मनगढ़ंत’
बीडीओ के आरोप बेबुनियाद हैं। वे शुरू से ही हमारी पार्टी के विरोध में काम करते आ रहे हैं। कई घोटालों में उनका नाम आ चुका है। आला अफसरों से मिलकर वह पहले ही बीडीओ को हटाने की बात कह चुके हैं। बीडीओ से दोपहर बात हुई थी। हमने उनसे कहा कि आप जन अधिकारी हैं। जनता की शिकायतों को हल क्यों नहीं करते। टूटी पुलिया के बारे जब पूछा तो गया तो उन्होंने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। बोले, विधायकों के फोन तो आते रहते हैं, किस-किस की सुनूं। मैंने उनसे सिर्फ इतना कहा कि हम जनप्रतिनिधि हैं और आपको इस तरीके से बात नहीं करनी चाहिए। डीएम से मिल बीडीओ को हटाने की सिफारिश करूंगा। - विधायक

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018