1250 करोड़ से होगा रेल लाइन का दोहरीकरण

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Sat, 13 Mar 2021 10:22 PM IST
पत्योरा गांव में ड्रोन कैमरे से सर्वे करता सर्वेयर शैलेंद्र सिंह। संवाद
पत्योरा गांव में ड्रोन कैमरे से सर्वे करता सर्वेयर शैलेंद्र सिंह। संवाद - फोटो : HAMIRPUR
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हमीरपुर। रेलवे बोर्ड ने कानपुर-बांदा रेल लाइन पर भीमसेन से खैरार स्टेशन तक दोहरीकरण के लिए सर्वे कार्य शुरू करा दिया है। 118 किमी लंबी रेलवे लाइन पर 1250 करोड़ की लागत आएगी। यह काम वर्ष 2024 तक तैयार होना है। इसके तहत यमुना नदी पर 220 करोड़ की लागत से रेलवे पुल का भी निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। इस ट्रैक पर कई ओवरब्रिज व पुलियों का भी निर्माण होना है। कार्यदायी संस्था हिंदुस्तान एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड ने शनिवार को ड्रोन कैमरे से सर्वे कराना शुरू किया है।
विज्ञापन

वर्ष 1908 में यमुना रेलवे पुल की नींव रखी गई थी। 112 वर्ष पुराना पुल आज भी उतना ही मजबूत है। जितना पहले था। पुल की कोई समय सीमा निर्धारित नहीं है, लेकिन रेलवे बोर्ड ने डबल लाइन में रेलवे पुल बनाने की स्वीकृति दे दी है। जिसके चलते कार्यदायी संस्था ने पुल बनाने की प्रक्रिया शुरू करा दी है। जिसे 2023 तक पूर्ण करना है। भीमसेन रेलवे स्टेशन से खैरार जंक्शन तक 118 किमी लंबे इस रेलवे लाइन पर 1250 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। जिसमें यमुना रेलवे पुल, सीढ़ी इटारा स्टेशन के पास ओवरब्रिज, यमुना साउथ बैंक में ओवरब्रिज, भरुआसुमेरपुर में ओवरब्रिज, अकौना ओवरब्रिज आदि शामिल हैं।

इस कार्य को वर्ष 2024 तक पूरा किया जाना है। सर्वेयर शैलेंद्र सिंह ने बताया यमुना साउथ बैंक रेलवे स्टेशन से लेकर खैरार स्टेशन तक करीब 57 किमी का सर्वे कार्य कर रहे हैं। जिसमें रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ से करीब 100 मीटर के दायरे से निगरानी की जा रही है। कई बिंदुओं पर सर्वे होना है। पूरा सर्वे ड्रोन कैमरे की निगरानी में किया जा रहा है।
दोहरीकरण से बढ़ेगी ट्रेनों की रफ्तार
पत्योरा गांव निवासी नरेश निषाद ने बताया दोहरीकरण से ट्रेनों की संख्या में इजाफा होगा। वहीं ट्रेने भी फर्राटा भरती नजर आएंगी। बताया रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। वहीं व्यापारिक आयात व निर्यात में भी बढ़ोत्तरी होना तय है।
भीमसेन रेलवे स्टेशन से खैरार तक 118 किमी लंबी लाइन का दोहरीकरण कार्य होना है। जिसका सर्वे कार्य शुरू हो चुका है। पूरे प्रोजेक्ट में करीब 1250 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। वर्ष 2024 तक रेल लाइन का दोहरीकरण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। अभी टेंडरिंग प्रक्रिया शेष है। -जावेद अख्तर, रेलवे अधिकारी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00