बिजली संकट बेकाबू, सिंचाई सिर पर

Hamirpur Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। बिजली की अघोषित कटौती से शहर, नगर और कस्बाई क्षेत्रों में बामुश्किल पांच घंटे ही बिजली मिल रही है। बिजली उत्पादन के हालात को देखते हुए लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ेगा। बिजली को लेकर नगर और मुख्यालय समेत कई स्थानों पर धरना-प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। वहीं दूसरी तरफ डिप्रेशन के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। विभाग के आला अधिकारियों का कहना है कि बिजली समस्या शीघ्र हल हो जाएगी।
रवी फसल की तैयारी लगभग शुरू हो गई है लेकिन बिजली संकट के चलते सिंचाई की दिक्कत हो रही है। लघु उद्योगों में उत्पादन बंद होने की नौबत है। सरकारी व प्राइवेट अस्पताल मरीजों से पटे पड़े है। बिजली न होने से रोगियों की हालत और खराब हो रही है। अस्पतालों में जनरेटर नहीं चलाए जा रहे हैं। दूसरी ओर मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है कि लोगों का जीना हराम है। बिजली विभाग के चीफ इंजीनियर बीके मित्तल का कहना है कि हरिद्वार रेन्ज, पनकी, पारीक्षा, आनपारा में बिजली उत्पादन की मशीनें बंद हो गई है। शहर व कस्बाई क्षेत्रों में बमुश्किल दस घंटे भी बिजली नहीं मिल रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में पांच घंटे की ही आपूर्ति हो रही है। उपभोक्ताओं का कहना है कि यदि बिजली की समस्या शीघ्र हल नहीं की गई तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
शिकायत के बाद भी फुंका ट्रांसफारमर नहीं बदला
सरीला (हमीरपुर)। अघोषित बिजली कटौती के साथ ट्रांसफारमरों के फुंकने से बिजली संकट बेकाबू हो गया है। गुरुदेव मोहाल में 100 केवीए का ट्रांसफार्मर फुंक गया लेकिन एक हफ्ता बीत गया पर उसे बदला नहीं गया है। फिलहाल बिजली को लकर लोगों में नाराजगी है।
पिछले कुछ दिनों से बिजली व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। बमुश्किल 8 घंटे ही बिजली मिल रही है। रात 12 से 4 बजे तक हो रही कटौती से लोग दहशत में है। लोगों का कहना है कि अभी खेतीबाडी का काम नहीं हो रहा है। नलकूप बंद है तब यह हालत है। हालात यही रहे तो लघु उद्योग बंद हो जाएंगे। बरहरा मार्ग पर रखे इस ट्रांसफार्मर के न बदलने से पूरा मोहाल अंधेरे में है। मोहल्ले के लोगों ने कहा कि कई बार शिकायत की है। लेकिन कारपोरेशन इस मसले पर सुधि नहीं ले रहा है। लोगों का आरोप है कि जानबूझकर लापरवाही बरती जा रही है। अवर अभियंता पुनीत शर्मा का कहना है कि एक दो दिन में ट्रांसफार्मर बदल दिया जाएगा।
बल्ब, ट्यूब लाइटें खराब होने से नगर में अंधेरा
गोहांड (हमीरपुर)। नगर के लगभग हर मोहल्ले कीमार्ग प्रकाश व्यवस्था ध्वस्त है। पोलो में बल्ब व ट्यूब लाइटों के खराब होने से रात में अंधेरा रहता है। नगर में करीब 200 सैकड़ा विद्युत पोल है। जिनमें 60 सीएफएल, 58 सोडियम लैंप तथा 83 बल्ब लगाए गए थे। मौजूदा समय में आधे से अधिक खराब हो गए है। इनमें 29 सीएफएल, 25 सोडियम लैंप व सभी बल्ब खराब है। डा.हरदयाल अनुरागी, भानसिंह, ओमप्रकाश वर्मा ने बताया कि नगर की मार्ग प्रकाश व्यवस्था दुरुस्त न होने से चोर -उचक्के अंधेरे का फायदा उठाते हैं। इस संबंध में चेयरमैन जागेश्वर प्रसाद वर्मा ने बताया कि नगर की विद्युत लाइन अलग न होने से बल्ब जलते रहते है, जिसकी वजह से जल्दी खराब हो जाते हैं। नवदुर्गा महोत्सव शुरू होने से पूर्व प्रकाश व्यवस्था सही कर दी जाएगी।
लीड के साथ लगा लें
चोर खेत में रखे ट्रांसफार्मर को ले गए
राठ(हमीरपुर)। रविवार की रात कसबे से पांच किमी दूर संकट मोचन मंदिर के पास कुसमा मौजा में धमना गांव के ह्रदेश पुत्र जंगबहादुर का खेत है। खेत की सिंचाई के लिए ट्यूबवेल लगाए है। रात में चोर खेत से ट्रांसफार्मर उठा ले गए। पीड़ित ने कोतवाली में तहरीर दी है।
बल्ब, सीएफएल खराब, आधा दर्जन मोहल्लों में अंधेरा
राठ। नगर पालिका चुनाव होने के तीन माह बाद नए प्रतिनिधि चुनकर जा चुके हैं लेकिन नगर की दशा पहले जैसी ही है। मुख्य मार्ग और गलियां अंधेरे में हैं। पोल में मरकरी और बल्ब लगे हैं लेकिन बंद हैं। ये दशा देखकर लोगों में पालिका के खिलाफ गुस्सा है।
नगर पालिका के खंभों में सीएफएल, बल्ब और हेलोजन नहीं बदलने से नवनिर्वाचित सदस्य नाराज है लेकिन वह इसे सुधारने के लिए कोई प्रयास भी नहीं कर रहे हैं। ऐतिहासिक चौपरा रोड में अंधेरा है। प्रशांत बुधौलिया ने बताया कि मंदिर में सैकड़ों लोगों का आना जाना रहता है। मंदिर के पास स्थित पार्क में शाम को लोग टहलने जाते हैं लेकिन पार्क में लगी लाइटें खराब हैं। शाम को मंदिर के रास्ते में श्रद्धालुओं से अभद्रता होती है। खुशीपुरा, सिकन्दरपुरा, बाराखंबा, चौबटटा, मुगलपुरा सहित दर्जनों मोहल्लों में अंधेरा है। लोगों ने फ्यूज बल्ब और सीएफएल बदलने की मांग की है। अधिशासी अधिकारी एवं एसडीएम रामयश गौतम ने बताया कि उपकरणों की खरीद की जा रही है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हमीरपुर में इस वजह से एक साथ 30 से ज्यादा बच्चे बीमार

हमीरपुर के थाना कुरारी में एक सरकारी स्कूल के तीस से ज्यादा बच्चों की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper